आईपीएल फाइनल की मेजबानी से हाथ धो सकता है चेन्नई, इस शहर में होगा चैम्पियन का फैसला

मंगलवार, 9 अप्रैल 2019 (18:10 IST)
नई दिल्ली। एमए चिदंबरम स्टेडियम के तीन बंद पड़े स्टैंड पुन: खोलने का मुद्दा नहीं सुलझने की स्थिति में चेन्नई इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सत्र के फाइनल की मेजबानी से हाथ धो सकता है, इस स्थिति में हैदराबाद को यह जिम्मा दिया जा सकता है।
 
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने चिदंबरम स्टेडियम विवाद के नहीं सुलझने की स्थिति में हैदराबाद और बेंगलुरु को चार प्लेऑफ मैचों की मेजबानी के लिए विकल्प रखा है। हैदराबाद में संभवत: पहला क्वालिफायर और फाइनल हो सकता है जबकि बेंगलुरु में दूसरा क्वालिफायर और एलिमिनेटर कराया जा सकता है।
 
बीसीसीआई के प्रशासकों की समिति (सीओए) और आईपीएल प्रबंधन ने सोमवार को इस मसले पर चर्चा की थी, बैठक में चेन्नई को यह मुद्दा सुलझाने के लिए कुछ और दिनों का समय दिया गया है।
 
गत चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स के पास फाइनल की मेजबानी का अधिकार है, वह इस मामले में सप्ताहांत तक अंतिम फैसला ले सकती है। चिदंबरम स्टेडियम पर मौजूदा सत्र में चेन्नई सुपरकिंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के अलावा दो और मैच खेले गए हैं लेकिन उस समय भी स्टैंड बंद थे। हालांकि आईपीएल की संचालन परिषद ने इस दौरान खाली पड़े इन स्टैंड्स को लेकर चिंता जताई थी।
 
सीओए प्रमुख विनोद राय ने क्रिकइंफो से कहा, चिंदबरम स्टेडियम में तीन स्टैंड बंद पड़े हैं। यदि वे इस मामले को सुलझा नहीं सकते हैं तो हम यहां फाइनल नहीं करा सकते हैं। ऐसे में हमारे पास हैदराबाद और बेंगलुरु विकल्प हैं।
 
चेन्नई नगर निगम ने वर्ष 2012 में आई, जे और के स्टैंडों में करीब 12 हजार सीटों की संख्या बढ़ाई थी, लेकिन इस काम में अनियमितताओं के कारण इसे बंद कर दिया गया। दिसंबर 2012 में भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे के लिए विशेष अनुमति के बाद केवल एक बार इन स्टैंडों को खोला गया था।
 
राय ने साथ ही बताया कि महिला आईपीएल के लीग चरण के प्रदर्शन मैचों को विशाखापट्नम में आयोजित किया जाएगा जबकि एकमात्र प्लेऑफ बेंगलुरु में हो सकता है। टूर्नामेंट का आखिरी कार्यक्रम भी जल्द जारी किया जाएगा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मिशेल स्टार्क ने क्यों बीमा कंपनी पर 9.4 करोड़ रुपए का मुकदमा ठोंका, जानिए कारण