Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

इतिहास रचने के बाद खिलाड़ियों पर धन वर्षा, इन दो राज्यों ने किया 1 करोड़ रुपए देने का ऐलान

webdunia
गुरुवार, 5 अगस्त 2021 (18:12 IST)
भोपाल: टोक्यो ओलंपिक में जर्मनी को पराजित कर कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय पुरुष हॉकी टीम के मध्यप्रदेश से संबंधित सदस्य विवेक सागर और नीलकांता शर्मा को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मान निधि के रूप में एक एक करोड़ रुपए देने की घोषणा की है।
 
चौहान ने ट्वीट के जरिए कहा 'भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में सर्वश्रेष्ठ टीमों को हराया है। इटारसी के लाल विवेक सागर टीम का हिस्सा हैं। नीलकांता शर्मा ने मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी से ट्रेनिंग ली है। इन दोनों खिलाड़ियों को एक एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि मध्यप्रदेश सरकार प्रदान करेगी।'मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्वीट के जरिए पूरी भारतीय टीम को भी इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिए बधाई और शुभकामनाएं प्रेषित की हैं।
 
हॉकी टीम के प्रत्येक खिलाड़ी को पंजाब सरकार देगी एक करोड़ का ईनाम:सोढी
 
जालंधर: टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने पर भारतीय हॉकी टीम के प्रत्येक खिलाड़ी को पंजाब सरकार ने एक करोड रूपये का ईनाम देने का ऐलान किया है।
 
पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने बताया कि टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने देश को 41 साल बाद ब्रान्ज मेडल दिलाया है। पूरे देश के साथ जालंधर के हॉकी खिलाड़ियों के घर पर भी खुशी का माहौल है। उन्होने बताया कि पंजाब सरकार ने हॉकी टीम के खिलाड़ियों को एक एक करोड़ रूपये के ईनाम की घोषणा की है। उन्होने बताया कि वह टीम के स्वागत के लिए एयरपोर्ट के लिए रवाना हो रहे हैं।
webdunia
उल्लेखनीय है कि भारतीय हॉकी टीम में सुरजीत हॉकी अकादमी जालंधर के आठ खिलाड़ी शामिल हैं जिनमें से चार खिलाड़ी जालंधर से संबंधित हैं।भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह के घर बधाइयों का तांता लगा है। लोग उनके घर पहुंचकर परिवार वालों को बधाई दे रहे हैं। हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत की मां मनजीत कौर ने कहा कि हम अरदास कर रहे थे और वो कबूल हो गई। हम बहुत खुश हैं कि मेरे बेटे ने देश का नाम रोशन किया है। उन्होंने कहा कि अब हम खिलाड़ियों का एयरपोर्ट पर स्वागत करने जाएंगे।
 
वहीं, ओलंपियन प्रगट सिंह की आंखों में इस जीत के बाद आंसू छलक उठे। 1980 में भारतीय हॉकी टीम ने ओलिंपिक में गोल्ड जीता था। इसके 41 साल बाद भारत को फिर ओलिंपिक का मेडल मिला है। प्रगट सिंह ने कहा कि यह बहुत खुशी व भावुकता का पल है। उन्होंने कहा कि यह सही वक्त है, जब हमें नए खिलाड़ी तैयार करने के लिए ग्रासरूट पर मेहनत करने की जरूरत है।सुरजीत हॉकी सोसायटी के सचिव इकबाल सिंह संधू ने बताया कि टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह जालंधर के मिटठापुर, मनदीप सिंह , हार्दिक सिंह जालंधर छावनी के खुसरोपुर और वरूण कुमार जालंधर से संबंधित हैं। उन्होने टीम को बधाई देते हुए ओलंपिक में भारतीय हॉकी महिला टीम की जीत की भी कामना की।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पहले टेस्ट के दूसरे दिन लंच से पहले भारत ने खोया रोहित का विकेट, सलामी बल्लेबाज चूके 100 रनों की साझेदारी