Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

5 मैचों में 50 पार भी ना जाने वाले बाबर आजम पर अब तक भरोसा दिखा रहे हैं कोच हेडन

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 8 नवंबर 2022 (16:27 IST)
सिडनी: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मेंटर (मार्गदर्शक) मैथ्यू हेडन ने टी20 खराब लय में चल रहे कप्तान बाबर आजम का समर्थन करते हुए उम्मीद जतायी कि वह  मौजूदा विश्व कप के नॉकआउट चरण में ‘कुछ खास’ करेंगे।

पिछले टी20 विश्व कप के बाद से इस प्रारूप में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में चौथे स्थान पर काबिज बाबर मौजूदा टूर्नामेंट में बल्ले से पूरी तरह से विफल रहे है। इस टी20 विश्व कप में बांग्लादेश के खिलाफ 33 गेंदों में 25 रनों की पारी पिछले पांच मैचों में उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी रही है।हालात इतने बुरे हैं कि वह 5 मैचों में कुल मिलाकर 50 रनों तक भी नहीं पहुंचे हैं।

हेडन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ बुधवार को खेले जाने वाले सेमीफाइनल मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ आपने अगर अब तक शानदार खेल नहीं देखा है तो आश्चर्यचकित होने की जरूरत नहीं क्योंकि बेहतरीन खिलाड़ियों को ज्यादा समय तक खामोश नहीं रखा जा सकता।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ इस में कोई शक नहीं कि बाबर खराब दौर से गुजर रहा है। आप लगातार शतक, अर्धशतक और 140 से अधिक की स्ट्राइक रेट से रन नहीं बना सकते हैं।’’

ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘हर किसी को मुश्किल समय का सामना करना पड़ता है। और हम जानते है कि आंधी से पहले मौसम काफी शांत होता है। मैं दुनिया से कहना चाहूंगा कि आप बाबर की तरफ से विशेष पारी देखने वाले है।’’

भारत और जिम्बाब्वे से हारने के बाद टीम   विश्व कप से बाहर होने के कागार पर थी लेकिन नीदरलैंड की दक्षिण अफ्रीका पर आश्चर्यचकित करने वाली जीत से पाकिस्तान सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहा।

हेडन ने कहा, ‘‘ यह काफी उतार-चढ़ाव वाली यात्रा रही। पिछले विश्व कप में हम सेमीफाइनल तक अपराजित थे। सेमीफाइनल में  ऑस्ट्रेलिया ने हमें हरा दिया था। मुझे विश्वास है कि अपने सर्वश्रेष्ठ खेल के साथ हम प्रतिद्वंद्वी टीम के लिए बड़ा खतरा साबित होंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से मध्यक्रम ने टीम के लिए योगदान देना शुरू किया वह शानदार है। हमारे चारों तेज गेंदबाज अव्वल दर्जे के है।’’

सेमीफाइनल के प्रतिद्वंद्वी के बारे में पूछे जाने पर हेडन ने कहा कि न्यूजीलैंड की टीम पाकिस्तान के लिए खतरनाक साबित होगी।उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड में कुछ आक्रामक खिलाड़ी है जो अपने बल्ले से दबाव बना सकते है। उनके पास बेहतरीन और संतुलित गेंदबाजी आक्रमण भी है। टीम में अनुभव का अच्छा मिश्रण है।’’

इस 51 साल के पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘‘मैंने टिम साउदी के खिलाफ भी खेला, जो यह दर्शाता है कि टीम में अनुभव की कोई कमी नहीं है। लॉकी फर्ग्यूसन के पास बहुत अच्छी गति है, टी20 क्रिकेट में उसे बहुत अनुभव है।’’उन्होंने कहा, ‘‘ न्यूजीलैंड ने खेलों में हमेशा अपने स्तर से बेहतर प्रदर्शन किया है। इसमें कोई शक नहीं कि वे हमारी टीम के लिए खतरनाक होंगे।’’
webdunia

हर तरफ शॉट खेलने की क्षमता से सूर्यकुमार खतरा बन गए हैं: हेडन

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज मैथ्यू हेडन का मानना है कि टी20 क्रिकेट में हमेशा ताकत ही काम नहीं आती और सूर्यकुमार जैसे उपमहाद्वीप के खिलाड़ियों ने दिखाया है कि वे चारों तरफ शॉट खेलने की अपनी क्षमता से खतरा साबित हो सकते हैं।

खेल के सबसे छोटे प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज जैसी टीम के पावर हिटर का दबदबा रहा है लेकिन हेडन ने अपनी बात के पक्ष में सूर्यकुमार का उदाहरण देते हुए कहा कि यह सही संतुलन हासिल करने पर निर्भर करता है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और पाकिस्तान टीम के मौजूदा मार्गदर्शक (मेंटर) हेडन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ बुधवार को होने वाले टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘टी20 क्रिकेट में पावर खेल पर अब भी काम चल रहा है। अगर आप अब तक टूर्नामेंट को देखें तो मुझे लगता है कि उपमहाद्वीप के खिलाड़ी, सूर्यकुमार जैसे खिलाड़ी जो बीच के ओवरों से अंतिम ओवरों तक खूबसूरत खेल दिखा रहे हैं, उनमें चारों तरफ शॉट खेलने की क्षमता है और अपने खेल में नयापन लाकर वे खतरा बन गए हैं।’’

सूर्यकुमार 2022 में टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 1000 से अधिक रन बना चुके हैं।उन्होंने रविवार को जिंबाब्वे के खिलाफ सिर्फ 25 गेंद में नाबाद 61 रन की पारी खेलकर एमसीजी में मौजूद लगभग 82 हजार दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। उन्होंने इस दौरान कुछ गैरपारंपरिक शॉट भी खेले।
webdunia

हेडन ने कहा, ‘‘इसलिए यह हमेशा ताकत से जुड़ा मामला नहीं है। काफी मैच करीबी रहे हैं। मुझे लगता है कि इस टूर्नामेंट में काफी टीम इसलिए बनी हुई हैं क्योंकि उन्होंने विकेट बचाने और खेल के नयापन लाने के बाद संतुलन बनाया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया इसका शानदार उदाहरण है लेकिन वे नई गेंद का सामना अच्छी तरह नहीं कर पाए हैं और इससे मध्यक्रम पर दबाव आ गया।’’

गत चैंपियन ऑस्टेलिया की टीम सुपर 12 चरण से आगे बढ़ने में नाकाम रही। टीम के ग्रुप एक में सात अंक रहे लेकिन इंग्लैंड ने बेहतर नेट रन रेट के कारण उसे पछाड़ते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ऐसे रबर बॉल से विकेट के पीछे शॉट्स खेलना सीखे सूर्यकुमार यादव (Video)