मध्यप्रदेश में 17 मई के बाद भी नहीं खत्म होगा Lockdown, शिवराज ने दिए संकेत

भोपाल। कोरोना संकट को लेकर अब मध्यप्रदेश में चौथे लॉकडाउन के संकेत मिलने लगे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभी मुख्यमंत्रियों के साथ की गई वीडियो कान्फ्रेंसिंग में कई राज्यों के मुख्यमंत्री लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में दिखाई दिए, वहीं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुझाव दिया कि प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने तथा अर्थव्यवस्था को दोबारा खड़े करने के उद्देश्य से चौथे लॉकडाउन का स्वरूप मिला-जुला हो। 
 
उन्होंने कहा कि संक्रमित क्षेत्र में पूरी सख्ती बरती जाए, वहीं अन्य क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों को सुचारू करने के उद्देश्य से छूट दी जाएं। रात्रिकालीन कर्फ्यू शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक यथावत रहे। धीरे-धीरे पब्लिक ट्रांसपोर्ट नियंत्रित रूप से प्रारंभ किए जाएं। सभी प्रकार के उत्सव प्रतिबंधित हों।
 
बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों को लॉकडाउन को लेकर अपने अपने स्तर पर निर्णय लेने की बात भी कही। इसके साथ बैठक में प्रधानमंत्री ने कोरोना के संक्रमण को कम करने के साथ आर्थिक गतिविधियों को लेकर राज्यों के साथ विस्तार से बातचीत की। बैठक में पीएम मोदी ने कोरोना के बाद नई जीवन शैली विकसित करने पर भी जोर दिया।
 
केन्द्र का निरंतर सहयोग : बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संकट में राज्यों को केन्द्र का निरंतर सहयोग मिल रहा है। केन्द्र द्वारा भेजी गई टीम अधिक संक्रमित क्षेत्रों में आई तथा उन्होंने महत्वपूर्ण मार्गदर्शन दिया है। मजदूरों को चलाई गई ट्रेन मजदूरों को वापस लाने में अत्यंत सहायक सिद्ध हुई हैं।
 
शिवराज के अनुसार मनरेगा में केन्द्र द्वारा भिजवाई गई 661 करोड़ की राशि तथा एच.डी.आर.एफ. की 910 करोड़ रूपए की राशि इस संकट के समय काफी सहायक सिद्ध हुई। प्रदेश में 16 लाख मजदूरों को मनरेगा में कार्य दिया गया है। प्रदेश में विभिन्न प्रकार की आर्थिक गतिविधियां प्रारंभ की गई हैं। उन्होंने मांग की कि एम.एस.एम.ई. उद्योगों के लिए राज्यों को पैकेज दिया जाए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख COVID-19 : रूस में समाप्त हुआ Lockdown, कुछ पाबंदियां रहेंगी जारी