पान मुद्रा दूर करे आधे सिर का दर्द

इस हस्तमुद्रा को करते समय हाथों की आकृति पान (betel leaf) के समान बन जाती है इसीलिए इसे पान मुद्रा कहते हैं।
 
हस्त मुद्रा बनाने की विधि- दोनों हाथों की तर्जनी अंगुली को अंगूठे से इस तरह मिलाएं की बीच में पान की आकृति बन जाए। बाकी की बची हुई सारी अंगुलियां खुली रहेगी।
 
इसका लाभ- इस हस्तमुद्रा को करने से कुछ ही समय में सिर का दर्द और आधे सिर का दर्द बिल्कुल दूर हो जाता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पांच प्रमुख योग मुद्रा