छत्तीसगढ़ में दूसरे और अंतिम चरण का मतदान, होगा इन दिग्गजों के भाग्य का फैसला

* * छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण में पहले 2 घंटे में लगभग 14 प्रतिशत मतदान
* अब तक राजधानी रायपुर समेत 80 से अधिक जगहों से ईवीएम खराब होने की सूचनाएं मिली है।
* भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण की 72 विधानसभा सीटों पर पहले दो घंटे में लगभग 14 प्रतिशत मतदान हुआ है। राज्य में लगभग 50 से अधिक जगहों पर ईवीएम की खराबी की समस्या को छोड़कर मतदान जारी है।
* राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार पहले दो घंटे में सबसे अधिक 15 प्रतिशत मतदान दुर्ग जिले में हुआ है। 
* गरियाबन्द जिले की राजिम विधानसभा सीट पर इस दौरान 19 प्रतिशत तथा बिन्द्रनवागढ़ में 17 प्रतिशत मतदान हुआ है। सुरक्षा कारणों से बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के घुर नक्सल प्रभावित दो मतदान केन्द्रों पर मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ और शाम 3 बजे समाप्त हो जाएगा।
* मतदान केंद्रों पर लंबी-लंबी कतारें लगी हैं। महिलाओं एवं बुजुर्गों में भी मतदान के प्रति काफी उत्साह दिख रहा है। कई मतदान केन्द्रों पर व्हील चेयर की व्यवस्था की गई है। महिलाओं के लिए विशेष रूप से 118 संगवारी मतदान केन्द्र बनाए गए है, जिसमें मतदान दल के सभी सदस्य महिलाएं है।
 
* ईवीएम मशीनों की खराबी के कारण कई मतदान केंद्रों पर मतदान प्रभावित हुआ है। रायपुर ग्रामीण में 21 तथा भाटापारा में 8 मशीनों के खराब होने की सूचना है। 


बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष धर्मलाल कौशिक बिल्हा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतरे हैं।
* दूसरे चरण में जनता कांग्रेस छत्तीगसढ़ (जे) से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की भी परीक्षा होगी। 
* अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी कोटा सीट से चुनावी मैदान में उतरी हैं।
* रेणु जोगी कांग्रेस से विधायक थीं, रेणु का मुकाबला कांग्रेस नेता विभोर सिंह से है। 
* जोगी की बहू ऋचा जोगी बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर अकलतरा सीट से चुनाव मैदान में उतरी हैं। 
* विधानसभा चुनाव में अजीत जोगी की पार्टी ने मायावती की बहुजन समाज पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से गठबंधन किया है। 
* राज्य की कुल नब्बे विधानसभा सीटों में से अजीत जोगी की पार्टी 55 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।
* मायावती की पार्टी बहुजन समाज पार्टी 33 विधानसभा सीटों पर और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी 2 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। 
* बसपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश बचपई नवागढ़ से चुनावी मैदान में उतरे हैं।

* आज हो रहे चुनाव में राज्य में 10 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और अनुसूचित जनजाति के लिए 29 सीटें आरक्षित हैं।
* दूसरे चरण में सबसे अधिक उम्मीदवार रायपुर दक्षिण सीट से हैं। 46 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। 
* बिंद्रानवागढ़ में सबसे कम छह उम्मीदवार मैदान में उतरे हैं। दूसरे चरण में 19 विधानसभा में 16 से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में उतरे हैं, सभी जगहों पर दो से अधिक ईवीएम लगी हैं
* तीन विधानसभा क्षेत्र रायपुर-दक्षिण, रायपुर-पश्चिम, बिल्हा में उम्मीदवारों की संख्या 32 से अधिक होने के कारण तीन बैलेट यूनिट से मतदान हो रहा है। 
* रमन सरकार में कृषि मंत्रालय सहित कई विभागों का जिम्मा संभालने वाले कैबिनेट मंत्री बृजमोहन अग्रवाल रायपुर दक्षिण सीट से चुनावी मैदान में किस्मत अजमा रहे हैं।
* पीडब्लूडी सहित कई विभागों के कैबिनेट मंत्री राजेश मूणत रायपुर पश्चिम सीट से फिर चुनावी मैदान में उतरे हैं।
* कैबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे भिलाई नगर से चुनावी मैदान में उतरे हैं।

* कैबिनेट मंत्री अजय चंद्राकर कुरूद से चुनावी मैदान में उतरे हैं।
* कैबिनेट मंत्री भैयालाल राजवाड़े बैकुंठपुर से चुनावी मैदान में उतरे हैं। 
* कैबिनेट में गृहमंत्री का जिम्मा संभालने वाले रामसेवक पैकरा प्रतापरपुर सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं।
* कैबिनेट में मंत्री पुन्नूलाल मोहिले मुंगेली से चुनावी मैदान में उतरे हैं। 
* कैबिनेट मंत्री दयालदास बघेल नवागढ़ से चुनावी मैदान में उतरे हैं।
* खबरों के अनुसार, कवर्धा में ईवीएम में खराबी के चलते चार केंद्रों पर मतदान रोका गया है।

दूसरे चरण में कांग्रेस के दिग्गज चुनावी मैदान में : 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल पाटन से चुनावी मैदान में उतरे हैं। बघेल पिछली विधानसभा में भी पाटन से विधायक थे। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव अंबिकापुर से चुनावी मैदान में उतरे हैं। अंबिकापुर सिंहदेव  की पारंपरिक सीट है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष चरणदास महंत सक्ती से चुनावी मैदान में उतरे हैं। चरण दास महंत मुख्यमंत्री पद की दौड़ में भी शामिल हैं। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में अपने एकमात्र सांसद ताम्रध्वज साहू को दुर्ग ग्रामीण से टिकट देकर चुनाव  मैदान में उतारा है।

आज अजीत जोगी जोगी की प्रतिष्ठा दांव पर : 
जनता कांग्रेस छत्तीगसढ़ (जे) के सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी जोगी परिवार की पारंपरिक सीट मारवाही सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं। अब तक इस सीट से अमित जोगी विधायक थे। अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी जनता कांग्रेस से कोटा सीट से चुनावी मैदान में हैं। रेणु जोगी को कांग्रेस ने कोटा से टिकट नहीं दिया था, जिसके बाद रेणु जोगी अपने पति की पार्टी से चुनावी मैदान में उतरी हैं। अजीत जोगी की बहू ऋचा जोगी बसपा के टिकट पर अकलतरा सीट से चुनावी मैदान हैं। ऋचा जोगी को बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ाने का फैसला अजीत जोगी का बड़ा दांव माना जा रहा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में चार आतंकी ढेर, एक पैरा कमांडो शहीद