उतार-चढ़ाव के बाद बढ़त में बंद हुआ शेयर बाजार

गुरुवार, 11 अप्रैल 2019 (16:52 IST)
मुंबई। लोकसभा चुनाव के लिए मतदान के बीच निवेशकों की सतर्कता का असर गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार पर देखा गया और यह ज्यादातार समय गिरावट और कभी-कभार बढ़त में रहने के बाद अंतत: मजबूत बंद होने में कामयाब रहा।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 36.23 अंक की तेजी के साथ 38,621.58 अंक पर खुला, लेकिन खुलते ही लाल निशान में चला गया। इसके बाद पूरे दिन यह ज्यादातर लाल निशान में ही रहा। भारतीय तथा वैश्विक अर्थव्यवस्था की मंदी के दबाव में बढ़ी बिकवाली से दोपहर बाद एक समय यह 38,649.98 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी आने से रिलायंस इंडस्ट्रीज तथा ऊर्जा क्षेत्र की अन्य कंपनियों में लिवाली से कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स गत दिवस की तुलना में 21.66 अंक यानी 0.06 प्रतिशत चढ़कर 38,607.01 अंक पर पहुंच गया। बीच कारोबार में इसका दिवस का उच्चतम स्तर 38,649.98 अंक रहा। सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल के शेयर दो प्रतिशत से अधिक चढ़े जबकि वेदांता के पौने चार प्रतिशत टूट गए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 8.25 अंक की बढ़त में 11,592.55 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 11,606.70 अंक के दिवस के उच्चतम और 11,550.55 अंक के निचले स्तर से होता हुआ बुधवार के मुकाबले 12.40 अंक यानी 0.11 प्रतिशत ऊपर 11,596.70 अंक पर रहा।

मझौली कंपनियों में भी लिवाली रही, जबकि छोटी कंपनियों का सूचकांक लुढ़क गया। बीएसई का मिडकैप 0.09 प्रतिशत की बढ़त में 15,382.26 अंक पर पहुंच गया। स्मॉलकैप 0.02 फीसदी टूटकर 14,966.50 अंक पर आ गया। बीएसई की 2,693 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 1,340 के शेयर लाल निशान में तथा 1,164 के हरे निशान में रहे, जबकि 189 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मैं वो लकड़ी नहीं जो आसानी से जल जाएगी, महबूबा का भाजपा पर हमला