मछली बेचने वाली लड़की को मिला मलयालम फिल्म का ऑफर, सोशल मीडिया पर मचा बवाल

एक मछली बेचने वाली लड़की को जब से मलयालम फिल्मों के एक निर्माता ने अपनी फिल्म का हिस्सा बनने का न्योता दिया है तब से सोशल मीडिया पर इस लड़की को जबरदस्‍त ट्रोल किया जा रहा है। वैसे तो यह बात सुनकर ही आश्चर्य होता है कि एक मछली बेचने वाली लड़की, जो कि अभी एक छात्रा भी है, उसे एक बड़े निर्माता से फिल्म का ऑफर कैसे आ गया!
 
सुनने में यह किसी फिल्म की कहानी जैसी लगती है, लेकिन यह कहानी नहीं है, बल्कि यह एक गरीब लड़की की असल जिंदगी में हुआ है।
 
केरल में रहने वाली इस 21 साल की लड़की का नाम 'हनान हामिद' है। कुछ दिनों पहले ही इस लड़की के संघर्ष की कहानी वहां के एक स्थानीय अखबार में प्रकाशित हुई थी, जिसमें बताया गया कि कैसे यह लड़की अपने परिवार की आर्थिक रूप से मदद करने और अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए अपने कॉलेज के बाद मछली बेचने जाती है। हामिद के संघर्ष की कहानी सोशल मीडिया पर बहुत बार शेयर होने से वायरल हो गई।
 
हामिद के संघर्ष की कहानी जानकर कई लोग उनके फैन हो गए हैं। यहां तक कि फिल्म स्टार्स और राजनेता भी हामिद के संघर्ष से प्रभावित दिखे और उन्होंने भी हामिद की कहानी को शेयर किया। जैसे ही हामिद की लोकप्रियता बढ़ने लगी तो कुछ लोगों ने हामिद की कहानी को फर्जी बताते हुए सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोल किया और उनकी निंदा करने लगे।
 
हालांकि हामिद के कॉलेज प्रशासन और पड़ोसियों ने सोशल मीडिया पर खुद हामिद का समर्थन किया है और बताया कि यह उसकी असल जिंदगी की कहानी है। यह पढ़कर भी ट्रोलर्स पर इसका कोई असर नहीं पड़ा।
 
उधर हामिद अपने बारे में इस तरह की आलोचना सुनकर दुखी है। वहीं अब केंद्रीय मंत्री अल्फोंस कन्नाथनम भी हामिद के समर्थन में उतर आए हैं और ट्रोलर्स से ऐसी हरकत न करने की अपील की है। साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि आप लोगों को हामिद से प्रेरणा लेने की जरूरत है, न कि निंदा करने की।
 
वहीं केरल महिला आयोग अध्यक्ष एमसी जोसेफिन भी हामिद के समर्थन में हैं और उन्होंने भी ट्रोलर्स की आलोचना की निंदा की है। उधर मलयालम फिल्म निर्माता ने कहा है कि उन्हें ट्रोलर्स से कोई फर्क नहीं पड़ता। वे तो हामिद को अपनी फिल्म का हिस्सा जरूर बनाएंगे।

प्रस्तुति : नम्रता जायसवाल

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख दलित सेना ने आंदोलन की दी धमकी