'वेबदुनिया' की खबर का असर, सतना के नयागांव में TI समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

भोपाल। सतना के चित्रकूट में 5 साल के सगे मासूम भाइयों (प्रियांश और श्रेयांश) की दिनदहाड़े स्कूल बस से अपहरण कर हत्या करने के मामले में लापरवाह पुलिसकर्मियों पर बड़ी कार्रवाई हुई है। सतना एसपी ने नयागांव टीआई सहित 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। 
 
पूरे मामले की जांच में लापरवाही बरतने पर नयागांव थाना प्रभारी केपी त्रिपाठी, ट्रैफिक थाना प्रभारी सुधांशु तिवारी, प्रधान आरक्षक शिव प्रसाद बागरी, आरक्षक चंद्रकांत पांडेय पर कार्रवाई करते हुए सस्पेंड कर दिया है। 
 
ALSO READ: सतना अपहरण कांड, लापरवाह पुलिस अफसरों पर होगी बड़ी कार्रवाई, जांच पर भी उठे सवाल
 
'वेबदुनिया' ने पहले ही पूरे मामले में सतना पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाते हुए सिलसिलेवार बताया था कि पुलिस ने किन स्तरों पर जांच में लापरवाही बरती। वेबदुनिया ने पहले ही अपने पाठकों को बताया था कि इस मामले में अब लापरवाह पुलिसकर्मियों पर बड़ी कार्रवाई होगी, वहीं जल्द ही पूरे मामले में और पुलिसकर्मियों पर गाज गिर सकती है।
 
मास्टरमाइंड का बीजेपी कनेक्शन : सतना में 12 दिन पहले स्कूल से अगवा मासूम बच्चों प्रियांश और श्रेयांश की हत्या मामले में पुलिस ने जिन 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया, उनके पास से भारतीय जनता पार्टी का झंडा लगी गाड़ी और मोटरसाइकल बरामद हुई है। मुख्य आरोपी और घटना के मास्टरमाइड पद्मकांत शुक्ला का भाई भाजपा से जुड़ा है।
 
ALSO READ: सतना की घटना से गर्माई मप्र की सियासत, सामने आया मास्टरमाइंड का बीजेपी से कनेक्शन
 
मुख्य आरोपी के भी बीजेपी नेताओं के साथ कई फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। आरोपी पद्मकांत शुक्ला भी बजरंग दल से जुड़ा हुआ था। इसके बाद सूबे की सियासत गर्म हो गई है।

रीवा आईजी चंचल शेखर के मुताबिक पुलिस हर एंगल को ध्यान में रखकर जांच कर रही है। भाजपा ने पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हुए आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Pulwama Attack: सज्जाद भट की मारुति ईको कार में पहुंचा था पुलवामा अटैक की मौत का सामान