कोहली ने की शमी की तारीफ, बोले फिलहाल उसकी फिटनेस सर्वश्रेष्ठ है...

बुधवार, 23 जनवरी 2019 (17:19 IST)
नेपियर। कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की तारीफों के पुल बांधते हुए कहा कि चोटों से जूझने वाला यह गेंदबाज इस समय फिटनेस के मामले में सर्वश्रेष्ठ स्तर पर है। शमी को यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में 19 रन देकर तीन विकेट झटकने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया जिससे वे 100 वनडे विकेट झटकने वाले सबसे तेज भारतीय बन गए।


हालांकि ऐसा भी दौर रहा जिसमें वे पिछले साल ‘यो यो’ परीक्षण में विफल रहे और कुछ निजी मुद्दों में फंसे रहे। लेकिन शमी ने इन सबको पीछे छोड़ते हुए अपने 56वें मैच में 100 विकेट झटके। बुधवार को उन्होंने छह ओवर गेंदबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल और कोलिन मुनरो के विकेट चटकाए।

कोहली ने मैच के बाद कहा, तेज गेंदबाजी समूह का मानना है कि वे किसी भी टीम को पस्त कर सकते हैं। शमी को खुद की काबिलियत और अपनी फिटनेस पर भरोसा है, मैंने अपने करियर में उन्‍हें इससे ज्यादा फिट नहीं देखा। उन्‍होंने टेस्ट फार्म को वनडे क्रिकेट में भी जारी रखा। चोटों के अलावा 27 साल के इस गेंदबाज को पिछले साल अपनी पत्नी के घरेलू हिंसा के आरोपों का भी सामना करना पड़ा।

कोहली ने कहा, वे पिछले साल जून में अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट से पहले ‘यो यो’ फिटनेस परीक्षण में विफल हो गए थे। शमी की वापसी की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया से हुई जिसमें उन्होंने टेस्ट श्रृंखला के दौरान 16 विकेट चटकाए।

कोहली ने यहां बुधवार को भारत को मिली आठ विकेट की जीत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वे टीम के ऑल राउंड प्रयास से खुश थे। उन्होंने कहा, पिछले कुछ मैचों में यह हमारे संतुलित प्रदर्शन में से एक था। जब मैंने टॉस गंवाया तो मुझे लगा कि स्कोर 300 रन से ज्यादा जाएगा, लेकिन इस विकेट पर 150 के करीब रन शानदार रहे। भारत के लिए कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव सबसे सफल गेंदबाज रहे, जिन्होंने 10 ओवर में 39 रन देकर चार विकेट झटके जबकि युजवेंद्र चहल और केदार जाधव ने मिलकर तीन विकेट प्राप्त किए।

कोहली ने कहा, पारी के दूसरे हॉफ में पिच धीमी हो गई थी लेकिन पहले हॉफ में स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाजी की। कप्तान ने सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की भी तारीफ की जिन्होंने 156 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए नाबाद 75 रन बनाए। वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि उनकी टीम का यह सर्वश्रेष्ठ प्रयास नहीं था। उन्होंने कहा, यह हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रयास नहीं था। हमने भारत के अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की थी लेकिन वे बहुत ही बेहतरीन थे। सभी भारतीय गेंदबाजों ने योगदान दिया लेकिन हमें बेहतर होने की जरूतर है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख भारतीय भारोत्तोलक संजीता चानू का प्रतिबंध हटा, बोलीं- बेकसूर हूं मैं...