पहेलियाँ ही पहेलियाँ

Webdunia
बृजमोहन गोस्वामी

1. तुम न बुलाओ मैं आ जाऊँगी,
न भाड़ा न किराया दूँगी,
घर के हर कमरे में रहूँगी,
पकड़ न मुझको तुम पाओगे,
मेरे बिन तुम न रह पाओगे,
बताओ मैं कौन हूँ?

2. गर्मी में तुम मुझको खाते,
मुझको पीना हरदम चाहते,
मुझसे प्यार बहुत करते हो,
पर भाप बनूँ तो डरते भी हो।

3. मुझमें भार सदा ही रहता,
जगह घेरना मुझको आता,
हर वस्तु से गहरा रिश्ता,
हर जगह मैं पाया जाता

4. ऊपर से नीचे बहता हूँ,
हर बर्तन को अपनाता हूँ,
देखो मुझको गिरा न देना
वरना कठिन हो जाएगा भरना।

5. लोहा खींचू ऐसी ताकत है,
पर रबड़ मुझे हराता है,
खोई सूई मैं पा लेता हूँ,
मेरा खेल निराला है।

उत्तर : 1. हवा 2. पानी 3. गैस 4.द्रव्य 5. चुंबक 6. काँच

जो लोग अकेले रहने का दम रखते हैं, ये 9 गुण केवल उन्हीं में हो सकते हैं

कब्ज का अचूक इलाज हैं यह 10 घरेलू उपाय

इन 5 तरीकों से होता है दिमाग तेज

श्री बजरंग बाण का पाठ

श्री हनुमान चालीसा

वजन घटाने के लिए यह Detox Water है बेहद फायदेमंद, जरूर करें Try

चुकंदर : ठंडे मौसम में बनाता है स्वस्थ और सुंदर

क्या आपको भी है ठंड की एलर्जी, बचाएंगी यह 5 चीजें

क्यों झड़ते हैं सर्दियों में बाल, जानिए इसके 10 कारण

सर्दी में लौंग की चाय पीने से मिलते हैं 5 बेहतरीन सेहत लाभ, जरूर जानें

पूर्णिमा पर गाय के दूध से बनी शाही खीर से लगाएं देवता को भोग

महात्मा गांधी के रोचक और शिक्षाप्रद 4 प्रसंग, यहां पढ़ें

त्वरित टिप्पणी : इस आंदोलन का महात्मा गांधी कौन है?

28 जनवरी : होनहार भारत-भक्त लाला लाजपत राय की जयंती

Vastu Tips for Kids Room : कैसा हो बच्चों का कमरा, जानिए 10 खास बातें