Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Fact Check: क्या चीनी सैन्य अधिकारी ने गलवान झड़प में 100 सैनिकों की मौत स्वीकारी, जानिए पूरा सच...

webdunia
बुधवार, 8 जुलाई 2020 (14:05 IST)
लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। वहीं, चीनी पक्ष ने मारे गए सैनिकों की कोई आधिकारिक संख्या जारी नहीं की है। इस बीच एक पोस्ट तेजी से वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया गया है कि चीन के एक पूर्व सैन्य अधिकारी ने स्वीकार किया है कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 100 चीनी सैनिक मारे गए।

क्या है वायरल-

शीर्षक ‘More Than 100 Chinese Soldiers Killed In Galwan Valley : Chinese Military Official Accepted’ के साथ एक रिपोर्ट को कई ट्विटर यूजर्स शेयर कर रहे हैं। भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने भी इस रिपोर्ट को शेयर की है।

 
इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पूर्व चीनी सैन्य अधिकारी और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी में एक नेता के बेटे Jianli Yang ने स्वीकार किया कि भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक संघर्ष में 100 से अधिक चीनी सैनिक मारे गए थे।

क्या है सच-

पड़ताल शुरू की तो पता चला कि वायरल हो रही रिपोर्ट ‘Kreately’ नामक ब्लॉग पर पब्लिश हुई है, जहां कोई भी कुछ भी पब्लिश कर सकता है। इस रिपोर्ट में कोई भी आधिकारिक सूत्र का जिक्र नहीं है। साथ ही, रिपोर्ट में कई तरह गलतियां भी हैं। पहले अधिकारी का नाम Jianli Yang लिखा गया है, लेकिन बाद में उनके नाम की स्पेलिंग Gianli लिखी गई है।

Yang Jianli कम्युनिस्ट पार्टी के नेता के बेटे तो हैं, लेकिन पूर्व सैन्य अधिकारी नहीं हैं। वे चीन विरोधी हैं, जो अमेरिका में रहते हैं। वे उन्होंने हाल ही में द वॉशिंग्टन टाइम्स में एक ओपिनियन लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि कैजुअल्टी की संख्या स्वीकारने से घरेलू अशांति की स्थिति पैदा हो सकती है। अपने आर्टिकल में उन्होंने कहीं ये बात नहीं लिखी कि गलवान घाटी में चीन के 100 मारे गए।

रिपोर्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर अमेरिकी केबल और सैटेलाइट टीवी नेटवर्क, C-SPAN का 2013 में अपलोड किए हुए वीडियो से लिया गया है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि गलवान घाटी में मारे गए चीनी सैनिक की संख्या को लेकर किए जा रहे दावे गलत हैं।

webdunia

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IIMC को विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित करने का होगा प्रयास,वेबदुनिया से खास बातचीत में बोले नवनियुक्त महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी