IPL 2019 : हैदराबाद के पास कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ भी खुद को मजबूत करने का मौका

शनिवार, 20 अप्रैल 2019 (17:35 IST)
हैदराबाद। चेन्नई सुपरकिंग्स जैसी मजबूत टीम को हराने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज सनराइजर्स हैदराबाद रविवार को घरेलू मैदान पर कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ भी इसी लय को बरकरार रखने के लिए उतरेगी ताकि टीम आईपीएल टूर्नामेंट के अहम पड़ाव पर आकर अपनी स्थिति मजबूत कर सके।
 
हैदराबाद की टीम अभी 8 मैचों में 4 जीत और 4 हार के बाद 5वें पायदान पर है और उसकी कोशिश अब शीर्ष 4 में खुद को शामिल करने की है ताकि वह प्लेऑफ की उम्मीदें बनाए रख सके। वहीं कोलकाता के लिए स्थिति अब पेचीदा हो गई है, जो 9 मैचों में 4 जीत और 5 हार के बाद 8 अंक लेकर 6ठे नंबर पर है। दोनों ही टीमें अभी एक जैसी परिस्थितियों में हैं और उनके लिए बाकी बचे मैचों में अच्छा प्रदर्शन बहुत जरूरी हो गया है।
 
केकेआर की सबसे बड़ी समस्या इस बार उसके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी रही है। दिनेश कार्तिक की कप्तानी वाली टीम पिछले मैच में तालिका की सबसे निचले पायदान की टीम बेंगलोर से 10 रन से हार गई थी जबकि टीम के स्टार ऑलराउंडर आंद्रे रसेल ने मैच में 25 गेंदों में 9 छक्के जड़ते हुए 65 रन और नीतीश राणा ने नाबाद 85 रन की धुआधार पारियां खेलीं, लेकिन 214 रन के लक्ष्य के सामने उसके ओपनिंग क्रम के बल्लेबाजों ने संघर्ष नहीं किया।
 
क्रिस लिन, सुनील नारायण, शुभम गिल, रॉबिन उथप्पा कोलकाता के बढ़िया रन स्कोरर हैं लेकिन टीम काफी हद तक ऑलराउंडर रसेल पर निर्भर दिखाई दे रही है, जो टीम के शीर्ष स्कोरर भी हैं। अपनी उम्मीदें बरकरार रखने के लिए कोलकाता को खेल और खासकर गेंदबाजी में सुधार करना होगा जिसके गेंदबाजों ने बेंगलोर के खिलाफ 200 से अधिक रन लुटा दिए।
 
कोलकाता के लिए पिछले मैच में हैरी गुर्नी और प्रसिद्ध कृष्णा 42 और 52 रन लुटाकर सबसे महंगे साबित हुए थे, वहीं 'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप यादव को भी 59 रन पर 1 विकेट हाथ लगा। दूसरी ओर हैदराबाद तालिका की शीर्ष टीम चेन्नई को घरेलू मैदान पर हरा चुकी है और केकेआर के खिलाफ भी ऊंचे मनोबल के साथ उतरेगी।
 
टीम का गेंदबाजी क्रम काफी मजबूत है और खलील अहमद, संदीप शर्मा, शाहदाब नदीम, अफगान स्पिनर राशिद खान के अलावा ऑलराउंडर विजय शंकर तथा तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के रूप में टीम के पास 2 विश्व कप टीम के खिलाड़ी मौजूद हैं जिन्होंने चेन्नई को 132 पर रोक दिया था।
 
वहीं बल्लेबाजों में डेविड वॉर्नर, जॉनी बेयरस्टो, केन विलियम्सन उसके शीर्षक्रम के मजबूत बल्लेबाज हैं। चेन्नई के खिलाफ वॉर्नर और बेयरस्टो ने 50 और 61 रन की अर्द्धशतकीय पारियों से ही टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। टीम के पास संतुलित गेंदबाजी और बल्लेबाजी क्रम है जिसकी बदौलत वह किसी भी टीम को रोकने में सक्षम है। हालांकि उसे भी अपने खेल में निरंतरता दिखाने की जरूरत है। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आईपीएल मैच पर सट्टा लगाने के आरोप में 7 गिरफ्तार