कश्मीर में एक दिन की बारिश से तबाही, 3 की मौत

सुरेश डुग्गर

बुधवार, 12 जून 2019 (20:27 IST)
जम्मू। कश्मीर में मात्र एक दिन की बारिश ने कहर बरपाया है। तीन लोगों की मौत हो गई है। नदी-नाले उफान पर हैं। कई इलाकों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। बांदीपोरा में जहां मकान पर पेड़ गिरने से 2 महिलाओं की मौत हो गई वहीं गांदरबल में पेड़ गिरने से गुज्जर समुदाय के 1 व्यक्ति की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए।
 
यही नहीं बारिश के बाद नदी-नालों में आए उफान के कारण कई पुल बह गए और तटबंध बह जाने के कारण बाढ़ का पानी रिहायशी इलाकों में घुस आया। प्रशासन अपने तौर पर लोगों का मदद पहुंचा रही है, जबकि स्थानीय लोग भी राहत कार्य में जुटे हुए हैं।
 
उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा जिले के चंदाजी गांव में तेज हवा की चपेट में आकर एक पेड़ मकान पर आ गिरा और उसमें दबकर दो महिलाओं की मौत हो गई। मृतक की पहचान शरीफा बेगम और मुबेना बानो के रूप में हुई है। यह घटना मंगलवार रात की है।
 
बांदीपोरा में हुई इस मुसलाधार बारिश के कारण कई इलाकों में जलभराव भी हो गया है। यही नहीं पपचन में कुछ पुराने पुल और नदी तटबंध भी बह गए हैं। हालांकि अब तक अन्य किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है।
 
इसके अलावा मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में सोगाम पुल के पास दुधगंगा नाले के बीच भी दो चरवाहे लगभग 400-500 भेड़ें, बकरियों के साथ फंस गए। रात भर हुई बारिश के कारण नाले में बाढ़ गई और चरवाहे अपने पशुओं के साथ वहां से निकल नहीं पाए। इस बात का पता चलते ही प्रशासन और स्थानीय स्वयं सेवक के सदस्य उनकी मदद को वहां पहुंच गए। एक अस्थायी ओवरपास का निर्माण किया और चरवाहों को पशुओं के साथ वहां से निकाल लिया गया।
 
तेज आंधी व बारिश ने कश्मीर के कई हिस्सों में कहर बरपाया है। इसकी चपेट में आकर कई घर, दुकानें और सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं। उत्तरी कश्मीर के बारामुल्ला जिले के तंगमर्ग इलाके में 11-12 जून की रात को बाढ़ के कारण पुल ढह गया। यह पुल (श्राई ब्रिज) चेंगमरा, चौक, चंगेल, वनिगम, कुल्हामा, दरहामा, बुडकोटे, रिंगावरी, गोगलडोर, दाराकाशी, मुशीखुर, झंडपाल और गंगवानी सहित 14 गांवों को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख शोभा ओझा बोलीं, कमलनाथ सरकार ने बिजली के लिए डिवाइस लगाने का किया फैसला