यूपी पुलिस के कोतवाल के कंधे पर बैठकर जुएं बीनने लगा बंदर...VIDEO वायरल

बुधवार, 9 अक्टूबर 2019 (16:52 IST)
आपने अक्सर बंदरों को एक-दूसरे के सिर से जुएं निकालते देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी बंदर को किसी इनसान के सिर से जुएं निकालते देखा है.. सिर्फ इस खयाल से अगर आप घबरा गए हैं, तो आप उस कोतवाल का सोचिए, जिसके कंधे पर बैठकर एक बंदर ने उसके सिर से जुएं निकालने लगा। जी हां, सोशल मीडिया पर इनका वीडिया काफी वायरल हो रहा है।

यह घटना है उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले के सदर कोतवाली थाने की। दरअसल, थानाध्यक्ष श्रीकांत द्विवेदी अपनी मेज पर बैठकर कुछ जरूरी काम निपटा रहे थे कि तभी एक बंदर अचानक से उनके कंधे पर आकर बैठ गया। फिर वह उनके सिर में जुएं ढूंढने लगा। कोतवाल भी बिना किसी हिचकिचाहट के अपना काम करते रहे। यूं तो पहले कोतवाल शांत रहते हैं फिर कहते नजर आ रहे हैं कि चलो-चलो उतरो, उतरो, हमको जाना है अभी, उतरो भइया!

इस वीडियो को उत्तर प्रदेश पुलिस के एडिश्नल एसपी राहुल श्रीवास्तव ने ट्विटर पर शेयर किया है।

राहुल श्रीवास्तव ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “पीलीभीत के इन इंस्पेक्टर साहब का अनुभव ये बताता है कि यदि आप काम करने में व्यवधान नहीं चाहते हैं तो रीठा, शिकाकाई या अच्छा शैम्पू इस्तेमाल करें”।

पीलीभीत के इन इन्स्पेक्टर साहब का अनुभव ये बताता है कि यदि आप काम करने में व्यवधान नहीं चाहते हैं तो रीठा, शिकाकाई या अच्छा शैम्पू इस्तेमाल करें ! #Shampoo #Hair #Police #monkeylove #Monkey pic.twitter.com/7sPQtuS2A6

— RAHUL SRIVASTAV (@upcoprahul) October 8, 2019

इस वीडियो पर यूजर्स कई मजेदार कमेंट कर रहे हैं। देखिए...

शायद बालों में मुजरिम को खोज रहा है।

— Mayank Ji (@mauryajii) October 8, 2019

 


 

 

Sir Apna kaam kar rahe hain, aur Sir ke sar par, bandar apna kaam kar raha hai ! Donoon apne apne kaam mein magn hai

— Mohammed Lateef Khan (@lateefkhanhyd) October 9, 2019


लगता है उत्तर प्रदेश में मसाज के शौकीन ज्यादा ही है। मगर ये वाला ठीक है इसमें कोई बुराई नहीं है।

— Bhawesh Patel (@bhaweshpatel00) October 9, 2019


May be the monket is looking for lies not lice in the files

— CGJ (@CGJ83347773) October 9, 2019


Wow, that shows even बजरंग बली is helping UP police to be efficient in their work by cleaning his hair and saving his time

— मानस कक्कड् (@writetomanas) October 9, 2019

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कश्मीरी विस्थापितों के लिए मोदी सरकार की बड़ी घोषणा