बड़ी राहत : भोपाल, इंदौर,उज्जैन समेत रेड जोन जिलों में फंसे लोगों को ‘घरवापसी’ के लिए मिलेगा ई-पास

दूसरे राज्यों में कोरोना हॉटस्पॉट में फंसे लोग आ सकेंगे वापस

विकास सिंह

बुधवार, 6 मई 2020 (21:06 IST)
भोपाल। कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन में रेड जोन जिलों में फंसे लोगों के बड़ी राहत देने  वाली खबर आई है। मध्यप्रदेश के रेड जोन वाले जिलों में फंसे लोग अब अपने घर जा सकेंगे। सरकार ने ई-पास जारी करने संबंध नियमों में बदलाव करते हुए अब रेड जोन के जिलों जैसे भोपाल, इंदौर और उज्जैन में फंसे लोगों को अब ई-पास जारी करने के आदेश दे दिए है। 
 
मध्यप्रदेश में भोपाल, इंदौर, उज्जैन, धार, खंडवा, देवास, बड़वानी, ग्वालियर और जबलपुर जिले जो कोरोना के  रेड जोन में आते है वहां पर भी अब लोगों को ई-पास मिल सकेगा। अब तक इन जिलों में केवल मेडिकल इमरजेंसी और मृत्यु और विवाह के लिए ई-पास जारी किए जा रहे थे।  
 
गौरतलब है कि 25 मार्च से हुए लॉकडाउन के बाद इन जिलों में बड़ी संख्या में लोग विशेषकर छात्र और श्रद्धालु फंसे हुए है। भोपाल, इंदौर में बड़ी संख्या में दूसरे जिलों और राज्यों के स्टूडेंट फंसे हुए थे जिनको लंबे समय काफी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा था। कोरोना समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने अफसरों को राज्य से बाहर जाने के इच्छुक लोगों को भी अब ई-पास जारी करने के निर्देश दिए है।
इसके साथ ही उन्होंने अन्य राज्यों में हॉटस्पॉट जिलों में फंसे जो लोग मध्यप्रदेश लौटना चाहते है उन्हें भी ई-पास जारी किया जाए। इसके लिए दूसरे राज्य में फंसे लोग मैप आईटी पोर्टल पर वाहन पंजीयन क्रमांक सहित आवेदन कर सकेंगे। ऐसे ई-पास केवल एक बार अन्य राज्यों से मध्यप्रदेश में आने के लिए जारी होंगे। 
 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मुद्दे पर कहा है कि अब जबकि लॉकडाउन 17 मई तक चलना है तो ऐसे में लोगों को लंबे समय तक नहीं रोका जा सकता है इसलिए सभी प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए लोगों को चरणबद्ध तरीके से ई-पास जारी किया जाएगा जिससे कि अचानक से भीड़ न हो जाए। 
 
 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख दिल्ली पुलिस ने बॉयज लॉकर रूम के एडमिन को किया गिरफ्तार, 12वीं का है छात्र