वेलेंटाइन डे : क्या कहती है गर्लफ्रैंड की राशि, कितना गुस्सा करती हैं आपकी वेलेंटाइन?

Happy Valentine Day


वेलेंटाइन डे मनाने से पहले जान लीजिए कैसी है आपकी वेलेंटाइन, गुस्सा कितना आता है उनको। 12 राशियां न केवल भविष्य की सूचनाएं देती हैं बल्कि व्यक्तित्व का आईना भी होती हैं। तो देखिए क्या कहती है आपकी गर्लफ्रैंड की राशि। कितनी गुस्सा करती हैं, आपकी वेलेंटाइन?
 
मेष:- यह राशि प्रतीक है- मेमने की। लिहाजा अगर आपकी गर्लफ्रैंड की राशि यह है तो आप हैं सुपर लकी। इस राशि वाली लड़कियाँ मेमने की तरह सीधी होती हैं। आम तौर पर इन्हें गुस्सा नहीं आता हैं।
 
वृषभः- इस राशि का प्रतीक चिन्ह है- बैल। इस राशि की युवतियाँ जितनी मेहनती होती है, उतनी ही गुस्सैल भी होती है। लेकिन डोंट वरी, इन्हें अपने गुस्से पर नियंत्रण रखना भी आता है।
 
मिथुनः- एक्साइटमेंट और एंग्रीवुमन इस राशि वाली लड़कियों की खासियत है। बात-बात पर गुस्सा करना इनकी आदत में शुमार है। इनके प्रेमी को इनके गुस्से का अक्सर शिकार बनना पड़ता है। सो, बी केयरफुल! 
 
कर्कः- इस राशि की बंदियों को आप गुस्सैल नहीं कह सकते क्योंकि गुस्सा आने पर अपनी चतुराई से यह दबा लेती हैं। इन्हें गुस्सा तो आता है लेकिन वह ज्वालामुखी की तरह अन्दर ही अन्दर धधकता रहता है।
 
सिंहः- इनका गुस्सा? तौबा-तौबा! जिसका प्रतीक ही लॉयन हो वह निश्चित ही गुस्सैल होगी। लेकिन इनका गुस्सा व्यर्थ नहीं होता। अन्याय देखकर यदि यह गुस्से से तमतमा जाती हैं तो गलत क्या है? इनसे बेवफाई की सोचिएगा भी मत। 
कन्याः- इस राशि की कन्याएँ गुस्सैल नहीं, नासमझ होती है। ज्यादा सोचती रहती हैं लेकिन गुस्सा नहीं करती। दूसरों का गुस्सा अपने आप पर उतारकर परेशान होती रहती हैं। इनका जरा ख्याल रखें। 
 
तुलाः- गुस्से को किस तरह, कहाँ पर एडजस्ट किया जाता है, कोई इनसे सीखे। यह गुस्सैल होती भी हैं और नहीं भी। तराजू की पलड़ों की तरह इनका गुस्सा भी घटता-बढ़ता रहता है। इन्हें आप कभी गरम, कभी नरम वेलेंटाइन मान सकते हैं।
 
वृश्चिकः- गुस्सा इनकी नाक पर रखा होता है। बिच्छू का डंक जितना तेज होता है इनका गुस्सा। हो भी क्यों नहीं आखिरकार बिच्छू ही तो है इस राशि का प्रतीक। मगर जरा सावधान, ये बेवफा भी होती हैं। 
 
धनुः- यह गुस्सा तो करती हैं, लेकिन देखभाल कर। अव्वल तो यह बिना बात गुस्सा नहीं करती लेकिन जब गुस्सा करती हैं तो सीधे तीर की तरह प्रहार करती हैं। इतना तीखा बोलती हैं कि सहन करना मुश्किल है। बहुत पैना होता है इनका गुस्सा। अगर कड़वा और जलता सुनने की हो हिम्मत तो बढ़ाएँ आगे कदम। 
 
मकरः- यह यु‍वतियां गुस्सैल नहीं चिड़चिड़ी होती हैं। शायद ही यह किसी पर भरोसा कर पाती है। यही कारण हैं कि जितना गुस्सा यह दूसरों पर नहीं करती, उससे ज्‍यादा दूसरों के गुस्से का शिकार होती हैं। आपको इन पर खीज आ सकती है, इसलिए निभा सकें तो ही शुरू करें रोमांस। 
 
कुंभः- इनका गुस्सा भीतरी होता है। बाहर से शांत और भीतर से गुस्सा इनकी पहचान है। ज्वालामुखी की तरह संचित रहता है यह गुस्सा कभी-कभी लावे की तरह फूटकर बाहर निकलता है। लेकिन जब ये प्यार करती हैं तो जुनून की हद तक। इनकी वफा की कद्र कर सकें तो ही प्यार का आगाज कीजिए। 
 
मीनः- इस राशि की कन्याओं को गुस्सा करना शायद ही कभी आता है। शांत और शीतल प्रकृति की होती हैं इस राशि की वेलेंटाइन। एक्सेपश्नल कोई गुस्सैल होती हैं, तो उसका गुस्‍सा बेहद भयंकर होता है। पर ये बैर नहीं पालती। तुरंत भूल भी जाती है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख प्रेम पर हिन्दी कविता : रूह के रिश्ते