Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Fact Check: क्या चीन ने लद्दाख में भारतीय सैनिकों के खिलाफ इस्‍तेमाल किया घातक माइक्रोवेव हथियार? जानिए पूरा सच

webdunia
गुरुवार, 19 नवंबर 2020 (17:19 IST)
भारत-चीन सीमा विवाद के बीच पिछले दिनों कुछ विदेशी मीडिया में खबरें चलीं कि लद्दाख में चीन ने भारतीय जवानों पर माइक्रोवेब हथियारों से हमला किया। वायरल हो रही खबर में कहा गया है कि, लद्दाख सीमा से भारतीय सेना को पीछे हटाने के लिए चीन ने माइक्रोवेव हथियार का इस्तेमाल किया है।

क्या है वायरल खबर में-

वाशिंगटन एग्जामिनर की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजिंग के रहने वाले एक प्रोफेसर ने दावा किया था कि चीन ने ऐसे हथियारों का इस्तेमाल किया था, जिससे 15 मिनट में तापमान इतना ज्यादा हो गया था कि चोटी पर कब्जा किए भारतीय सैनिक उल्टी करने लगे थे। वे खड़ा भी नहीं हो पा रहे थे और उन्हें वहां से भागना पड़ा। प्रोफेसर ने दावा किया कि हमला 29 अगस्त को हुआ था.

क्या है सच-

भारतीय सेना और प्रेस सूचना ब्यूरो ने विदेशी मीडिया में चल रही खबर को फर्जी बताया है।



PIB फैक्ट चेक ने अपने ट्वीट में कहा कि “कुछ अंतरराष्ट्रीय समाचार पोर्टलों ने भ्रामक खबरें प्रकाशित की हैं और लद्दाख में भारत-चीन सीमा विवाद से संबंधित आधारहीन दावों की सूचना दी है। यह फर्जी खबर है। ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।”



माइक्रोवेव हथियार क्या हैं?

माइक्रोवेव, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक विकिरण का एक स्वरूप है। इसका उपयोग खाना बनाने और रडार सिस्टम में किया जाता है। वहीं, हथियार के तौर पर माइक्रोवेव शरीर के टिश्यू का तापमान बढ़ा सकते हैं और कानों के माध्यम से सिर के अंदर शॉकवेव पैदा करता है। इस तकनीक को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए कई देशों में शोध चल रहा है। ये हथियार कम घातक माने जाते हैं और इनसे गंभीर चोट या मौत का खतरा नहीं होता है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज के IPL दल का दूसरा Corona परीक्षण नेगेटिव