Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

chanakya niti : चाणक्य के अनुसार इन 5 लोगों का कभी अपमान न करें

हमें फॉलो करें webdunia
Chaanakya Niti 
 
आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में कई वाक्य कहे हैं और उन्हें आप अपने जीवन में उतार कर अपना अच्छा भविष्‍य और एक सम्मान योग्य जी सकते हैं तथा दूसरों को सम्मान देकर आप भी सम्मान पाने के हकदार बन सकते हैं। आइए जानते हैं यहां क्या कहती चाणक्य नीति, जानें 5 खास बातें- 
 
1. मां : किसी भी व्यक्ति को अपनी जन्म देने वाली मां का कभी भी अपमान नहीं करना चाहिए, क्योंकि माता का ऋण कभी चुकाया जा नहीं सकता। इसका कारण एक मां नौ महीने तक तमाम कष्ट सहते हुए अपने संतान को गर्भ में रखती है। 
 
2. पिता : आचार्य चाणक्य के अनुसार एक बच्चे का जन्म से पहले ही वह पिता बन जाता है और पूरी जिंदगी अपने बच्चों की इच्छा पूर्ति तथा उसकी परवरिश में अपनी सभी इच्छाओं का त्याग करके उसके अच्छे भविष्‍य का निर्माण करता है। अत: पिता का अपमान या तिरस्कार कभी नहीं किया जाना चाहिए। 
 
3. शिक्षक : चाणक्य के अनुसार जो मनुष्‍य या शिक्षक आपको शिक्षित करके समाज में रहने योग्य और उठने-बैठने योग्य बना रहा है तथा आपके अच्छे भविष्य के लिए प्रयास कर रहा है, उसका सम्मान अवश्य किया जाना चाहिए।
 
4. पत्नी के माता-पिता : सभी विवाहित पुरुषों को अपनी पत्नी के माता-पिता का भी उतना ही सम्मान करना चाहिए, जितना कि वो अपने माता-पिता का करता है। चाणक्य कहते हैं कि जब भी जरूरत पड़े तो अपनी पत्नी के माता-पिता की सेवा करने से पीछे नहीं हटना चाहिए।
 
5. संत-महापुरुष : यदि आप किसी भी संत, महापुरुष या गुरु के सानिध्य में हैं, तो आपको उनका कभी भी अपमान नहीं करना चाहिए, क्योंकि वे आपको धर्म का मार्ग बताकर मोक्ष प्राप्ति तक पहुंचाते में सहायक होते हैं। 
 
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

webdunia
 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Nautapa : क्या होगा इस नौतपा में? आंधी, तूफान, आग, दुर्घटना, नौतपा के ग्रह संयोग दे रहे हैं कौन-से खतरों का संकेत