Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Video : पिथौरागढ़ में बादल फटने से मची तबाही 7 लापता, 2 शव बरामद

webdunia

निष्ठा पांडे

सोमवार, 30 अगस्त 2021 (13:20 IST)
धारचूला। उत्तराखंड के सीमान्त जिले पिथौरागढ़ के नेपाल और चीन सीमा में स्थित धारचुला क्षेत्र के जुम्मा गांव में रविवार देर रात बादल फटने से तबाही मच गई। तबाही की सूचना पर मौके पर प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम भेजी गई। देर रात लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।
webdunia

धारचुला स्थित एनएचपीसी कॉलोनी में भी इससे पानी घुस गया। खबर यह भी है कि एनएचपीसी गेस्ट हाउस के पास झील बनने से क्षेत्र को भारी खतरा महसूस किया जा रहा है।
दूसरी तरफ जुम्मा में भारी वर्षा से लगभग 3 आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं तथा कुछ मकान खतरे की जद में आ गए हैं। प्रारंभिक सूचना अनुसार एक महिला घायल तथा 7 लोग लापता बताए जा रहे हैं। घटना के संबंध में जिलाधिकारी ने जिला आपदा परिचालन केन्द्र में आईआरएस के अधिकारियों के साथ बैठक भी की है।
webdunia
जुम्मा गांव में जामुनी तोक में लगभग पांच और सिरौउड़यार तोक में दो आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हो गए। करीब 7 लोग लापता बताए जा रहे हैं। अब तक 2 लोगों के शव बरामद किए गए हैं।
webdunia

पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि देर रात जुम्मा गांव में अतिवृष्टि के कारण सात लोगों के मलबे में दबे होने की सूचना मिली थी। सूचना के तत्काल बाद घटना क्षेत्र में राजस्व, एसएसबी, पुलिस, एसडीआरएफ और रेस्क्यू टीम रवाना हो गई है। एनडीआरएफ भी क्षेत्र में भेजी गई है। उन्होंने गांव से 2 शव बरामद होने की पुष्टि की है।
webdunia

मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश : CM उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार देर रात पिथौरागढ़ जिले के धारचुला में मची तबाही पर जिलाधिकारी पिथौरागढ़ डॉ आशीष चौहान से फोन पर बात कर ग्राम जुम्मा में भारी वर्षा से हुए नुकसान की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि प्रभावितों को तत्काल हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराई जाए। सर्च व रेस्क्यू ऑपरेशन पूरी क्षमता के साथ चलाए जाएं। घायलों का समुचित उपचार सुनिश्चित किया जाए।
 
 
उक्त घटना के संबंध में जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान द्वारा जिला आपदा परिचालन केन्द्र में आईआरएस के अधिकारियों के साथ बैठक कर तत्काल मौके पर राहत एवं बचाव कार्य कराने के साथ ही क्षेत्र में राहत सामग्री भेजने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए।
 
जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक घटनास्थल को रवाना हो रहे हैं। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि क्षेत्र में सड़क मार्ग अवरुद्ध होने के कारण रेस्क्यू कार्य हैलीकॉप्टर से कराए जाने हेतु क्षेत्र में हैलीपैड तैयार किया जा रहा है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

1 सितंबर से खुलेंगे स्कूल, कॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यूट, DDMA ने जारी की गाइडलाइन