कहानी : बकरी की सहेलियां (दोस्ती की परख)

Webdunia
एक बार की बात है, एक बकरी थी। वो बहुत खुशी-खुशी अपने गांव में रहती थी। वो बहुत मिलनसार थी। बहुत सारी बकरियां उसकी सहेलियां थीं। उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। वो सभी से बात कर लेती थी और सभी को अपना दोस्त मान लेती थी।
 
सभी कुछ अच्छा चल रहा था। लेकिन एक बार वो बकरी बीमार पड़ी और इस कारण वह धीरे-धीरे कमजोर होने लगी इसलिए अब वो पूरा-पूरा दिन घर पर ही बिताने लेगी। बकरी ने जो खाना पहले से अपने लिए जमा करके रखा था, अब वो भी खत्म होते जा रहा था।
 
एक दिन उसकी कुछ बकरी सहेलियां उसका हाल-चाल पूछने उसके पास आईं, तब ये बकरी बड़ी खुश हुई। इसने सोचा कि अपनी सहेलियों से कुछ और दिनों के लिए वह खाना मंगवा लेगी। लेकिन वे बकरियां तो उससे मिलने के लिए अंदर आने से पहले ही उसके घर के बाहर रुक गईं और उसके आंगन में रखा उसका खाना घास-फूस खाने लगीं।
 
ये देखकर अब इस बकरी को बहुत बुरा लगा और समझ में आ गया कि उसने अपने जीवन में क्या गलती की? अब वो सोचने लगी कि काश! हर किसी को अपने जीवन का हिस्सा व दोस्त बनाने से पहले उसने उन्हें थोड़ा परख लिया होता है, तो अब इस बीमारी में उसकी मदद के लिए कोई तो होता।

ALSO READ: मांगो मत, ऊपर वाले को अपने हिसाब से देने दो

सम्बंधित जानकारी

व्रत के दिनों में कुट्टू का आटा खरीदने जा रहे हैं, तो बरतें 5 सावधानियां

सफर में होती हैं उल्टियां और मचलता है जी, तो इन 6 उपायों से मिलेगी राहत

आयुर्वेद के अनुसार जानिए, कैसे रंग-बिरंगे फूलों के पास कई बीमारियों का है इलाज

नीम के पत्ते हैं सेहत और सुंदरता के लिए रामबाण, जानिए अनगिनत फायदे

अगर रहती है कफ की समस्या, तो इन 5 चीजों को खाने से करें परहेज

Pushya Nakshatra 2019 Muhurat : पुष्य नक्षत्र के शुभ चौघड़िया मुहूर्त कौन से हैं

10 Facts About Pushya Nakshatra : नक्षत्रों का राजा है पुष्य, जानिए 10 खास बातें

Ahoi Ashtami Katha In Hindi : अहोई अष्टमी व्रत की पौराणिक कथा यहां पढ़ें

अहोई अष्टमी 2019 : ये 10 बातें अवश्य रखें याद, अहोई मां का बना रहेगा आशीर्वाद

Pushya Nakshatra : पुष्य नक्षत्र में करना चाहिए ये 6 प्रकार के काम, मिलता है समृद्धि का वरदान

अगला लेख