IPL के रोमांच से क्यों महरुम रह जाएंगे पाकिस्तान के दर्शक, जानिए पूरा मामला

शुक्रवार, 22 मार्च 2019 (22:19 IST)
नई दिल्ली। भारत के पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के देश में प्रसारण पर बैन लगाने के बाद पाकिस्तान ने भी दुनिया की चर्चित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ट्वंटी-20 टूर्नामेंट के पाकिस्तान में प्रसारण पर रोक लगा दी है। आईपीएल का 12वां संस्करण शनिवार से शुरू हो रहा है।
 
पाकिस्तान के सूचना प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने इसकी पुष्टि की है। पीएसएल लीग के भारत में आधिकारिक प्रसारणकर्ता डी स्पोर्ट ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट टूर्नामेंट के प्रसारण को भारत में विरोधस्वरूप बंद कर दिया था। भारतीय कंपनी आईएमजी रिलायंस ने भी पीएसएल के दुनियाभर में प्रसारण के करार को समाप्त कर दिया था जिसके कारण टूर्नामेंट के बीच में ही पीएसएल के अधिकारियों को नया प्रसारणकर्ता कंपनी तलाशनी पड़ी थी।
 
फवाद चौधरी ने पाकिस्तानी चैनल से कहा कि पीएसएल के मध्य में ही भारतीय कंपनी ने प्रसारण का करार समाप्त कर दिया था, ऐसे में हम भी पाकिस्तान में आईपीएल का प्रसारण नहीं दिखा सकते हैं। पाकिस्तानी मंत्री ने साथ ही भारतीय क्रिकेट टीम पर भी राजनीति करने का आरोप लगाया था।
 
वहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भी भारतीय क्रिकेट पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान मैच में सेना की कैप पहनने के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद में शिकायत कर दी थी। चौधरी ने कहा कि मेरा मानना है कि आईपीएल का प्रसारण पाकिस्तान में नहीं होना चाहिए और इससे भारतीय क्रिकेट का ही नुकसान होगा। हम दुनियाभर में क्रिकेट की ताकत हैं।
 
आईपीएल के 12वें संस्करण की शुरुआत गत चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच चैपॉक स्टेडियम में मैच से होगी। पाकिस्तान में आईपीएल को काफी पसंद किया जाता है और उसके बड़ी संख्या में प्रशंसक हैं, वहीं भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों की भी पाकिस्तान में काफी लोकप्रियता है।

हालांकि आतंकवाद के चलते दोनों देशों के रिश्तों में काफी कड़वाहट आई है। वर्ष 2008 में हुए मुंबई हमले के बाद से ही दोनों देशों के बीच कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख IPL 2019 : आईपीएल का दिलचस्प इतिहास