Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

नो टाइम टू डाय से लेकर डॉक्टर नो तक : जानिए 60 वर्षों में बनीं 25 जेम्स बॉन्ड सीरिज की सभी फिल्मों के बारे में

नो टाइम टू डाय जेम्स बांड सीरिज की 25 वीं फिल्म है। 1962 में बनी डॉक्टर नो से शुरुआत हुई थी। इतने सालों के बाद भी जेम्स बॉन्ड की लोकप्रियता में रत्ती भर भी कमी नहीं आई है।

webdunia
सोमवार, 27 सितम्बर 2021 (07:44 IST)
जेम्स बांड एक काल्पनिक ब्रिटिश सीक्रेट सर्विस एजेंट हैं। ब्रिटिश पत्रकार और लेखक इयान फ्लेमिंग ने 1952 में जेम्स बांड का किरदार रचकर उपन्यासों की रचना की। 1964 में फ्लेमिंग की मौत के बाद अन्य लेखकों ने जेम्स बांड के किरदार के कारनामों पर आधारित अन्य उपन्यास लिखे जिन पर अब तक कुल 25 फिल्में बन चुकी हैं। 
 
जेम्स बांड एक लंबा, चुस्त, खूबसूरत और चतुर सीक्रेट एजेंट है। उम्र तीस से चालीस के बीच। उसे कुछ बुरी आदतें भी हैं, जैसे शराब पीना, स्मोकिंग, जुआ खेलना। महिलाओं में खास रूचि है। जेम्स बांड नई तकनीक का भरपूर उपयोग करता है और ऑटोमोबाइल में एडवांस गाड़ियां उसका शौक हैं। 
 
जेम्स बांड शार्प शूटर और गजब का निशानेबाज है। बिना हथियार के भी वह दुश्मन पर भारी पड़ता है और गजब की फाइटिंग करता है। स्कींग, स्वीमिंग और गोल्फ उसके अन्य शौक है। बांड को हत्या करने में कोई झिझक नहीं है, लेकिन वह तभी लोगों को मारता है जब उसे ऐसे ऑर्डर दिए जाएं या खुद की सुरक्षा करनी हो या बदला लेना हो। बात करते हैं जेम्स बांड पर आधारित 25 फिल्मों की। 
 
1) डॉक्टर नो (1962) 
जेम्स बांड को लेकर सबसे पहली फिल्म साल 1962 में बनी थी। इयान प्रोडक्शन के तले बनी इस फिल्म का नाम 'डॉक्टर नो' था। डॉक्टर नो एक ब्रिटिश जासूसी फिल्म थी जिसमें शॉन कॉनरी की मुख्य भूमिका थी। यह पहली जेम्स बांड फिल्म थी जो इयान फ्लेमिंग के पहले इसी नाम के उपन्यास पर आधारित थी। इस फिल्म में बांड को उसके साथी एजेंट के गायब जाने की जांच करने के लिए जमैका भेजा जाता है। अपने साथी की खोज में गया बांड, डॉक्टर नो के अंडरग्राउंड अड्डे पर पहुंच जाता है। डॉक्टर नो अमेरिका के एक स्पेस प्रोग्राम को रेडियो बीम हथियार से बर्बाद करने की योजना बना रहा है। जहां फिल्म की रिलीज के बाद समीक्षा मिश्रित थी, लेकिन इसे जेम्स बांड सीरिज की बेहतरीन फिल्मों में से एक माना जाता है। इस फिल्म के बाद जेम्स बांड सीरिज में इस किरदार और फिल्म की कुछ स्टाइल हमेशा के लिए पक्के हो गए। फिल्म की शुरुआत किरदार के बारे में बताते हुए की जाती है जिसमें पर्दे पर एक गन दिखाई देती है। इसके बाद पर्दे पर फिल्म का टाइटल उभरता है। 
 
2) फ्रॉम रशिया विद लव (1963) 
फ्रॉम रशिया विद लव जेम्स बांड सीरिज की दूसरी फिल्म थी, जिसे इयान प्रोडक्शन के तले बनाया गया था। फिल्म में एक बार फिर शॉन कॉनरी बांड बने। फिल्म इयान फ्लेमिंग के 1957 में पब्लिश हुए इसी नाम के उपन्यास पर आधारित थी। इस फिल्म में जेम्स बांड सोवियत कांसुलेट क्लर्क टाटिआना रोमानोवा के तुर्की से भाग निकलने में मदद करने जाता है। यहीं स्पेक्टर बांड की हत्या करके डॉक्टर नो की मौत का बदला लेने की योजना बनाता है। अमेरिका में डॉक्टर नो की सफलता के बाद, जेम्स बांड सीरिज की दूसरी फिल्म बनाने पर सहमति बनी। इस फिल्म के लिए बजट को दोगुना कर दिया गया। तुर्की के दृश्यों की शुटिंग बकिंघमशायर के पाइनवुड स्टूडियो और स्कॉटलेंड में की गई थी। फिल्म समीक्षकों और दर्शकों द्वारा जबरदस्त पसंद की गई। इस फिल्म ने कमाई के मामले में पहली फिल्म को काफी पीछे छोड़ दिया।
 
3) गोल्डफिंगर (1964) 
​जेम्स बांड सीरिज की तीसरी फिल्म गोल्डफिंगर में शॉन कॉनरी की मुख्य भूमिका थी। यह फिल्म भी इयान फ्लेमिंग के इसी नाम के उपन्यास पर आधारित थी। फिल्म में ऑनर ब्लैकमैन बांड गर्ल पुसी गैलोर और गर्ट फ्रोब औरिक गोल्डफिंगर बने थे। इस फिल्म में बांड,   गोल्ड मैग्नेट औरिक गोल्डफिंगर द्वारा की जा रही सोने की स्मगलिंग की जांच करता है। इसी दौरान वह गोल्डफिंगर के सोना संग्रहित करने की जगह को बर्बाद करने के प्लान का पता लगाता है। यह फिल्म पिछली दोनों फिल्मों के बजट को जोड़ने के बाद बनाई गई थी और बहुत बड़ी हिट बनकर उभरी। इस फिल्म में इस्तेमाल किए गए सामान बांड की पहचान बन गए और अगली कई फिल्मों में इस्तेमाल किए गए। फिल्म की सबसे बड़ी खासियत इसे एकेडमी अवॉर्ड का मिलना था। फिल्म ने अपनी लागत दो सप्ताह में ही वसूल ली। 
 
4) थंडरबॉल (1965) 
थंडरबॉल जेम्स बांड सीरिज की चौथी फिल्म है और इसमें भी शॉन कॉनरी एमआई6 एजेंट जेम्स बांड बने थे। फिल्म इसी नाम के उपन्यास पर आधारित थी। इस फिल्म में बांड स्पेक्टर द्वारा चुराए गए नाटो के दो एटम बम खोजने के मिशन पर निकलता है। इन बम के दम पर स्पेक्टर 100मिलियन पाउंड की राशि हीरों के रूप में मांग करता है। जिसके बदले में वह इंग्लैड और अमेरिका के बडे शहरों को नष्ट न करने का वादा करता है। इस खोज में बांड बाहमास पहुंच जाता है। यह फिल्म भी जबरदस्त सफल थी और इसने 141.2 मिलियन डॉलर की कमाई की। इसने कमाई में पिछली तीन बांड फिल्मों को पीछे छोड़ दिया। कुछ समीक्षकों ने इसे बेहतरीन फिल्म बताया वहीं अन्य ने इसे पुरानी फिल्मों के ढर्रे को दोहराने वाली फिल्म बताया।  
 
5) यू ओनली लिव ट्वाइस (1967) 
जेम्स बांड की पांचवी फिल्म यू ओनली लिव ट्वाइस में शॉन कॉनरी फिर एक  बार जेम्स बांड बने हालांकि इस फिल्म के दौरान कहा गया था कि यह बतौर बांड उनकी आखिरी फिल्म होगी परंतु वह 1971 में फिर जेम्स बांड बने। यह ऐसी पहली बांड फिल्म थी जो इयान  फ्लेमिंग के उपन्यास से हटकर बनाई गई थी। इसमें सिर्फ कुछ किरदार और जगह ही फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित थे। इस फिल्म में बांड को अमेरिका और सोवियत के स्पेसक्राफ्ट के रहस्यमय ढंग से गायब हो जाने के बाद जापान भेजा जाता है। जब सभी देश एक दूसरों को शीत युद्ध के लिए दोषी ठहरा रहे थे, तब बांड चुपके से जापान के एक सुदूर टापू पर पहुंच जाता है और यहां उसका सामना स्पेक्टर के प्रमुख अर्नेस्ट स्टावरो ब्लोफेल्ड से होता है। फिल्म ने जबरदस्त सफलता हासिल की और चारों तरफ से इसे सकारात्मक रिव्यू मिले। फिल्म की कुल कमाई 111 मिलियन डॉलर थी।  
webdunia

6) ऑन हर मैजिस्टीज सीक्रेट सर्विस (1969) 
जेम्स बांड सीरिज की छठी फिल्म के पहले ही शॉन कॉनरी ने रिटायरमेंट का फैसला कर लिया था। इसी नाम के इयान फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित इस फिल्म में एक नए अभिनेता और मॉडल जार्ज लैजनबाय को बांड की भूमिका निभाने का मौका मिला। फिल्म की शूटिंग के दौरान ही उन्होंने फैसला कर लिया था कि वह केवल एक बार ही बांड बनेंगे। फिल्म में बांड का सामना ब्लोफोल्ड से होता है जो विश्व की फूड सप्लाय को स्टरलाइज करने की धमकी देता है मगर उसकी मांग नहीं मानी जाती है। वह अपने गुनाहों के लिए अंतराष्ट्रीय माफी चाहता है, उसके टाइटल 'द काउंट दे ब्लेउचैंम्प' की मान्यता और आजादी से वह रहना चाहता है। यह एक अच्छी फिल्म साबित हुई परंतु पुरानी बांड फिल्मों की सफलता कायम न रख सकी। नए बांड के अभिनय पर भी राय में भिन्नता रही। 
 
7) डायमंड्स आर फॉरएवर (1971)
डायमंड्स आर फॉरएवर बांड सीरिज की सातवीं फिल्म थी और इसमें शॉन कॉनरी आखिरी बार बांड के रूप में नजर आएं। यह फिल्म भी इयान फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित थी जिसमें बांड एक डायमंड स्मगलर का रूप धरता है ताकि स्मगलिंग के रैकेट को खत्म किया जा सके। जल्दी ही बांड को पता चलता है कि उसका पुराना शत्रु अरनेस्ट स्टार्वो इन हीरो के इस्तेमाल से एक विशाल लेजर बना रहा है। बांड की इस फिल्म में अपने शत्रु से लड़ाई होती है जिसके बाद वह स्मगलिंग के इस रैकेट को खत्म कर वाशिंगटन डीसी पर खतरे का खात्मा कर देता है। यह फिल्म भी सफल रही परंतु इसे समीक्षकों से नकारात्मक रिव्यू मिले।
 
8) लिव एंड लेट डाय (1973)
लिव एंड लेट डाय जेम्स बांड सीरिज की आठवीं फिल्म थी। इसमें रोजर मूर ने सीन कॉनेरी की जगह ले ली थी हालांकि निर्माता सीन कॉनेरी को ही जेम्स बांड के किरदार में देखना चाहते थे। इयान फ्लेमिंग के ही उपन्यास पर बनी इस फिल्म में हार्लेम में रहने वाला ड्रग माफिया, जिसे मिस्टर बिग के नाम से जाना जाता था, दो टन हेरोइन मुफ्त में बांटने की योजना बनाता है जिससे इस बिजनेस में दूसरे माफिया बाजार से बाहर हो जाएं। फिल्म में इस माफिया को खत्म करने के मिशन पर बांड गैंगस्टर और वूडू जादू के चक्कर में फंस जाता है और कानांगा पहुंच जाता है जहां उसे तीन अन्य ब्रिटिश एजेंटों की मौत के पीछे के राज का भी पर्दा फाश करना है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जादू बिखेरने में कामयाब रही और एकेडमी अवॉर्ड के लिए नामांकित भी की गई।
 
9) द मैन विद द गोल्डन गन (1974)
द मैन विद द गोल्डन गन जैम्स बांड सीरिज की नौंवी फिल्म थी और रोजर मूर की जेम्स बांड के तौर पर दूसरी। यह फिल्म पूरी तरह से इयान फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित नहीं थी। इस फिल्म में बांड को सोलेक्स एगिटेटर (एक डिवाइस जो सूर्य की शक्ति को नियंत्रित कर इस्तेमाल कर सकता है) के लिए भेजा जाता है। इस मिशन पर बांड का सामना निर्मम हत्यारे फ्रांसिस्को कारामंगा से होता है जिसे 'द मैन विद द गोल्डन गन' के नाम से जाना जाता है। फिल्म को मिक्स रिव्यू मिले जहां विलेन के रूप मे क्रिस्टोफर ली का काम पसंद किया गया वहीं फिल्म को कम पसंद किया गया। इसे बांड सीरिज की सबसे खराब फिल्म कहा गया। फिल्म फायदे का सौदा साबित हुई और दर्शकों द्वारा पसंद की गई। यह बांड सीरिज की सबसे कम कमाई करने वाली चार फिल्मों में से एक बनी।
 
10) स्पाय हू लव्ड मी (1977)
स्पाय हू लव्ड मी बांड सीरिज की दसवी फिल्म थी जिसमें एक बार फिर रोजर मूर बांड की भूमिका में नजर आए। फिल्म का सिर्फ टाइटल फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित था। फिल्म में बांड का सामना पॉवर के लिए पागल कार्ल स्टोर्मबर्ग के साथ होता है जो दुनिया को तबाह कर समुद्र के नीचे एक नई दुनिया बसाने की फिराक में है। फिल्म को समीक्षकों द्वारा भी बहुत पसंद किया गया और फिल्म को तीन एकेडमी अवार्ड के लिए नामांकित किया गया। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी सफल रही।
webdunia

11) मूनरेकर (1979)
मूनरेकर बांड सीरिज की ग्यारवी फिल्म थी जिसमें चौथी बार रोजर मूर जेम्स बांड एमआई6 के एजेंट बने थे। फिल्म में बांड एक स्पेस शटल की चोरी की जांच करता है जिसके दौरान उसकी मुलाकात हुगो ड्रेक्स (शटल बनाने वाली कंपनी के मालिक) से होती है। स्पेस वैज्ञानिक डॉक्टर होली गूडहेड के साथ बांड कैलीफोर्निया से वेनिस, रियो डे जेनेरियो और एमैजेन रैनफोरेस्ट और आखिर में आउटर स्पेस जाकर दुनिया की आबादी खत्म करने की योजना को रोकता है। यह काफी महंगी फिल्म थी और इसे मिक्सड रिव्यू हासिल हुए। फिल्म के दृश्यों की भरपूर तारीफ हुई और फिल्म अब तक की (1979 तक) सभी बांड फिल्मों में सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म बनी। फिल्म का कुल बिजनेस 210,300,000 डॉलर था।
 
12) फॉर यूअर आइज़ ओनली (1981)
फॉर यूअर आइज़ ओनली बांड सीरिज की बारहवीं फिल्म थी जिसमें रोजर मूर पांचवी बार मुख्य किरदार थे। फिल्म का स्क्रीनप्ले रिचर्ड मैबूम और माइकल जी विल्सन के द्वारा तैयार किया गया था, जिन्होंने फ्लेमिंग की दो छोटी कहानियों को मिलाकर फिल्म की कहानी लिखी थी। फिल्म में बांड एक मिसाइल कमांड सिस्टम का पता लगाने की कोशिश करता है। इस दौरान वह धोखे के जाल में दुश्मन और ग्रीस के बिजनेसमैन द्वारा फंसा दिया जाता है। फिल्म को समीक्षकों के मिक्स रिव्यू मिले परंतु फिल्म एक और सफल बांड फिल्म साबित हुई। बॉक्स ऑफिस कमाई 195.3 मिलियन डॉलर रही।
 
13) ऑक्टोपसी (1983)
ऑक्टोपसी बांड सीरिज की तेरहवीं फिल्म थी जिसमें छठी बार रोजर मूर बांड के रूप में नजर आए। फिल्म का टाइटल फ्लेमिंग के शॉर्ट स्टोरी कलेक्शन ऑक्टोपसी पर आधारित था। फिल्म में बांड सोवियत रशिया के ऐसे जनरल को खोजने जाता है जो जवाहरात और एंटिक आयटम्स की चोरी करता है। इसी दौरान बांड की मुलाकात एक अमीर अफगान प्रिंस कमाल खान और उसके साथी ऑक्टोपसी से होती है। फिल्म में बांड यूरोप में न्यूक्लियर हथियार की मदद से की जाने वाली तख्तापलट की साजिश नाकाम करता है। इस बार फिल्म का निर्माण इयान प्रोडक्शन ने नहीं किया था।
 
14) ए व्यू टू किल (1985)
ए व्यू टू किल बांड सीरिज की चौदहवीं फिल्म है जिसमें रोजर मूर सातवीं और आखिरी बार जेम्स बांड की भूमिका में नजर आए। फिल्म का टाइटल इयान फ्लेमिंग की शॉर्ट स्टोरी 'फ्राम ए व्यू टू किल' पर आधारित था। फिल्म की कहानी पूरी तरह से मौलिक थी। फिल्म में बांड, मैक्स जोरिन को कैलीफोर्निया की सिलिकॉन वैली को खत्म करने से रोकने के मिशन पर निकलता है। हालांकि फिल्म को मिक्स रिव्यू हासिल हुए पर फिल्म का बॉक्स ऑफिस प्रदर्शन बेहतरीन था। इसे गोल्डन ग्लोब में सबसे अच्छे गाने की कैटेगरी में नामांकित किया गया था। फिल्म में क्रिटोफर वाल्केन विलेन के रूप में काफी पसंद किए गए।
 
15) द लिविंग डेलाइट्स (1987)
द लिविंग डेलाइट्स बांड सीरिज की पंद्रहवीं फिल्म थी जिसके साथ टिमोथी डॉल्टन जेम्स बांड के रूप में पर्दे पर नजर आए। फिल्म का टाइटल फ्लेमिंग की शॉर्ट स्टोरी पर आधारित था। इसके बाद फ्लेमिंग की रचनाओं पर आधारित टाइटल सीधे 2006 में प्रदर्शित हुई 'कसीनो रोयाल' का था। फिल्म में बांड सोवियत से निष्कासित जोर्जी कोस्कोव की रक्षा करता है। जोर्जी कोस्कोवे बांड को बताता है कि जनरल पुशकिन, केजीबी का प्रमुख, बड़ी चालाकी से अमेरिकन और ब्रिटिश एजेंटों की हत्या कर रहा है। बांड कोस्कोव का पीछा यूरोप, मोरोक्को और अफगानिस्तान में करता है। फिल्म समीक्षकों द्वारा बहुत पसंद की गई थी। बॉक्स ऑफिस पर फिल्म का प्रदर्शन बेहतरीन था और इसकी कुल कमाई 191.2 मिलियन डॉलर थी।
webdunia

16) लायसेंस टू किल (1989)
लायसेंस टू किल बांड सीरिज की सोलहवीं फिल्म थी। यह ऐसी पहली फिल्म थी जिसमें फ्लेमिंग के टाइटल का इस्तेमाल नहीं किया गया था। फिल्म में टिमोथी डॉल्टन दूसरी और आखिरी बार बांड के रूप में नजर आए। फिल्म में फ्लेमिंग की दो छोटी कहानियों के कुछ हिस्से लिए गए थे। फिल्म में बांड को एमआई6 से सस्पेंड कर दिया जाता है क्योंकि वह ड्रग माफिया फ्रांज़ सांचेज के पीछे जाता है। यह माफिया, बांड के दोस्त फेलिक्स लैटर पर हमला करवाने और उसकी पत्नी के रेप का दोषी है। फिल्म समीक्षकों द्वारा पसंद की गई। इसमें शामिल स्टंट को जबरदस्त तारीफ मिली। पुरानी फिल्मों की तुलना में इसमें बहुत ज्यादा हिंसा दिखाई गई थी। 
 
17) गोल्डन आई (1995)
बांड सीरिज की सत्रहवीं फिल्म गोल्डन आई थी जिसमें पियर्स ब्रॉसनन ने टिमोथी डॉल्टन की जगह ले ली थी। फिल्म में फ्लेमिंग की रचनाओं का बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं किया गया था। फिल्म में बांड, एमआई6 के एक एजेंट के नियंत्रण से बाहर हो जाने पर उसे कंट्रोल करने के मिशन पर होता है। यह एजेंट एक उपग्रह के लंदन में इस्तेमाल से वैश्विक आर्थिक समस्या फैलाने की फिराक में होता है। फिल्म ने 350.7 मिलियन अमेरिकी डॉलर का बिजनेस किया और इसे डॉल्टन की फिल्मों से बहुत बेहतर माना गया। कुछ समीक्षकों ने इस फिल्म को इस सीरिज का मॉर्डनाइजेशन करार दिया। फिल्म में नए बांड पियर्स ब्रॉसनन को बहुत पसंद किया गया।
 
18) टूमॉरो नेवर डाइज (1997)
बांड सीरिज की अठाहरवीं फिल्म टूमॉरो नेवर डाइज में दूसरी बार पियर्स ब्रॉसनन जेम्स बांड के रूप में नजर आए। इस फिल्म में पॉवर के नशे में धुत एक मीडिया प्रमुख की वर्ल्ड वॉर 3 शुरू कराने की कोशिशों को नाकाम करने के मिशन पर बांड निकलता है।
फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बहुत सफल रही और समीक्षकों के मिक्स रिव्यू के बावजूद गोल्डन ग्लोब के लिए नॉमिनेट की गई। इसकी कमाई पिछली फिल्म गोल्डनआई से अधिक थी।
 
19) द वर्ल्ड इज नॉट इनफ (1999)
पियर्स ब्रॉसनन तीसरी बार बांड सीरिज की उन्नीसवी फिल्म में जेम्स बांड बने। फिल्म का टाइटल 'हर मैजेस्टीज सीक्रेट सर्विस' में इस्तेमाल की गई एक लाइन पर आधारित था। फिल्म की कहानी एक अरबपति सर रॉबर्ट किंग की आतंकवादी रेनार्ड द्वारा की गई हत्या के आसपास घुमती है। बांड का मिशन फिल्म में सर रॉबर्ट किंग की बेटी इलेक्ट्रा की सुरक्षा है जिसे पहले भी फिरौती के लिए बंधक बनाया जा चुका था। इसी दौरान, बांड को ऐसी साजिश का पता लगता है जिसके तहत पानी में न्यूक्लियर तत्व फैलाकर पेट्रोलियम की कीमतों में इजाफे की योजना है। फिल्म को मिक्स रिव्यू मिले थे परंतु यह बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त सफल थी। फिल्म की कुल कमाई 361,832,400 डॉलर थी।
 
20) डाय अनदर डे (2002)
जेम्स बांड सीरिज की बीसवीं फिल्म डाय अनदर डे में पियर्स ब्रॉसनन आखिरी बार बांड के रूप में नजर आए। फिल्म में बांड एक खास मिशन पर नोर्थ कोरिया जाता है। यहां उसके साथ धोखा होता है और एक नोर्थ कोरियन कर्नल के कत्ल के बाद बांड को बंदी बना लिया जाता है। 14 महिनों के बाद बांड को क्रिमिनल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत छोडा जाता है। बांड को यकीन है कि ब्रिटिश सरकार में ही किसी ने उसके साथ धोखा किया है। बांड इस आदमी को पहचानने और बदला लेने के मिशन पर निकलता है और इसमें शामिल एक नोर्थ कोरियन एजेंट की हत्या करता है। फिल्म को समीक्षकों के मिक्स रिव्यू मिले फिर भी फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त कमाई की।
webdunia

21) कसीनो रोयाल (2006)
कसीनो रोयाल बांड सीरिज की इक्कीसवी फिल्म थी जिसमें डेनियल क्रेग ने पियर्स ब्रॉसनन का स्थान ले लिया था। एक बार फिर फिल्म फ्लेमिंग के इसी नाम के उपन्यास पर आधारित थी। कसीनो रोयाल बांड के शुरूआती दौर पर आधारित है जिसमें बांड हत्याओं के लिए लायसेंस लेने के दौर में है। माएमी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर एक आतंकवादी हमले को नाकाम करने के बाद, बांड को वेस्पर लायंड से मोहब्बत हो जाती है। वेस्पर लायंड पर बांड को धन मुहैया कराने की जिम्मेदारी है जिसके साथ पोकर खेलकर बांड आतंकवादियों को पैसा देने वाले के आदमी ले शिफ्रे को बैंकरप्ट कर सके। फिल्म में बहुत से बदलाव किए गए थे जिसमें बांड नया था पर अधिक कारगर था। समीक्षकों द्वारा फिल्म बहुत पसंद की गई और क्रेग को उनके रोल में जबरदस्त तारीफ मिली। फिल्म की कमाई बॉक्स ऑफिस 599 मिलियन डॉलर थी।
 
22) क्वाटंम ऑफ सोलेस (2008)
क्वाटंम ऑफ सोलेस बांड सीरिज की बाइसवीं फिल्म थी जिसमें डेनियल क्रेग दूसरी बार जेम्स बांड के रूप में नजर आए। इस फिल्म में बांड अपनी प्रेमिका वेस्पर लायंड की मौत का बदला लेने निकलता है जिसमें उसका साथ कैमाइल मोंटेस देती है। वह अपने परिवार की हत्या का बदला लेने की योजना बना रही है। बांड धनी बिजनेसमैन डॉमिनिक ग्रीन के पास पहंच जाता है जो क्वाटंम का सदस्य है। यह बोलिविया में पानी की सप्लाय पर नियंत्रण की योजना बना रहा है। फिल्म जबरदस्त हिंसा से भरी हुई थी और बांड सीरिज की सबसे अधिक मारधाड़ वाली फिल्म बनी। यह एक सफल फिल्म थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर 586 मिलियन डॉलर की कमाई की।
 
23) स्कायफॉल (2012)
जेम्स बांड सीरिज की तेइसवी फिल्म स्कायफॉल थी जिसमें डेनियल क्रेग ने तीसरी बार जेम्स बांड का किरदार निभाया। फिल्म की कहानी के अनुसार, जैम्स बांड एमआई6 पर हुए एक हमले की जांच कर रहा है। यह हमला एमआई6 की पूर्व एजेंट राउल सिल्वा की योजना का हिस्सा है। वह एम को उसके साथ धोखा देने के बदले में मरवाना चाहती है। फिल्म की इसके प्रीमियर के बाद अमेरिका और ब्रिटेन में जबरदस्त तारीफ हुई। फिल्म समीक्षकों द्वारा भी पसंद की गई। इसने बॉक्स ऑफिस पर 1000 मिलियन डॉलर की कमाई की। फिल्म को दो बाफ्टा, दो एकेडमी और दो ग्रेमी अवॉर्ड मिले।
 
24) स्पेक्टर (2015)
बांड सीरिज की चौबीसवीं फिल्म स्पेक्टर है जिसमें डेनियल क्रेग एक बार फिर जेम्स बांड बने हैं। फिल्म में जेम्स बांड का सामना वैश्विक  अपराधी संस्था स्पेक्टर के साथ है। फिल्म में बहुत से पुराने अहम किरदार एक बार फिर नजर आते हैं। फिल्म को इसकी लंबाई और लेखन को लेकर मिक्स रिव्यू मिले परंतु यह दर्शकों द्वारा पसंद की गई है। 'स्पेक्टर' में नया कुछ नहीं पेश करते हुए यह फिल्म जेम्स बांड के चिर-परिचित अंदाज या कहें कि इस सीरिज के फैंस को ध्यान में रखकर बनाई गई थी जो जेम्स बांड की हर फिल्म में उसका वही अंदाज देखना पसंद करते हैं। कार, चेज़िंग, स्टंट्स, वूमैन और वाइन इस फिल्म की भी खासियत थी, लेकिन कहानी के मामले में यह फिल्म थोड़ी कमजोर साबित होती है। फिल्म ने वर्ल्डवाइड 880.7 मिलियन डॉलर का बिजनेस किया। 
 
25) नो टाइम टू डाय (2021) 
जेम्स बांड सीरिज की 25वीं फिल्म 'नो टाइम टू डाय' में डेनियल क्रेग ने ही जेम्स बांड का किरदार निभाया है। क्रेग का कहना है कि वे पांचवीं और अंतिम बार जेम्स बांड का किरदार निभा रहे हैं। फिल्म का प्रोडक्शन इयान फिल्म ने किया है। लगभग 300 मिलियन डॉलर के बजट में तैयार इस फिल्म की रिलीज कोविड-19 के कारण अटकी रही। फिल्म में दिखाया गया है कि अर्न्स्ट स्टावरो ब्लोफेल्ड के कब्जे के पांच साल बाद, जेम्स बॉन्ड ने सक्रिय सेवा छोड़ दी है। उनके दोस्त और सीआईए अधिकारी फेलिक्स लीटर ने उनसे संपर्क किया, जो एक लापता वैज्ञानिक वाल्डो ओब्रुचेव की खोज में मदद चाहते हैं। जब यह स्पष्ट हो जाता है कि ओब्रुचेव का अपहरण कर लिया गया है, तो बॉन्ड को एक ऐसे खलनायक का सामना करना होगा जिसकी योजनाओं से लाखों लोगों की मौत हो सकती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ड्रग्स केस : अर्जुन रामपाल की गर्लफ्रेंड गैब्रिएला डेमेट्रिएड्स को एनसीबी ने फिर किया गिरफ्तार