Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भोपाल में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 16 फीसदी के पार,महाराष्ट्र के बाद संक्रमण की रफ्तार सबसे तेज

मध्यप्रदेश के पांच शहरों में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी के पार

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
webdunia

विकास सिंह

गुरुवार, 25 मार्च 2021 (09:22 IST)
भोपाल। राजधानी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब खतरनाक स्तर तक पहुंच गई है। कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आए भोपाल में संक्रमण किस कदर तेजी से बढ़ रहा है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कोरोना पॉजिटिविटी रेट 16 फीसदी तक पहुंच गया है जो कि बेहद चिंताजनक है। देश में कोरोना की मार से सबसे बुरी तरह जूझ रहे महाराष्ट्र का पॉजिटिविटी रेट 18.35 फीसदी है जबकि भोपाल अब 16 फीसदी (15.95) पॉजिटिविटी रेट के बाद देश में दूसरे नंबर पर आ गया है।
बुधवार को भोपाल में 400 के करीब नए संक्रमित मरीज मिले है। वहीं संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बीते एक सप्ताह में दो हजार के पार पहुंच गया है। राजधानी भोपाल में बीते पंद्रह दिनों में संक्रमण की रफ्तार किस कदर बढ़ गई है इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि 11 मार्च को रोजधानी भोपाल में मात्र 58 केस सामने आए जो अब 400 के आंकड़े तक पहुंच गया  है। 

पिछले सात दिनों में इंदौर का पॉजिटिविटी रेट 8.47 प्रतिशत, भोपाल का 15.95 प्रतिशत हो गया है। इसी प्रकार बैतूल का पॉजिटिविटी रेट 14.32 प्रतिशत, जबलपुर का 7.46 प्रतिशत और खरगोन का 8.19 प्रतिशत दर्ज किया गया।
इंदौर में भी संक्रमित मरीजों की संख्या खतरनाक तरीके से बढ़ रही है। बुधवार को  इंदौर में एक दिन में 584 संक्रमित मरीज आने के बाद प्रशासन ने और सख्ती शुरु कर दी है। मार्च की शुरुआत में जहां इंदौर डेढ़ सौ के करीब मामले सामने आ रहे थे वह अब पांच सौ के आंकड़ों के पास तक पहुंचने लगा है। 

पिछले 7 दिन में प्रदेश के 10 शहरों में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे है। इंदौर में पिछले सात दिन में 317,भोपाल में 299,जबलपुर में 98,बैतूल में 38, रतलाम में 37, ग्वालियर में 36, उज्जैन में 30, सागर में 28, खरगोन में 27 और छिंदवाड़ा में 25 प्रकरण औसत रूप से प्रतिदिन दर्ज किए गए। 
 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
दिल्ली कैबिनेट का बड़ा फैसला, बिना नाम के घर-घर राशन पहुंचाएगी केजरीवाल सरकार