Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

धोनी के बाद कौन होगा चेन्नई का कप्तान? 'रविंद्र जड़ेजा' उभर कर आया पहला नाम

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 16 सितम्बर 2021 (12:01 IST)
15 अगस्त 2020 को महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया लेकिन माही के फैंस के लिए राहत की बात यह थी कि वह अपने पसंदीदा खिलाड़ी को इस दौरान आईपीएल में देख कर चीयर करते रहे। हालांकि कोरोना के चलते स्टेडियम मेंं दर्शक माही को अब तक आईपीएल के पिछले दो सीजन में नहीं देख पाए हैं। लेकिन आईपीएल 2021 के दूसरे भाग में दर्शक माही को स्टेडियम में खेलते देख पाएंगे।

लेकिन सवाल यह है कि महेंद्र सिंह धोनी कबतक चेन्नई के साथ जुड़े रहेंगे। कम से कम 2022 तक तो वह टीम के कप्तान के तौर पर जुड़े रहेंगे। भविष्य के बारे में चेन्नई ने कई बार सोचा भी है। इसमें एक बार वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर डेवन ब्रावो का नाम भी सामने आया है। फिलहाल सूत्रों के मुताबिक रविंद्र जड़ेजा का नाम अब सबसे आगे है।

क्यों जड़ेजा ले सकते हैं धोनी की जगह

महेंद्र सिंह धोनी और जड़ेजा की दोस्ती किसी से छुपी नहीं है। एक कप्तान बनने के तौर पर खिलाड़ी को पहले खुद की जगह टीम में पक्की करनी पड़ती है। इस कारण जड़ेजा कप्तान के तौर पर फ्रैंचाइजी की पहली पसंद लग रहे हैं। क्योंकि जड़ेजा एक ऑलराउंडर है और एक ऑलराउंडर तब तक टीम से बाहर नहीं निकाला जाता जब तक वह गेंद और बल्ले दोनों से ही फ्लॉप ना हो।
webdunia

आईपीएल में ऐसा रहा है जड़ेजा का करियर लेकिन नहीं मिली कप्तानी

आईपीएल 2008 में रविंद्र जड़ेजा ने राजस्थान रॉयल्स की खिताबी जीत में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसके बाद उनके कप्तान शेन वॉर्न ने उनको रॉकस्टार की उपाधि दी थी। साल 2012 में चेन्नई सुपर किंग्स ने उनको सर्वाधिक 9.8 करोड़ में खरीद था। चेन्नई पर प्रतिबंध के समय वह गुजरात लॉन्स से जरूर जुड़े रहे लेकिन तब से वह चेन्नई में ही हैं। हालांकि इतने लंबे आईपीएल करियर में उनको कप्तानी नहीं मिली।

जड़ेजा के आईपीएल करियर की बात करें तो उन्होंने 191 मैचों में 26 की औसत से 2290 रन बनाए हैं। इसमें सिर्फ 2 अर्धशतक शामिल हैं क्योंकि जड़जा की बल्लेबाजी काफी नीचे आती है। वहीं गेदंबाजी में उन्होंने 30 की औसत से 120 विकेट लिए हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 16 रन देकर 5 विकेट लेने का है।

धोनी के बल्ले से जा रही है रंगत

 संन्यास लेने के बाद माही अपने फैंस की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर पाए हैं। आईपीएल 2020 में कुल 14 मैचों में महेंद्र सिंह धोनी महज 200 रन बना पाए थे। उन्होने कुल 16 चौके और 7 छक्के लगाए थे। फिर भी आईपीएल 2021 के लिए के लिए न केव रीटेन किया गया है, बल्कि कप्तान भी बनाए रखा।
webdunia

आईपीएल 2021 के पहले ही मैच में दिल्ली के आवेश खान ने उनको 0 पर बोल्ड कर दिया था। अभी तक खेले गए 7 मैचों में माही सिर्फ 37 रन बना पाए हैं। उनका बल्ला धीरे धीरे शांत होता जा रहा है। फैंस भी मानसिक तौर से इस बात के लिए तैयार है कि माही ज्यादा से ज्यादा एक सीजन और खेलते हुए दिख सकेंगे।

हालांकि बतौर कप्तान उन्होंने गजब की वापसी की है। आईपीएल 2020 में पहली बार प्लेऑफ की दौड़ से चेन्नई सुपर किंग्स बाहर हो गई थी लेकिन आईपीएल 2021 के पहले भाग के बाद चेन्नई सुपर किंग्स अंक तालिका में दूसरे स्थान पर काबिज है।(वेबदुनिया डेस्क)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ऑस्ट्रेलिया में खेली जाने वाली एशेज का बहिष्कार करेगी इंग्लैंड की पूरी टेस्ट टीम, यह है कारण