Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

7 साल के छात्र की हत्या कर शव पानी में फेंका, ग्रामीणों ने हाइवे पर लगाया जाम, 1 पुलिसकर्मी घायल

हमें फॉलो करें webdunia

हिमा अग्रवाल

रविवार, 10 जुलाई 2022 (20:52 IST)
बुलंदशहर के शेखपुरा इलाके का रहने वाला 7 वर्षीय छात्र शनिवार को स्कूल से वापस घर नहीं लौटा तो हड़कंप मच गया। परिवार ने छात्र हर्ष की तलाश करने के बाद थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। रविवार की सुबह हर्ष का शव अलीगढ़ में मिलने की सूचना पर पुलिस दौड़ पड़ी। छात्र की मौत की सूचना मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई। आनन-फानन में ग्रामीण इकट्ठा हो गए और उन्होंने हाईवे पर घंटों जाम लगाकर हंगामा किया। जाम को खुलवाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत भी करनी पड़ी, ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। इसमें एक पुलिसकर्मी चोटिल भी हुआ है।
 
बुलंदशहर के लापता छात्र हर्ष का रविवार दोपहर अलीगढ़ के थाना हरदुआ गंज के पास मिला था। हर्ष की हत्या करके शव को गंग नहर में फेंका गया था और उसके शरीर पर चोट के निशान भी मिले हैं। जैसे ही आज पानी उतरने लगा तो स्थानीय लोगों ने शव को देखा और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को पानी निकालकर पड़ताल शुरू की तो छात्र की बेल्ट पर एसआर इंटरनेशनल स्कूल छतारी बुलंदशहर लिखा हुआ था। इसके आधार पर अलीगढ़ पुलिस ने बुलंदशहर छतारी थाने में सूचना दी। सूचना पर डिप्टी एसपी छतारी रमेशचंद्र त्रिपाठी व क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर सुधीर कुमार त्यागी ने जलाली में घटनास्थल पर पहुंचे। 
 
छात्र के गायब होने के बाद रिश्तेदारों ने इस अपहरण बताया था। हालांकि हर्ष के परिवार पर फिरौती के लिए कीई फोन भी नहीं आया था। मृतक छात्र के पिता चंद्रप्रकाश गांव में इनवर्टर रिपेयरिंग का काम करते हैं और उनके परिवार में उनकी मां रूमाली देवी, पत्नी पूनम और दो बेटियां भावना, विधि और एक बेटा हर्ष है। शनिवार की सुबह 8 बजे UKG में पढ़ने वाला हर्ष स्कूल वैन में सवार होकर स्कूल के लिए निकला था, लेकिन घर वापस नहीं आया। छात्र जब घर वापस नहीं लौटा तो परिजन स्कूल पहुंचे। स्कूल के रजिस्टर में उसकी उपस्थिति दर्ज थी, जिसके बाद परिवार की चिंता और बढ़ गई, छतरी थाने में हर्ष की गुमशुदगी दर्ज कराई गई। 
बुलंदशहर पुलिस छात्र के शव को अपने साथ ले आई। इसके बाद ग्रामीणों और परिवार ने पंद्रावल पुलिस चौकी के सामने हंगामा कर दिया। मृतक के परिजनों का कहना है कि यदि पुलिस पहले ही सक्रिय हो गई होती तो उनके बच्चे की जान बच सकती थी। परिवार की मांग की जिन लोगों ने यह कृत्य किया है उन्हें फांसी दी जाएं। छात्र की मौत के विरोध में ग्रामीणों ने लगभग 6 घंटे स्टेट हाईवे पर जाम लगाकर हंगामा किया। पुलिस के आलाधिकारियों ने हंगामा कर रहे लोगों को समझाते हुए जाम खोलने की बात कही, लेकिन ग्रामीणों ने सड़क पर कब्जा जमाए रखा, पुलिस ने जाम खुलवाने के लिए हल्का बल प्रयोग किया तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए और उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। इसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया है।
 
पूरे मामले पर पुलिस ने जांच टीम बैठा दी है, स्कूल के कुछ लोगों को पूछताछ के लिए थाने में लाया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्दी ही घटना का अनावरण किया जाएगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Indigo Technicians : हैदराबाद और दिल्ली में छुट्टी पर इंडिगो के टेक्नीशियन, कम सैलेरी के विरोध में उठाया कदम