Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कमर को पतला बनाने के लिए योग की मात्र 4 स्टेप

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share

अनिरुद्ध जोशी

सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (10:45 IST)
तोंद को कम करके कमर को छरहरा या पतला बनाने के लिए योग के मात्र 4 ऐसे स्टेप जिन्हें नियमित करने से बहुत ही तेजी से लाभ होगा और आपकी कमर पतली बन जाएगी। लेकिन इसे पहले आपको अत्यधिक भोजन और भोजन के अनियमित समय से बचना होगा यानि आपको भोजन का कोई निश्चित समय निर्धारित करके उतना ही भोजन करना है जितना की आप आसानी पचाने की क्षमता रखते हों। तो आओ जानते हैं योगा टिप्स।

 
स्टेप 1- कटि चक्रासन करें। सावधान मुद्रा में खड़े हो जाएं। फिर दोनों होथों को कमर पर रखकर कमर से पीछे की ओर जहां तक संभव हो झुककर वहां रुकें। अब सांस की गति सामान्य रखकर आंखें बंद कर लें और कुछ देर इसी पोजिशन में रुकने के बाद वापस आ जाएं। 4-5 बार दोनों ओर से इसका अभ्यास कर लें। 
 
स्टेप 2- इसके बाद पुन: सावधान मुद्रा में खड़े होकर दाएं हाथ को बाएं कंधे पर और बाएं हाथ को दाएं कंधे पर रखकर पहले दाईं ओर कमर से ‍पीछे की ओर मुड़ें। गर्दन को भी मोड़कर पीछे की ओर देखें। अब सांस की गति सामान्य रखकर आंखें बंद कर लें और कुछ देर इसी पोजिशन में रुकने के बाद वापस आ जाएं। 4-5 बार दोनों ओर से इसका अभ्यास कर लें। इसी तरह बाईं ओर मुड़कर करें।
 
स्टेप 3- सावधान मुद्रा में खड़े होकर फिर हथेलियों को पलटकर हाथों को ऊपर उठाकर समानांतर क्रम में सीधा कर लें। सांस लेते हुए कमर को बाईं ओर झुकाएं। इसमें हाथ भी साथ-साथ बाईं ओर चले जाएंगे। अधिक से अधिक कमर झुकाकर वहां रुकें। अब सांस की गति सामान्य रखकर आंखें बंद कर लें और कुछ देर इसी पोजिशन में रुकने के बाद वापस आ जाएं। 4-5 बार दोनों ओर से इसका अभ्यास कर लें। 
 
स्टेप 4- शवासन में लेटकर पहले दोनों होथ समानांतर क्रम में फैला लें। फिर दाएं पैर को बाईं ओर ले जाएं और गर्दन को मोड़कर दाईं ओर देखें। फिर इसी क्रम में इसका विपरित करें। 4-5 बार दोनों ओर से इसका अभ्यास कर लें।  
 
इसके लाभ : यह योग कमर की चर्बी को कम करता है। इसके अलावा यह कब्ज व गैस की प्रॉब्लम दूर करके किडनी, लीवर, आंतों व पैन्क्रियाज को भी स्वस्थ बनाए रखने में सक्षम हैं।
 
योगा पैकेज : उक्त स्टेप के अलावा आप चाहें तो वृक्षासन, ताड़ासन, त्रिकोणासन, पादस्तासन, आंजनेय आसन और विरभद्रासन भी कर सकते हैं। लेकिन किसी योग शिक्षक की सलाह अनुसार इसके क्रम और विलोम आसन को समझते हुए।
 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
हुकूमत को अब गिलहरियों की हलचल से भी ख़तरा!