Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

प्रयागराज में उपद्रवियों पर होगी गैंगस्टर की कार्रवाई, पुलिस को मिले अहम सुराग

हमें फॉलो करें webdunia

हिमा अग्रवाल

शनिवार, 11 जून 2022 (13:13 IST)
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में जुमे की नमाज के बाद जमकर बवाल हुआ, जिसे कंट्रोल करने में पुलिस-प्रशासन को 4 घंटे का समय लग गया। अटाला में प्रदर्शनकारियों ने पथराव करने के साथ नरुल्ला रोड पर बैरियर तोड़ते आगजनी की, वही सड़क किनारे खड़े वाहनों में तोडफ़ोड़ कर दी।
 
इस बवाल में खुल्लाबाद थाने में अब तक 29 पर गंभीर धाराओं में और 70 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है,जबकि 5000 लोग अज्ञात में है। पुलिस ने अब तक 68 उपद्रवियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।
 
प्रयागराज में शुक्रवार की सुबह से ही पुलिस, पीएसी और आर ए एफ चप्पे-चप्पे पर तैनात थी, पुलिस-प्रशासन के अधिकारी संवेदनशील इलाकों में फ्लैग मार्च कर रहे थे। स्थानीय लोगों को साथ लेकर अमन-चैन के लिए बैठक भी की गई, शहर के धार्मिक गुरूओं की अपील भी करवाई गई थी।

शहय में एलआइयू की टीम भी सक्रिय थी, साथ ही पुलिस विशेषज्ञ इंटरनेट मीडिया पर भी पैनी नजर बनाये हुए थे। ऐसे में बवाल हो जाने के पीछे उपद्रवियों की गहरी साजिश से इंकार भी नही किया जा सकता है।
 
प्रयागराज के पुलिस अधिकारियों के मुताबिक ये पूरा बवाल नाबालिग बच्चों को आगे रख कर किया गया है, बच्चों की आड़ में पथराव हुआ, लेकिन पुलिस ने संयम से काम लेते हुए स्थिति को निंयत्रित कर लिया।
 
अब तक 68 उपद्रवी हिरासत में हैं, हिरासत में लिए गये मोहम्मद जावेद उर्फ पम्प के मोबाइल से महत्वपूर्ण सबूत मिले है। जावेद को पम्प के नाम से जाना जाता है, क्योंकि यह पम्प का व्यवसाय करता हझ। इसकी एक बेटी है जो JNU में पढ़ती हज और इसको राय मश्वरा देती है, बेटी की भूमिका की भी जांच की जा रही है कि उसने इस बवाल के लिए पम्प को क्या राय दी थी। 
 
जावेद उर्फ पम्प के मोबाइल से भारत बंद के मैसेज को फ्लैश किया गया था और घटनास्थल अटाला पर आने के लिए व्हाट्सएप भी किये गये। कुछ नम्बर जावेद ने मोबाइल से डिलीट कर दिये है, पुलिस उनको रिकवर करने के लिए एस एफ एल भेज रही है। 
 
 
पुलिस ने प्रयागराज में उपद्रव करने वालों के प्रति बेहद सख्त नजर आ रही है, दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नही जायेगा। वही बवाल करने वालों पर गैंगस्टर एक्ट के छहत कार्रवाई की जायेंगी, साथ ही उनकी सम्पत्ति का ब्यौरा जुटाया जायेगा, यदि अवैध तरीके से अर्जित की गई है तो प्रयागराज विकास प्राधिकरण उस पर कार्रवाई करते हुए ध्वस्तीकरण करेगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

हावड़ा में हिंसा पर बवाल, क्या है इन दंगों का राजनीतिक कनेक्शन?