Weather Updates : मुंबई में भारी बारिश से रेल, विमान सेवाएं व जनजीवन बुरी तरह प्रभावित

रविवार, 4 अगस्त 2019 (16:56 IST)
मुंबई। मुंबई और निकटवर्ती जिलों में रातभर भारी बारिश से रविवार सुबह रेल और विमान सेवाएं प्रभावित होने के साथ ही जनजीवन प्रभावित हुआ। अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण पालघर जिले में 16 वर्षीय एक बच्चा बह गया।
 
मुंबई में रविवार लगातार दूसरे दिन भी भारी बारिश जारी रही और मौसम विज्ञान विभाग ने दिन में भी लोगों को बारिश से कोई राहत न मिलने का पूर्वानुमान लगाया है।
 
नागरिक निकाय के अनुसार मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शहर और उपनगरों में भारी से मूसलधार बारिश के साथ रुक-रुककर बारिश होने की संभावना जताई है, वहीं अगले 24 घंटों में दूरदराज स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। अधिकारी ने बताया कि पड़ोसी जिलों ठाणे और पालघर और नवी मुंबई शहर में पिछले 2 दिनों से रुक-रुककर बारिश हो रही है और पेड़ गिरने की भी कई घटनाएं वहां हुई हैं।
 
आईएमडी के उपनिदेशक केएस होसलीकर ने कहा कि पिछले 24 घंटों में शहर में 100 मिमी बारिश दर्ज की गई है। उपनगर ठाणे और नवी मुंबई में 250 मिमी बारिश हुई। रविवार होने के कारण कार्यालय जाने वालों को लोकल ट्रेन सेवाओं के बाधित होने के कारण परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।
 
मध्य रेलवे सेवा के प्रमुख प्रवक्ता सुनील उदासी ने बताया कि लगातार बारिश के कारण पटरियों पर कई जगह पानी भर जाने के कारण छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (मुंबई में) और कर्जत, कसारा और खोपोली के बीच मेन लाइन और हर्बर लाइन पर सुबह 8 बजे से सेवाएं निलंबित हैं।
 
उन्होंने कहा कि यात्रियों को परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए एहतियाती तौर पर सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। प्रत्येक घंटे स्थिति का आकलन किया जा रहा है, वहीं मुंबई हवाई अड्डे के प्रवक्ता ने बताया कि शहर आने वाली 2 उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है और 6 उड़ानों को इंतजार करने को कहा गया।
 
इस बीच मूसलधार बारिश और गंगापुर बांध के पानी को गोदावरी नदी में छोड़ने के कारण नासिक के कुछ इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। गंगापुर बांध से रविवार सुबह 20,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था जिससे गोदावरी नदी में पानी खतरे के निशान से ऊपर आ गया।
 
जिला कलेक्टोरेट के एक अधिकारी ने बताया कि इससे नदी के तट पर स्थित कुछ मंदिरों में पानी भर गया। शहर और आदिवासी बहुल इगतपुरी, त्र्यंबकेश्वर, पेठ, सुरगना, नासिक और डिंडोरी तहसील में रविवार को भी भारी बारिश जारी रही। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि साईंखेड़ा गांव से करीब 60 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है।
 
सरकार ने एनडीआरएफ की और टीमें मांगीं : महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई और पास के जिलों में भारी बारिश के कारण बने हालात से निपटने के लिए रविवार को राष्ट्रीय आपदामोचन बल (एनडीआरएफ) के 6 और दलों की मांग की।
 
मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में बताया कि बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) और उसका आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ पूरी तरह तैयार है और शहर तथा मुंबई महानगर क्षेत्र में हालात की निगरानी कर रहा है। सीएमओ ने कहा कि राज्य सरकार एनडीआरएफ, थलसेना, नौसेना और अन्य एजेंसियों के संपर्क में है।
 
'महा जनादेश यात्रा' के तहत फिलहाल गोंदिया में रुके मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने लोक निर्माण विभाग मंत्री एकनाथ शिंदे से बातचीत की और मुख्य सचिव अजय महतो को राहत उपायों पर नजर रखने को कहा।
 
बयान में कहा गया कि सरकार ने भारी बारिश के मद्देनजर मुंबई, ठाणे और पालघर के वास्ते एनडीआरएफ के 6 और दलों के लिए अनुरोध किया है। वायुसेना से ठाणे में जूनंदखूरी गांव में फंसे करीब 35 ग्रामीणों को एयरलिफ्ट करने के लिए कहा है।
 
बहरहाल, गोंदिया में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान फडणवीस ने मुंबई में बारिश के बारे में कहा कि सभी आठों वॉटर पंपिंग स्टेशन चालू हो जाने के बाद महानगर में जलजमाव की समस्या से निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि 5 (पंपिंग स्टेशन) काम कर रहे हैं तथा 3 और पर काम चल रहा है। राज्य सरकार बीएमसी को सभी सहायता मुहैया कराएगी। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट के बीच 2 लाख लोगों की छंटनी