अनिरुद्ध जोशी

ज्योतिष, धर्म और योग के अलावा समसामयिक विषयों पर लेखन
यदि आपने इस श्राद्ध में पिण्डदान नहीं किया है जो सर्वपितृ अमावस्या पर कर सकते हैं।
यह बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न है। हिन्दू धर्म के अनुसार कर्मों की गति के अनुसार व्यक्ति को दूसरी योनी मिलती है। यदि किसी...
वैसे तो श्राद्ध कर्म या तर्पण करने के भारत में कई स्थान है, लेकिन पवित्र फल्गु नदी के तट पर बसे प्राचीन गया शहर की देश...
हिन्दुओं के प्रमुख 10 नियमों में से एक है श्राद्ध करना। ये 10 नियम हैं- ईश्वर प्राणिधान, संध्या वंदन, श्रावण माह व्रत, तीर्थ...
वेदों के पितृयज्ञ को ही पुराणों में विस्तार मिला और उसे श्राद्ध कहा जाने लगा। पितृपक्ष तो आदिकाल से ही रहता आया है, लेकिन...
जब कोई देह छोड़ता है तो वह उसके कर्मों के अनुसार कई तरह की संभावनाएं बनती है। पहला यह कि वह अन्य योनी धारण कर लेता है,...
घर में अपने मृतकों के चित्र कहां लगाएं और कहां नहीं लगाएं इस संबंध में वास्तु शास्त्र में स्पष्ट उल्लेख मिलता है। गलत...
हमारे पितृ या पूर्वज कई प्रकार के होते हैं। उनमें से बहुतों ने तो दूसरा जन्म ले लिया और बहुतों ने पितृलोक में स्थान प्राप्त...
हमारे पितृ या पूर्वज कई प्रकार के होते हैं। उनमें से बहुतों ने तो दूसरा जन्म ले लिया और बहुतों ने पितृलोक में स्थान प्राप्त...
हमारे पितृ या पूर्वज कई प्रकार के होते हैं। उनमें से बहुतों ने तो दूसरा जन्म ले लिया और बहुतों ने पितृलोक में स्थान प्राप्त...
आप यह तो जानते ही हैं कि किसी भी तालाब, नदी या समंदर के आसपास भूमि होती है तभी तो उसमें जल संवरक्षित हो पाता है। जैसे हिंद...
समुद्र को सागर, पयोधि, उदधि, पारावार, नदीश, जलधि, सिंधु, रत्नाकर, वारिधि आदि नामों से भी पुकारा जाता है। अंग्रेसी में इसे...
स्तनधारियों का युग : .....लेकिन तभी बाजी पलट गई। साढ़े छह करोड़ साल पहले करीब 10 किलोमीटर लंबी चौड़ी उल्लापिंड धरती से टकराई...
अब तक हुई वैज्ञानिक खोजों के अनुसार ब्रह्मांड अपनी उत्पत्ति के काल से अब तक फैल रहा है और फैलता ही जा रहा है। बिग बैंग...
क्या कभी कोई एवेल्यूशन थ्योरी पर सवाल उठाता नहीं है। स्कूल और कॉलेजों में अभी भी वही थ्योरी पढ़ाई जाती है जिस पर अब वर्तमान...
एस्टेरॉयड को हिन्दी में उल्कापिंड कहते हैं। हमारे सौरमंडल में ऐसी लाखों छोटी-बड़ी चट्टाने हैं, जो सूर्य की परिक्रमा...
गति ने ही मानव का जीवन बदला है और गति ही बदल रही है। बैलगाड़ी और घोड़े से उतरकर व्यक्ति साइकल पर सवार हुआ। फिर बाइक पर...
विश्वकर्मा एक महान ऋषि और ब्रह्ममानी थे। ऋग्वेद में उनका उल्लेख मिलता है। कहते हैं कि उन्होंने ही देवताओं की घर, नगर,...
लाल किताब के अनुसार पितृ दोष और पितृ ऋण से पीड़ित कुंडली शापित कुंडली कही जाती है। ऐसा व्यक्ति अपने मातृपक्ष अर्थात...
तृ दोष के कई कारण और प्रकार होते हैं। पूर्वजों के कारण वंशजों को किसी प्रकार का कष्ट ही पितृदोष माना गया है ऐसा नहीं...
अगला लेख Author|अनिरुद्ध जोशी|Webdunia Hindi Page 2