Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Prophet Controversy: बंगाल में भी हिंसा, कई स्थानों पर आगजनी, भाजपा कार्यालय में तोड़फोड़

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 10 जून 2022 (22:05 IST)
कोलकाता। पैगंबर मोहम्मद पर विवादास्पद टिप्पणियों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के बीच पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में इंटरनेट सेवाएं 13 जून की सुबह 6 बजे तक निलंबित रहेंगी। हावड़ा जिले में प्रदर्शनकारियों ने जमकर तोड़फोड़ और आगजनी की। उलुबेरिया में बीजेपी के एक कार्यालय में तोड़फोड़ की गई और आग लगा दी गई।
 
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों की धूलागढ़, पंचला और उलूबेरिया में पुलिस के साथ तब झड़प हुई जब उन्होंने (पुलिस ने) राष्ट्रीय राजमार्ग 6 की नाकेबंदी खुलवाने की कोशिश की।
 
पुलिस ने बताया कि धूलागढ़ और पंचला में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, जहां प्रदर्शनकारियों ने इसके जवाब में पथराव किया, जिससे पास खड़ी कारों को नुकसान पहुंचा। दक्षिण पूर्वी रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शकारियों ने हावड़ा-खड़गपुर खंड पर दोपहर एक बजकर 22 मिनट पर फुलेश्वर और चेंगैल स्टेशनों के बीच की पटरियों को अवरुद्ध कर दिया।
 
4 ट्रेनें रद्द : उन्होंने बताया कि प्रदर्शन की वजह से 4 ट्रेन रद्द की गई हैं जबकि दो ट्रेन का मार्ग बदला गया है। अधिकारियों ने कहा कि इसी तरह के प्रदर्शन बृहस्पतिवार को भी हुए थे और हावड़ा जिले के अंकुरहाती में 11 घंटे तक यातायात को बाधित रखा गया था।
webdunia
इस बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने शांति की अपील करते हुए राज्य के मुख्य सचिव से कानून एवं व्यवस्था की स्थिति पर तत्काल जानकारी मांगी है। उन्होंने ट्वीट किया शांति की अपील करते हुए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने मुख्य सचिव से राज्य में कल से बिगड़ी कानून व्यवस्था की स्थिति पर तत्काल जानकारी मांगी है।
 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपेक्षा है कि वह कानून का उल्लंघन करने वालों को कड़ी चेतावनी दें कि उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। ट्विटर पर मुख्य सचिव को भेजे पत्र की प्रति भी पोस्ट की गई है जिसमें धनखड़ ने कहा कि हावड़ा में बृहस्पतिवार की घटना के बाद निवारक और एहतियाती उपाय करने चाहिए थे, जो जमीन पर दिखाई नहीं दे रहे हैं।
 
सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक तापस रे ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सब से शांति की अपील की है। रे ने आरोप लगाया कि भाजपा देश के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को तबाह करने की कोशिश कर रही है। हालांकि, भाजपा ने राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने में कथित रूप से 'नाकाम' रहने पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की आलोचना की।
 
11 घंटे तक सड़क रही अवरुद्ध : भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में मुख्य सचेतक मनोज टिग्गा ने कहा कि सड़क का एक अहम हिस्सा 11 घंटे से अधिक समय तक अवरुद्ध रहा और पुलिस मूकदर्शक बनी रही। आज भी राज्य के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन की खबरें आ रही हैं, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। कानून-व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है।
 
बंगाल इमाम एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद याहिया ने कहा कि संगठन ने भाजपा के पूर्व दो नेताओं की गिरफ्तारी की मांग को लेकर समूचे राज्य में मस्जिदों के अंदर प्रदर्शन का आह्वान किया था। उन्होंने कहा कि प्रशासन सड़कों को अवरुद्ध करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राजस्थान में चला कांग्रेस का दांव, राज्यसभा की 3 सीटें जीतीं, सुभाष चंद्रा हारे