बिना पेट्रोल के 156 किलोमीटर दौड़ेगी यह धमाकेदार बाइक, एक क्लिक पर बदल सकेंगे साउंट, बिना चाबी के होगी स्टार्ट

मंगलवार, 18 जून 2019 (18:13 IST)
ऑटोमोबाइल सेक्टर में भी इलेक्ट्रिक वाहनों का क्रेज बढ़ता जा रहा है। अभी तक बाजार में स्कूटर के सैगमेंट में ही इलेक्ट्रिक बाइक्स आ रही थीं, लेकिन अब Revolt Intellicorp ने भी अपनी पहली इलेक्ट्रिक बाइक RV400 लाने का ऐलान कर दिया है। कंपनी ने इसकी पहली झलक भी दिखाई। कंपनी का दावा है यह बाइक एक बार चार्ज करने पर 156 किलोमीटर तक चलेगी।
 
खबरों के अनुसार इस इलेक्ट्रिक बाइक की प्री-बुकिंग 25 जून 2019 से शुरू होगी। बाइक खरीदने के इच्छुक लोग रिवोल्ट मोटर्स की आधारिक वेबसाइट और अमेजन के जरिए प्री-बुकिंग करा सकते हैं। प्री-बुकिंग शुरू होने का बाद अगले चार महीनों बाइक की फाइनल लॉन्चिंग दिल्ली-एनसीआर, पुणे, बेंगलुरु, हैदराबाद, नागपुर, अहमदाबाद और चेन्नई में की जाएगी। कंपनी के अनुसार बाइक की बैटरी 4 घंटे में पूरी तरह से चार्ज हो जाती है।
चार्जिंग की परेशानी को देखते हुए बाइक पोर्टेबल बैटरी दी गई है। इसे आप मोबाइल की बैटरी की तरह चार्ज कर सकते हैं। बैटरी को चार्ज करने के लिए चार्जर भी साथ दिया गया है।

आप अपनी बाइक से बैट्री को निकालकर अपने ऑफिस ले जा सकते हैं और इसे चार्ज करके आसानी से फिर से अपनी बाइक में लगा सकते हैं। हालांकि कंपनी ने इसकी कीमत का खुलासा नहीं किया है।
 
कंपनी ने चार्जिंग की समस्या का समाधान करने के लिए कई पेट्रोल पंपों पर मोबाइल स्वैपिंग स्टेशन बनाए हैं। रिवोल्ट ऐप की मदद से अपने नजदीकी मोबाइल स्वैपिंग स्टेशन की तलाश कर सकते हैं। इसके बाद एक क्यूआर कोड स्कैन करके आप बैटरी स्वैपिंग के लिए बुकिंग कर सकते हैं। इसके बाद कन्फर्म कर सकते हैं।
कंपनी के मुताबिक बाइक में 4 प्रकार के साउंड के साथ प्रीलोडेड है। रिवोल्ट ऐप के जरिए एक क्लिक पर बाइक का साउंड बदला जा सकता है। इसके अलावा मोबाइल के रिंगटोन की तरह आप ऐप के जरिए कोई भी साउंड डाउनलोड करके उसे अपनी बाइकटोन बना सकते हैं।
 
कंपनी ने इलेक्ट्रिक स्टार्ट से एक कदम आगे बढ़ते हुए इस बाइक को स्टार्ट इलेक्ट्रिक मॉडल पर पेश किया है। आप ऐप से बिना चाबी के बाइक को स्टार्ट कर सकते हैं। खास बात यह है कि ऐप पर बाइक की सभी राइड की हिस्ट्री उपलब्ध होगी। यानी आप जान सकते हैं कि बाइक कब और कहां गई है और इस समय कहां पर है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मोदी सरकार की अब भ्रष्टाचार पर सर्जिकल स्ट्राइक, 15 अधिकारियों को घर भेजा