Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Delhi Assembly Election Results 2020 : चुनाव परिणाम के बाद बोले संजय‍ सिंह, आतंकवादी नहीं हैं केजरीवाल

webdunia
मंगलवार, 11 फ़रवरी 2020 (14:25 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव की मंगलवार को हो रही मतगणना के शुरुआती रुझानों में आप की निर्णायक जीत के स्पष्ट संकेत मिलने पर आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के प्रचंड जनादेश ने साफ संदेश दिया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आतंकवादी नहीं बल्कि पक्के देशभक्त हैं।
 
सिंह ने कहा कि दिल्ली की सत्ता हासिल करने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत लगा दी लेकिन इस चुनावी जंग में 'दिल्ली का बेटा' जीत गया। उल्लेखनीय है कि मतगणना के शुरुआती 10 चरणों के रुझानों के आधार पर आप 57 और भाजपा 13 सीटों पर आगे चल रही है।
 
सिंह ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली के 2 करोड़ परिवारों के लोगों ने बता दिया कि उनका बेटा अरविंद केजरीवाल आतंकवादी नहीं, पक्का देशभक्त है। प्रचंड बहुमत से जीत देने के लिए दिल्ली की महान जनता को सिर झुकाकर शत-शत नमन!
 
उल्लेखनीय है कि भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने चुनाव प्रचार के दौरान एक रैली में केजरीवाल को शाहीनबाग में सीएए के विरोध में चल रहे आंदोलन का कथित तौर पर समर्थन करने का आरोप लगाते हुए उन्हें 'आतंकवादी' बता दिया था।
 
इस बीच सिंह ने पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने चुनाव जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी, लेकिन चुनाव में जीत मिली दिल्ली के बेटे को। दिल्ली वालों ने विकास के नाम पर वोट दिया।
 
कांग्रेस बोली, जनादेश स्वीकार, नवनिर्माण का संकल्प : दिल्ली विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त का सामना करने वाली कांग्रेस ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई देते हुए कहा कि वह जनादेश स्वीकार करती है और राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी के नवनिर्माण का संकल्प लेती है।
 
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने हार की नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार की और भाजपा एवं आम आदमी पार्टी पर ध्रुवीकरण का आरोप लगाया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जनता ने अपना जनादेश दे दिया। जनादेश कांग्रेस के विरुद्ध भी दिया है। हम कांग्रेस और डीपीसीसी की तरफ से इस जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करते हैं।
 
उन्होंने कहा कि हम निराश नहीं हैं। कांग्रेस को जमीनी स्तर पर और नए सिरे से मजबूत करने का संकल्प दृढ़ हुआ है। कांग्रेस के कार्यकर्ता और साथी का हम धन्यवाद करते हैं। हम नवनिर्माण का संकल्प लेते हैं।
 
सुरजेवाला ने कहा कि हम सजग विपक्ष के तौर पर दिल्ली के ढांचागत विकास और विभिन्न मुद्दों पर नजर भी रखेंगे और जनता की आवाज उठाते रहेंगे। सुभाष चोपड़ा ने कहा कि हम जनादेश के समक्ष सिर झुकाते हैं और केजरीवाल को मुबारकबाद देते हैं। कांग्रेस हारी है, लेकिन हताश नहीं है। हमने जनता के समक्ष अपने विचार रखे और 15 साल के कांग्रेस के शासन के विकास के बारे में जनता को बताया।
 
उन्होंने दावा किया कि दोनों पार्टियों ने ध्रुवीकरण करने की कोशिश की और कुछ हद तक वे कामयाब भी रहे। चोपड़ा ने कहा कि मैं पार्टी के कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता हूं। मैं इस हार की नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं। मैंने अपनी क्षमता के हिसाब से पूरा काम किया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Live Delhi Assembly Election Results 2020 : दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम 2020 : दलीय स्थिति