Budget 2019 : मोदी सरकार का 'बंपर बजट', सबको खुश करने की कोशिश...

शुक्रवार, 1 फ़रवरी 2019 (13:15 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय का प्रभार संभाल रहे पीयूष गोयल शुक्रवार को संसद में 'बंपर बजट' पेश किया। मोदी सरकार ने अपने बजट में सभी वर्गों को खुश करने का भरसक प्रयास किया। इस बजट में सबसे प्रमुख बात आयकर सीमा 2.50 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपए करने की रही। बजट के हाईलाइट्स...

- सिर्फ 5 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। 
- टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। 
- 41666 रुपए प्रतिमाह कमाने वालों को राहत, उससे ज्यादा की कमाई वालों को केवल स्टेंडर्ड डिडशन का ही फायदा मिलेगा। 
 
व्यक्तिगत करदाताओं को दूसरा तोहफा देते हुए वित्त मंत्री ने स्टैंडर्ड टैक्स सीमा बढ़ाकर 50000 रुपये करने की घोषणा की। एफडी के ब्याज पर 40,000 रुपये तक टैक्स नहीं।

- 5 लाख तक की आय पर पहले 13 हजार रुपए लगते थे। अब नहीं लगेगा कोई टैक्स। 
- टैक्स में छूट के बाद संसद में लगे मोदी मोदी के नारे। 
- बिल्डर को बिना बिके घर पर 2 साल तक नहीं लगेगा टैक्स 
- महिलाओं को बैक में 40 हजार तक के ब्याज पर नहीं लगेगा टैक्स 
 
- डेढ़ लाख तक के निवेश कर कोई टैक्स नहीं।  
- टैक्स में छूट से मध्यम वर्ग के 3 करोड़ लोगों को फायदा।

- टैक्स सीमा बढ़ाकर 5 लाख रुपए की। 
- 5 लाख तक की आय वालों को पूरी छूट  
5 लाख रुपए तक की आमदनी रखने वाले इंडिविजुअल टैक्स पेयर्स का पूरा टैक्स फ्री होगा। डेढ़ लाख रुपए का इन्वेस्टमेंट करने पर साढ़े छह लाख रुपए तक आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा।

- राष्‍ट्रनिमार्ण के लिए हम करदाताओं का शुक्रिया अदा करते हैं। 
- आपके टैक्स से गरीबों को बिजली कनेक्शन मिल रहे हैं। 
- आपके टैक्स का विकास होता है। 
- 2022 तक पूर्ण स्वदेशी उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे। 
- 5 साल में भारत उपग्रह प्रक्षेपण का बड़ा केंद्र बना। 
- 10 फीसदी से महंगाई 4 प्रतिशत पर लाए। 
- वित्त वर्ष 2019-20 में वित्तिय घाटा जीडीपी का 3 प्रतिशत रहने का अनुमान  
- इस साल जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ के पार। 
- घर खरीदने वालों पर भी जीएसटी का बोझ कम करने की कोशिश।
- ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स टैक्स कम करने का प्रयास कर रहा है।  
- जीएसटी अब तक का सबसे क्रांतिकारी कदम। 
- नई कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना होगा। 
- मुद्रा योजना के तरह 15.56 करोड़ के ऋण


- 12 लाख करोड़ रुपए टैक्स जमा हुआ। 

- टैक्स भरने वालों की संख्या 80 फीसदी तक बढ़ी। 
- मैं इमानदार करदाताओं को धन्यवाद देता हूं।
- मिडिल क्लास पर टैक्स का बोझ कम करना प्राथमिकता। 
- 24 घंटे आईटी रिटर्न की प्रोसेसिंग। 
- टैक्स मूल्यांकन के लिए दफ्तर नहीं जाना पड़ेगा। 
- 94.54 फीसदी रिटर्न मंजूर हुए। 
- बजट भाषण में उरी फिल्म पर बजी तालियां।

- पिछले 5 सालों में मोबाइल डाटा 5 गुना बढ़ा। 
- मेक इन इंडिया से देश में मोबाइल कंपनियों की संख्या बढ़ी। 
- अगले 5 सालों में 1 लाख डिजिटल गांव बनाएंगे। 
- समुद्री तट वाले क्षेत्रों में सबरीमाला प्रोजेक्ट। 
- 5 साल में सौर ऊर्जा के क्षेत्र में 10 गुना बढ़ोतरी। 
- पूर्वोत्तर राज्यों में रेलवे नेटवर्क का विस्तार। 
 
- देश में रोज 27 किलोमीटर हाईवे का निर्माण। 
- हाईवे का निर्माण सबसे तेजी से भारत में हुआ।
- रेलवे का घाटा कम करने पर काम किया। 
- ब्रॉडगेज पर सभी मानव रहित क्रॉसिंग खत्म की गई। 
- आम नागरिक भी अब हवाई जहाज में सफर कर रहे हैं। 
- एविएशन क्षेत्र में युवाओं के लिए नौकरी के अवसर बढ़े।  
 
- हमारे सैनिक कठिन हाला‍तों में देश की रक्षा करते हैं।
- हमने रक्षा बजट बढ़ाकर 3 लाख करोड़ रुपए किया। 
- वन रैंक वन पेंशन पर हमने 35 हजार करोड़ रुपए दिए। 
 
- कम तनख्वाह वालों को गारंटिड पेंशन स्कीम का ऐलान। 
- कर्मचारी की मृत्यु पर ईपीएफ 2 लाख से बढ़कर 6 लाख।
- कौशल विकास योजना से 1 करोड़ युवाओ का फायदा। 
- गर्भवती महिलाओं के लिए पीएम मातृ योजना। 
- उज्जवला गैसकनेकशन योजना में 8 करोड़ लोगों को कनेक्शन

- 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हजार रुपए प्रतिमाह तक की पेंशन। 
- 21 हजार रुपए तक के वेतन वालों को मिलेगा बोनस 
- वेतन आयोग की सिफारिशों को जल्द लागू किया जाए। 
- ग्रेज्युटी की सीमा 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख। 
- श्रमिकों का बोनस बढ़ाकर 7 हजार रुपए किया। 
- श्रमिकों की मौत पर मुआवजा बढ़कर 6 लाख रुपए किया।
- पीएम श्रम योगी मानधन योजना को मंजूरी। 
- 15 हजार रुपए तक की आय वालों को होगा फायदा।
 
- कामधेनु योजना के लिए 750 करोड़ रुपए खर्च का प्रावधान। 
- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, किस्तों में मिलेगा पैसा।
- 1 दिसंबर 2018 से लागू होगी योजना, 12 करोड़ किसानों को होगा फायदा 
 
- गायों को लेकर बजट में बड़ा ऐलान। 
- राष्‍ट्रीय कामधेनु योजना शुरू करेगी सरकार। 
- गौ माता के लिए सरकार पीछे नहीं रहेगी। 
 
- पीएम किसान सम्मान निधि की घोषणा। 
- हर किसान के खाते में सीधे 6 हजार रुपए जाएंगे। 
- 12 करोड़ किसान परिवारों को इसका सीधा लाभ मिलेगा
- 2 हेक्टयर क्षेत्र वाले किसानों को मिलेगा फायदा। 
- चुनाव से पहले पहली किश्त के रूप में 2 हजार रुपए मिलेंगे। 
- संसद में लगे जय किसान के नारे। 
- 22 फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाया। 
- किसानों की आय बढ़ाने के लिए काम किया। 
- जन औषधि केंद्र पर सस्ती दवाइयां। 
- हर जिले तक सरकारी योजनाएं पहुंच रही है। 
 
- 2019-20 में मनरेगा के लिए 7 हजार करोड़ रुपए का आवंटन किया जाएगा
- अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 3.4 प्रतिशत रहेगा
- पांच लाख 45 हजार गांव खुले में शौच से मुक्त हुए। 98 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्र हुए स्वच्छ।
- टैक्स सुधार के लिए हमने आमूलचूल परिवर्तन किए। 
- ग्रामीण सड़क योजना के लिए 19 हजार करोड़। 
 
- कॉलेजों में 25 फीसदी सीटें बढ़ेगी। 
- शैक्षणिक संस्थानों में सरकार ने सीटें बढ़ाई। 
- पहले बच्चा टूटी पगडंडी पर चलकर स्कूल पहुंचता था, अब उसके गांव तक बस जाती है। 
 
- सरकार ने गरीबों के लिए आरक्षण की व्यवस्था की। 
- जन भागीदारी से स्वच्छता आंदोलन बना। 
- इस अभियान को लोगों ने दिल से अपनाया। 
- स्वच्छता भारत अभियान के लिए देशवासियों का शुक्रिया। 
 
- रेरा से रियल इस्टेट सेक्टर में पारदर्शिता आई। 
- हमारी सरकार ने आर्थिक मोर्चे पर मजबूत इच्छाशक्ति दिखाई।  
- बैंकिंग व्यवस्था में सुधार के लिए सरकार ने अभियान छेड़ा। 
 
- बड़े कारोबारियों को अब लोन चुकाने की चिंता होती है। 
- हमने एनपीए पर रिजर्व बैंक को स्थिति बताने को कहा। 
- हमने एनपीए को कम करने की कोशिश की। 

- सरकार ने कई योजनाएं शुरू की। 5 साल में एफडीआई में अभूतपूर्व बढ़ोतरी। 
- हमने वित्तीय घाटे को कम किया। 
- सरकार ने महंगाई की कमर तोड़ दी।
महंगाई दर अब तक के सबसे निचले स्तर पर। 

- 2022 तक सबको घर देगी सरकार।
- हम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था।
- जीवन की बेहतरी के लिए सरकार ने काम किया। 
- दुनिया ने भारत की ताकत को पहचाना। 
- देश से भ्रष्टाचार खत्म हुआ। 

- हमने देश के आत्मविश्वास को बढ़ाया। 
- पीएम मोदी ने साफ और मजबूत सरकार दी। 
- जेटलीजी जल्दी स्वस्थ हों। 
- किसानों की आमदमी दोगुना हुई।
 
- संसद में बजट पर केबिनेट की बैठक, सभी मंत्रियों के फोन बाहर रखवाए।
- संसद पहुंचे पीयूष गोयल, कुछ ही देर में शुरू होगी मोदी मंत्रीमंडल की बैठक।
- राष्‍ट्रपति से मिले वित्त मंत्री गोयल, बजट को लेकर ली मंजूरी। 
- वित्त मंत्रालय से राष्‍ट्रपति भवन के लिए निकले पीयूष गोयल। राष्‍ट्रपति से लेंगे बजट पेश करने की अनुमति।  
- संसद पहुंचे बजट दस्तावेज, सुबह 11 बजे पेश होगा बजट। 
- वित्त मंत्रालय पहुंचे पीयूष गोयल।
 
- सुबह 8 बजकर 40 मिनट पर घर से निकले वित्तमंत्री पीयूष गोयल। कुछ ही देर में मंत्रालय पहुंचेंगे। 
- वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला ने कहा कि इस बार भी हर बार की तरह अच्छा बजट देंगे। 

- सुबह 8 बजकर 47 मिनट पर घर से निकलेंगे पीयूष गोयल। 
- सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर राष्‍ट्रपति से मिलकर बजट पेश करने की अनुमति लेंगे।
- सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर ब्रिफकेस लेकर संसद जाएंगे पीयूष गोयल। 
- सुबह 10 बजकर 20 मिनट होगी मोदी मंत्रीमंडल की बैठक। पीएम मोदी करेंगे बैठक की अध्यक्षता।
- मंत्रीमंडल की बैठक में औपचारिक तौर पर बजट को मंजूरी दी जाएगी।
 
- यह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल का आखिरी बजट होगा।
- मोदी सरकार अपने कार्यकाल में 5 बजट पेश कर चुकी है।
- बजट को लेकर लोगों में भारी उम्मीदें।
- किसानों को भी बजट में किसी बड़ी योजना की घोषणा की उम्मीद।  
- बजट पर आम आदमी की नजर, कर में छूट चाहते हैं लोग।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख साइना नेहवाल वर्ल्ड रैंकिंग में नौवें नंबर पर कायम, सिंधू एक स्थान गिरीं