Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मंदिर की खूंटी पर लटका मिला गौरक्षक का शव, परिजनों ने किया हंगामा

हमें फॉलो करें webdunia

अवनीश कुमार

रविवार, 4 सितम्बर 2022 (14:30 IST)
कानपुर देहात। कानपुर देहात के अकबरपुर थाना के अंतर्गत एक गौरक्षक अधेड़ का शव संदिग्ध परिस्थितियों में सुबह घर के पास स्थित एक मंदिर की खूंटी पर लटका मिला। जानकारी होते ही उसके घर में कोहराम मच गया और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने फोरेंसिक टीम के साक्ष्य संकलन के बाद शव को कब्जे में ले लिया लेकिन वही परिजनों ने गांव के कुछ लोगों के ऊपर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।
 
क्या है मामला - मूल रूप से अकबरपुर के ज्योतिष गांव में रहने वाले गौरक्षक राजेश द्विवेदी (50) घर के बाहर मंदिर में लेटते थे। देर रात खाना खाने के बाद मंदिर परिसर में जाकर लेट गए थे।संदिग्ध संदीप परिस्थितियों उनका शव मंदिर की दीवार में बनी खूंटी में लटका मिला।
 
जानकारी होते ही उनके घर में कोहराम मच गया। पति की मौत से उनकी पत्नी लाली बदहवास हो गईं। जबकि पुत्र मुलायम व पुत्री प्रगति का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। सूचना पर सीओ सदर प्रभात कुमार, अकबरपुर कोतवाल प्रमोद शुक्ला फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे। सीओ की पूछताछ में परिजनों ने उनकी हत्या कर शव को खूंटी में लटकाए जाने का आरोप लगाया। 
 
webdunia
पुलिस पर भी लगाया आरोप - मृतक गौरक्षक राजेश द्विवेदी के परिजनों ने मौके पर पहुंचे सीओ को बताया कि गत 13 अगस्त को गांव के ही कुछ लोगों के खिलाफ गोवंश पर धारदार औजार से हमलाकर गंभीर रूप से घायल करने की पुलिस को तहरीर दी थी।
 
इसके साथ ही उस घटना का वीड़ियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। लेकिन पुलिस ने गंभीरता से ना लेते हुए कोई भी कड़ी कार्रवाई नहीं करी और वही गौरक्षक राजेश द्विवेदी लगातार धमकियां मिल रही थीं। उनके द्वारा धमकियों की भी जानकारी पुलिस को दी गई थी लेकिन पुलिस ने किसी भी प्रकार की कोई गंभीरता नहीं दिखाई जिसके चलते उनकी हत्या कर दी गई।
 
10 घंटे हंगामा करने के बाद माने परिजन - कानपुर देहात के अकबरपुर के ज्योतिष गांव निवासी गौ रक्षक राजेश की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर 10 घंटों तक हंगामा किया। मौके पर जिलाधिकारी नेहा जैन के साथ पुलिस अधीक्षक सुनीति पहुंची और परिजनों से बातचीत की। इस दौरान परिजनों ने खुलकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया और कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग की। अधिकारियों से बातचीत के बाद परिजन अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हो गए हैं।
 
क्या बोले अधिकारी - कानपुर देहात पुलिस अधीक्षक सुनीति ने बताया कि पीड़ित परिवार से बातचीत कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया है जल्द ही आरोपी गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। परिजनों की तरफ से पुलिस वालों पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं उस की निष्पक्ष जांच करवाई जाएगी। जांच रिपोर्ट आने के बाद जो पुलिसकर्मी भी दोषी होंगे उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ब्रिटिश माता-पिता ने बेटे का नाम रख दिया 'पकौड़ा', सोशल मीडिया लोग ले रहे पकौड़े के मजे