Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

'चोरों' की गुलामी करने से अच्छा जिंदा न रहूं, अस्पताल से इमरान का संदेश

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 4 नवंबर 2022 (20:51 IST)
लाहौर। लाहौर के शौकत खानम अस्पताल में इलाज करवा रहे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मुझे हमले से एक दिन पहले पता चला कि गुजरात के वजीराबाद में उन्होंने मुझे मारने की योजना बनाई है। उन्होंने कहा कि मुझे चार गोलियां लगी थीं। उन्होंने कहा कि चोरों की गुलामी करने से अच्छा है मैं जिंदा न रहूं। 
 
इमरान खान ने अस्पताल से एक वीडियो जारी कर कहा कि मेरे घर के नौकरों को पैसे दिए गए, मेरी जासूसी करवाई गई। हमारी पार्टी के डोनर्स को धमकाया गया। ये लोग लोकतंत्र और कौम को तबाह कर रहे हैं। इन्होंने ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट का उल्लंघन किया गया। 
 
सत्तारूढ़ पार्टी पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए इमरान खान ने कहा कि ये लोग सबसे पार्टी के लीडर को कत्ल करने की कोशिश कर रहे हैं। इनको लगता है कि इमरान चला जाएगा तो पार्टी तितर-बितर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इन चोरों की गुलामी करने से अच्छा है जिंदा ही नहीं रहो। मैं फिर निकलूंगा यात्रा पर। पाकिस्तान इसलिए नहीं बना कि हम चोरों की गुलामी करें। 
 
सोची-समझी साजिश : दूसरी ओर, इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या की कोशिश एक सोची-समझी साजिश का हिस्सा है। साथ ही, आरोप लगाया कि पाकिस्तान की संघीय सरकार के तीन अधिकारी और सैन्य प्रतिष्ठान हमले के सरगना हैं।
 
खान (70) पर सरकार के खिलाफ एक मार्च के दौरान बृहस्पतिवार को पंजाब प्रांत में उनके कंटेनर-ट्रक पर हमला किया गया, जिसमें उनके पैर में गोली लगी। पाकिस्तान के पूर्व मंत्री एवं खान की पार्टी के वरिष्ठ सदस्य फवाद चौधरी ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि यह हमला एक सोची-समझी साजिश का हिस्सा है।
webdunia
उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि हमले के सरगना तीन मुख्य संदिग्ध हैं, जिनके नाम शहबाज शरीफ, राणा सनाउल्ला और मेजरल जनरल फैसल नसीर हैं। उन्हें पद से हटाए बगैर जांच में प्रगति होने की संभावना नहीं है। चौधरी ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व के साथ एक बैठक के दौरान चिकित्सिकों ने उन्हें खान की सर्जरी किए जाने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमले के पीछे एक से अधिक हमलावर शामिल थे।
 
दो और संदिग्ध गिरफ्तार : पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में पुलिस ने दो और संदिग्धों- वकास और साजिद बट को गिरफ्तार किया है। पुलिस का मानना है कि इन दोनों ने 20,000 पाकिस्तानी रुपए में पिस्तौल और कारतूस नवीद मोहम्मद बशीर नाम के हमलवार को बेची थी। चौधरी ने कहा कि पार्टी पंजाब प्रांत के पुलिस प्रमुख के कामकाज से संतुष्ट नहीं है और उन्हें शीघ्र हटाने की जरूरत है।
 
जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन : उन्होंने कहा कि ‘हकीकी आजादी’ प्रदर्शन में मध्यावधि चुनाव के लिए जोर दिया जाना जारी रहेगा। इस बीच, पाकिस्तान के विभिन्न शहरों में खान की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार की नमाज के बाद प्रदर्शन किए। प्रदर्शनकारियों ने व्यस्त मुरी रोड को बाधित कर दिया जो संघीय राजधानी इस्लामाबाद की ओर जाती है। फैजाबाद चौराहे पर उनकी पुलिस के साथ झड़प भी हुई।
 
इससे अलग, लाहौर में गवर्नर हाउस के बाहर भी प्रदर्शन हुए। खान की पार्टी के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री को लाहौर के शौकत खानम अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका ऑपरेशन किया गया और इसके बाद उनकी हालत स्थिर है। इस अस्पताल का निर्माण खान ने ही कराया था।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Gyanvapi Masjid Case : शिवलिंग के कार्बन डेटिंग परीक्षण से इनकार के फैसले को चुनौती