Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कभी अफगानिस्‍तान में ‘संचार मंत्री’ थे, आज जर्मनी में ‘पिज्‍जा ड‍िलीवरी’ कर चला रहे घर का खर्च

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 26 अगस्त 2021 (13:53 IST)
एक जमाना था जब सैयद अहमद शाह सआदत अफगानिस्तान में संचार मंत्री थे। लेकिन अब तालिबान के अफगानिस्‍तान पर कब्‍जे के बाद वे एक बार फ‍िर खबरों में आ गए हैं। उनके बारे में सोशल मीड‍िया में खूब पढा जा रहा है।

दरअसल, अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री सआदत जर्मनी के शहर Leipzig में फूड डिलीवरी बॉय की नौकरी कर रहे हैं। Leipziger Volkszeitung अखबार की रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वह जर्मनी में पिज्जा और दूसरे फूड की डिलीवरी कर अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताब‍िक सआदत 2018 तक अफगान सरकार में मंत्री थे। पिछले साल वह रिटायर हो गए और जर्मनी में चले गए। यहां कुछ दिनों तक उन्होंने अच्छी जिंदगी गुजारी लेकिन जब पैसे खत्म हो गए तो दिक्कतें शुरू हो गईं। फिलहाल सआदत पिज्जा डिलीवरी-बॉय की नौकरी करते हैं और इसी से उनका खर्च चलता है। वह शहर में अपनी साइकिल से घूमते हैं और लोगों के घर-घर जाकर खाना पहुंचाते हैं।

भविष्य में सआदत Telekom में काम करना चाहते हैं जो यूरोप की सबसे बड़ी टेलीकम्युनिकेशन्स कंपनी है। रिपोर्ट के अनुसार पूर्व मंत्री का कहना है, 'फिलहाल में एक बेहद साधारण जिंदगी बिता रहा हूं। मैं जर्मनी में सुरक्षित महसूस करता हूं। मैं Leipzig में अपने परिवार के साथ खुश हूं। मैं पैसे बचाकर जर्मन कोर्स करना चाहता हूं और आगे पढ़ना चाहता हूं।' उन्होंने कहा, 'मैंने कई नौकरियों के लिए आवेदन किया लेकिन कोई जवाब नहीं आया। मेरा सपना जर्मन टेलीकॉम कंपनी में काम करने का है।'

अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री के पास ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से दो मास्टर डिग्री हैं, पहली इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग और दूसरी संचार में। सआदत ने 13 देशों की 20 से ज्यादा कम्युनिकेशन से संबंधित फील्ड में काम किया है। उनके पास कम्युनिकेशन के क्षेत्र में काम करने का 23 साल का अनुभव है।

खबरों के मुताबिक वह अफगानिस्तान में संचार से संबंधित मुद्दों पर मदद करने के लिए वहां गए थे लेकिन अशरफ गनी के साथ मतभेदों के चलते उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। सआदत ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालातों पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और कहा कि उन्हें गनी सरकार के गिरने की आशंका थी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पिकनिक मनाने गई छात्रा से दोस्तों ने ही किया गैंगरेप, सहेली भी आरोपी