सुरक्षा के लिहाज से चुनौती बन गया है मोदी का जम्मू-कश्मीर का दौरा

सुरेश डुग्गर

गुरुवार, 31 जनवरी 2019 (16:46 IST)
जम्मू। सुरक्षा के लिहाज से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जम्मू-कश्मीर का दौरा सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण बन गया है। सांबा जिले के विजयपुर में एम्स मैदान में मोदी की 3 फरवरी को रैली है। वे एम्स का नींव पत्थर भी रखेंगे। सांबा जिला बॉर्डर का इलाका है। यहां के कई नाले पाकिस्तान से जुड़े हैं। बीते कुछ सालों में आतंकियों की घुसपैठ सांबा बॉर्डर के इन नालों से सबसे अधिक हुई है। ऐसे में इन सभी नालों के प्रवेश द्वार पर सुरक्षाकर्मियों को तैनात कर दिया गया है।
 
 
अधिकारियों ने माना है कि सांबा के नालों और बसंतर नदी के चप्पे-चप्पे को खंगाला जा रहा है। गुरुवार को भी नालों के आसपास के जंगल को खंगाला गया। मंगलवार को विजयपुर रैली स्थल के पास खून के निशान मिले थे। कुछ संदिग्धों को भी देखा गया। इसके बाद बड़े स्तर पर सर्च ऑपरेशन किया गया था।
 
पुलिस के आला अधिकारी बॉर्डर का लगातार दौरा कर रहे हैं। बुधवार को जम्मू-सांबा कठुआ रेंज के डीआईजी विवेक गुप्ता बॉर्डर पर पहुंचे थे। बीएसएफ से पुलिस लगातार संपर्क में हैं। दोनों के बीच बैठकों का दौर चल रहा है। बैठकों में तय किया गया है कि बॉर्डर पर किसी भी तरह की हलचल को तत्काल साझा किया जाएगा। बॉर्डर से शहर को जोड़ने वाले सभी लिंक रोड पर पुलिस को तैनात किया गया है। वाहनों की गहन जांच की जा रही है।
 
विजयपुर में रैली स्थल से लगभग 15 किलोमीटर दूरी ही इंटरनेशनल बॉर्डर है। ऐसे में पाकिस्तान द्वारा गोलाबारी किए जाने की आशंका है। इसे लेकर बीएसएफ को अलर्ट किया गया है। जवानों को कड़ी चौकसी रखने के लिए कहा गया है। सीमांत ग्रामीणों को भी पुलिस और प्रशासन ने अलर्ट किया है। कहा है कि वे रात के समय घर से बाहर न निकलें। प्रशासन ने राहत केंद्र एक्टिव किए हैं ताकि अगर पाकिस्तान गोलाबारी कर भी दे तो लोगों को सुरक्षित इन केंद्रों तक पहुंचाया जा सके।
 
जिला स्तर पर किए जा रहे सुरक्षा के पुख्ता प्रबंधों को लेकर एसएसपी सांबा डॉ. कौशल कुमार शर्मा से की गई बात में उन्होंने प्रधानमंत्री के विजयपुर दौरे को ऐतिहासिक दौरा करार दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के विजयपुर दौरे की सुरक्षा के प्रबंधों को मजबूत बनाया जा रहा है। एम्स क्षेत्र के अलावा नेशनल हाईवे तथा संपर्क सड़कों पर भी पुलिस की सुरक्षा का पहरा मजबूत रहेगा। एम्स क्षेत्र के अलावा आस-पास के दायरे की सुरक्षा का घेरा मजबूत बनाकर हर आने-जाने वाले वाहन व व्यक्ति विशेष की जांच की जा रही है। उन्होंने आम जनता से प्रधानमंत्री के विजयपुर दौरे की सुरक्षा प्रबंधों को मजबूत बनाने में योगदान देने की अपील की है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बजट में राजकोषीय लक्ष्यों से चूक सकती है सरकार, फिच ने किया आगाह