Karanataka crisis : कुमार स्वामी सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 6 बजे तक का समय

मंगलवार, 23 जुलाई 2019 (14:00 IST)
बेंगलुरू। कर्नाटक में जेडीए-कांग्रेस गठबंधन सरकार की आज फ्लोर टेस्ट देगी। विधानसभा स्पीकर केआर रमेश कुमार ने गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए शाम 6 बजे तक समय दिया था। विधानसभा स्पीकर ने यह भी कहा है कि 16 बागी विधायक अगर सदन नहीं पहुंचते हैं, तो उन्हें गैरहाजिर माना जाएगा। हालांकि काफी उठापटक के बाद भी अभी तक कोई फैसला नहीं हो सका है। विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार का कहना है कि फ्लोर टेस्ट पूरा होने के बाद ही सदन की कार्यवाही भंग की पेश है।

कर्नाटक संकट से जुड़े Live Updates -

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई स्थगित : सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार के कथन का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव पर तत्काल मतदान के लिए 2 निर्दलीय विधायकों की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई स्थगित कर दी। अध्यक्ष की ओर से न्यायालय को सूचित किया गया कि सदन मे आज शाम तक मतदान होने की उम्मीद है।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति अनिरूद्ध बोस की पीठ ने विधान सभा अध्यक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी के इस कथन का संज्ञान लिया कि आज शाम तक मतदान होने की संभावना है। पीठ ने निर्दलीय विधायकों की याचिका बुधवार के लिए स्थगित कर दी। ये विधायक चाहते हैं कि अध्यक्ष को सदन में तत्काल विश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराने का निर्देश दिया जाए।

- कर्नाटक में 13 बागी विधायकों ने विधानसभा स्पीकर केआर रमेश कुमार को खत लिखकर विधानसभा में उनके समक्ष उपस्थित होने के लिए समय देने का आग्रह किया है। बागी विधायकों ने चार सप्ताह का समय दिए जाने का अनुरोध किया है।
 - कर्नाटक विधानसभा को मंगलवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।
- सोमवार देर रात तक विधानसभा में कार्यवाही चली। भूखे विधायकों ने खाने की मांग की है। येदियुरप्पा ने मधुमेह के रोगियों को खाने के लिए चॉकलेट दी है। विधायकों के लिए सदन में खाना आया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख क्रिस्टियानो रोनाल्डो को राहत, नहीं करेंगे दुष्‍कर्म के आरोपों का सामना