Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सुनील छेत्री ने सुपर स्टार मैसी को पछाड़ा, बढ़त के बाद भी ताजिकिस्तान से हारा भारत

webdunia
सोमवार, 8 जुलाई 2019 (20:19 IST)
अहमदाबाद। स्टार स्ट्राइकर और कप्तान सुनील छेत्री के 2 गोलों से गत चैंपियन भारत ने 2-0 की बढ़त बना ली थी लेकिन दूसरे हॉफ में 3 मिनट के अंतराल में 2 गोल खाने के बाद भारतीय टीम को ताजिकिस्तान के खिलाफ इंटरकान्टिनेंटल फुटबॉल टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच में रविवार को 2-4 से हार का सामना करना पड़ा।
 
भारतीय कप्तान छेत्री ने इस मुकाबले में 2 गोल किए और अपने अंतरराष्ट्रीय गोलों की संख्या 70 पहुंचा दी। इसके साथ ही वे अर्जेंटीना के लीजेंड फुटबॉल लियोनल मैसी से आगे निकल गए जिनके 68 अंतरराष्ट्रीय गोल हैं। मौजूदा सक्रिय फुटबॉलरों में अब छेत्री से आगे पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो (88) हैं।
 
भारत ने पहले हॉफ में छेत्री के 2 गोलों से आधे समय तक 2-0 की बढ़त बनाई लेकिन ताजिकिस्तान ने दूसरे हॉफ में शानदार वापसी करते हुए पहले 2-2 से बराबरी हासिल की और फिर 3 मिनट के अंतराल में 2 गोल कर मुकाबला 4-2 से अपने पक्ष में कर लिया।
 
छेत्री का पहले हॉफ का शानदार प्रयास अंत में व्यर्थ गया। छेत्री ने इन 2 गोलों से अपने अंतरराष्ट्रीय गोलों की संख्या 70 पहुंचा दी है लेकिन टीम की हार से उन्हें निराशा ही हाथ लगी।
 
छेत्री ने मैच के चौथे ही मिनट में मिली पेनल्टी पर भारत को बढ़त दिलाने वाला गोल दाग दिया। लालियांगजुआला चांग्टे को बॉक्स में गिराए जाने पर भारत को पेनल्टी मिली और छेत्री ने इस पर गोल करने में कोई गलती नहीं की। छेत्री ने 40वें मिनट में मंदार राव देसाई के पास पर भारत का दूसरा गोल कर दिया।
 
पहले हॉफ में 2 गोल से पिछड़ने वाली ताजिकिस्तान की टीम दूसरे हॉफ में बदली रणनीति और नए जज्बे के साथ उतरी जबकि भारत का डिफेंस दूसरे हॉफ में ताजिकिस्तान के हमलों से पूरी तरह बिखर गया। तुरसानोव ने 56वें मिनट भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत की चूक का फायदा उठाते हुए रिबाउंड पर गोल कर स्कोर 1-2 कर दिया। 58वें मिनट में गुरप्रीत गेंद को सफाई से क्लीयर नहीं कर पाए और शेरीदीन बोबोव ने बराबरी का गोल कर दिया।
 
भारत इन झटकों से अभी संभल भी नहीं पाया था कि 71वें मिनट में रहिमोव ने गुरप्रीत को छकाकर ताजिकिस्तान का तीसरा गोल कर दिया। 74वें मिनट में एहसानी के लोब पर शहरोम ने चौथा गोल करने में कोई गलती नहीं की और इसके साथ ही भारत का संघर्ष समाप्त हो गया।
 
भारत का अगला मुकाबला 13 जुलाई को उत्तर कोरिया से होगा और मुकाबले में बने रहने के लिए भारत को यह मैच जीतना होगा। (वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ब्राजील के कप्तान दानी एल्वेस कोपा अमेरिका फुटबॉल में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी