अमेरिका ने मेक्सिको सीमा पार कर रहे शरणार्थियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े

सोमवार, 26 नवंबर 2018 (22:30 IST)
तिजुआना (मेक्सिको)। अमेरिकी एजेंटों ने मेक्सिको के तिजुआना में तारबंदी पर चढ़कर सीमा पार करने की कोशिश कर रहे सैकड़ों शरणार्थियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े।
 
 
कैलिफोर्निया के सैन डिएगो में 'अमेरिकी सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा (सीबीपी) कार्यालय' ने बताया कि घटना के बाद सैन सिदरो सीमा चौकी को उत्तर और दक्षिण दोनों ओर से वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। इसके अलावा पैदल यात्रियों के लिए भी मार्ग कई घंटों तक बंद रहा। सैन सिदरो सीमा चौकी अमेरिका और मेक्सिको सीमा पर स्थित सबसे व्यस्त क्रॉसिंग है।
 
इनमें अधिकतर शरणार्थी होंडुरास से हैं और उस काफिले का हिस्सा हैं जिसकी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कड़ी निंदा करते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्थिति के नियंत्रण से बाहर जाने और लोगों को चोट पहुंचने की स्थिति में मेक्सिको से लगी सभी सीमाएं बंद करने की धमकी देने के 3 दिन बाद यह कदम उठाया गया है।
 
मेक्सिको के गृहमंत्री अल्फोन्सो नाबारेट्टे ने तिजुआना से हिंसात्मक तरीके से सीमा पार करने की कोशिश करने वाले शरणार्थियों की निंदा करते हुए कहा कि उन्हें वापस भेजा जाएगा। मिलनियो टेलीविजन नेटवर्क पर उन्होंने कहा कि काफिले की मदद करने की बजाय वे उनको नुकसान पहुंचा रहे हैं।
 
ट्विटर पर वायरल हुए वीडियो में शरणार्थियों की भीड़ अमेरिका की ओर जाते नजर आ रही है जिसे वहां तैनात मेक्सिको पुलिस संभाल नहीं पाई। करीब 5,000 शरणार्थी अमेरिका में दाखिल होने के लिए तिजुआना में एकत्रित हो रहे थे। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING