गणेश चतुर्थी के मुहूर्त के साथ यह भी जानिए किस समय बाहर न निकलें, चंद्रमा को भूलकर भी न देखें

Webdunia
हम श्री गणेश उत्सव की तैयारी में यह तो विशेष रूप से याद रखते हैं कि किस समय श्री गणेश की स्थापना करें, यानी गणेश स्थापना और पूजन के शुभ मुहूर्त क्या हैं, लेकिन इसके साथ ही कुछ और भी ध्यान रखना चाहिए।

यानी मुहूर्त के साथ ही एक और विशेष समय का ध्यान रखना चाहिए वह है चंद्र दर्शन से कैसे बचें। 
 
कौन से विशेष समय घर से बाहर झांकने से बचें ताकि चंद्र का दर्शन न हो। चतुर्थी के चंद्र जीवन में कलंक लगा सकते हैं। भगवान श्री कृष्ण भी इससे नहीं बच सके। उन्हें भी स्यमंतक मणि चुराने का कलंक लग चुका है। 
 
यहां प्रस्तुत हैं श्री गणेश स्थापना के शुभ मुहूर्त के साथ वह समय भी जब आपको आकाश में उदित चंद्रमा को देखने से बचना है। 
 
इस बार गणेश चतुर्थी वाले दिन बड़े शुभ संयोग बन रहे हैं। इस साल गणेश चतुर्थी का यह पर्व 13 सिंतबर से शुरू होकर 23 सितंबर तक चलेगा।
 
गणेश चतुर्थी पूजा का शुभ मुहूर्त
 
गणेश चतुर्थी 13 सितंबर 2018, गुरुवार को है।
 
23 सितंबर 2018, रविवार को अनंत चतुर्दशी है जिस दिन गणेश विसर्जन होगा।
 
मध्याह्न काल में गणेश पूजन का सर्वश्रेष्ठ समय :  11:03 से 13:30 तक।
 
 
तीज और गणेश चतुर्थी पर इस समय चंद्र देखने से बचें 
 
12 सितंबर 2018, बुधवार को चंद्र नहीं देखने का समय = 16:07 से 20:33 बजे तक।
 
13 सितंबर 2018, गुरुवार को चंद्र नहीं देखने का समय = 09:31 से 21:12 बजे तक।
 
 चतुर्थी तिथि आरंभ : 12 सितंबर 2018, बुधवार 16:07 बजे।
 
चतुर्थी तिथि समाप्त : 13 सितंबर 2018, गुरुवार 14:51 बजे।

अपनी राशि से जानिए वह कौन सी वजह है जो आपको आगे बढ़ने से रोक रही है

श्मशान से लौटते वक्त यह करेंगे तो संकटों से मुक्त हो जाएंगे

मीन राशि : साल 2019 में क्या होगा 12 महीनों का हाल, जानिए जनवरी से लेकर दिसंबर तक का भविष्यफल

जानिए क्या है आयुष्मान भारत योजना, कैसे मिलेगा आपको इसका लाभ

जानिए क्या है पैनिक अटैक? इसके संकेत और लक्षण

सम्बंधित जानकारी

आर्थिक तंगी दूर करना है तो पढ़ें ये चमत्कारिक 5 मंत्र, नया घर खरीदने की तमन्ना भी होगी पूरी

हर देवी-देवता का गायत्री मंत्र अलग होता है, पढ़ें 30 विशेष मंत्र

कर्ज देना हो या कर्ज लेना हो, इन 17 बातों का अवश्य रखें ध्यान, वरना होंगे परेशान

घर में होने वाले लड़ाई-झगड़ों से परेशान हैं ? तो आज ही शुरू करें ये चमत्कारिक उपाय...

बस एक चुटकी चावल बदल देंगे किस्मत, पढ़ें चावल के आश्चर्यजनक उपाय

प्रदोष-व्रत : शिवजी का सबसे पावन और अचूक व्रत, जानिए कैसे करें

बच्चों के कान कब और क्यों छिदवाना चाहिए, जानिए कर्ण-वेध संस्कार

23 अप्रैल 2019 का राशिफल और उपाय

23 अप्रैल 2019 : आपका जन्मदिन

23 अप्रैल 2019 के शुभ मुहूर्त

अगला लेख