15 अगस्त पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण की संभावित झलक, 7 मुद्दों पर हो सकता है विशेष फोकस

विकास सिंह

मंगलवार, 13 अगस्त 2019 (19:59 IST)
भोपाल। 15 अगस्त को अपने दूसरे कार्यकाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब पहली बार जब लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करेंगे तो उनका भाषण कैसा होगा, पीएम किन बड़ी योजनाओं का ऐलान करेंगे, इस पर अब सबकी निगाहें लग गई हैं।
 
अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती ढाई महीनों में ही मोदी ट्रिपल तलाक पर कानून और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने का बड़ा फैसला ले चुके हैं। ऐसे में अब आने वाले 5 सालों में सरकार का रोडमैप क्या होगा, उसकी प्राथमिकता क्या होगी, इसकी पूरी रूपरेखा पीएम मोदी लाल किले से अपने भाषण में देश के सामने रख सकते हैं।
 
आम लोगों पर केंद्रित होगा भाषण-  नरेन्द्र मोदी 2.0 सरकार ने जिस प्रचंड बहुमत से सत्ता में वापसी की है, उसके बाद उस पर अपनी घोषणाओं और लोगों से किए गए वादों को पूरा करने की जिम्मेदारी बढ़ गई है। ऐसे में मोदी ने इस बार नई पहल करते हुए खुद लोगों से अपने 15 अगस्त के भाषण के लिए सुझाव मांगे हैं।
 
पीएम ने 19 जुलाई को ट्वीट कर 15 अगस्त के भाषण के लिए लोगों से सुझाव मांगते हुए कहा था कि आपके विचार लाल किले की प्राचीर से 130 करोड़ भारतवासी सुनेंगे। ऐसे में इस बात की संभावना है कि पीएम अपने भाषण में गरीब, किसान और मजदूरों को सशक्त बनाने और सामाजिक सुरक्षा को मजबूत करने का विजन देश के सामने रखेंगे।
 
किसानों को मिल सकती है बड़ी सौगात- मोदी सरकार के इस कार्यकाल में किसान पहली प्राथमिकता में है। ऐसे में पीएम मोदी अपने भाषण में किसानों को बड़ी सौगात देते हुए उनके लिए किसी बड़ी योजना का ऐलान कर सकते हैं।
 
संभावना जताई जा रही है कि पीएम किसानों को तोहफा देते हुए 'किसान पेंशन स्कीम' की घोषणा कर सकते हैं। इसके लिए कृषि विभाग ने पूरी तैयार कर ली है। मोदी सरकार 60 साल की उम्र पूरी कर चुके किसानों को 3,000 रुपए मासिक पेंशन देने का ऐलान कर सकती है। सरकार की इस योजना से 13 करोड़ किसानों को फायदा मिल सकता है।
 
टूरिज्म व जल संरक्षण के लिए बड़ा ऐलान संभव- प्रधानमंत्री अपने भाषण में टूरिज्म और जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए बड़ा ऐलान कर सकते हैं। संभावना जताई जा रही है कि प्रधानमंत्री देश में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए किसी बड़ी योजना की घोषणा कर सकते हैं।
 
इसके साथ ही जल संरक्षण भी इस कार्यकाल में मोदी सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है जिसका जिक्र भी प्रधानमंत्री के भाषण में हो सकता है। पीएम अपने भाषण में हर व्यक्ति को पीने का पानी मिल सके, इसके लिए कोई रोडमैप देश के सामने रख सकते हैं।
 
असंगठित कामगारों के लिए बड़ी घोषणा संभव- पीएम अपने भाषण में असंगठित सेक्टर में काम करने वाले लोगों के लिए कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं, इसके साथ ही मध्यम वर्ग के व्यापारियों के साथ ही ठेले वालों और मजदूरों के लिए किसी योजना का जिक्र पीएम के भाषण में संभव है।
 
5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का विजन- पीएम अपने भाषण में 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का विजन भी देश के सामने रख सकते हैं। ऐसे में जब आर्थिक मोर्चों पर सरकार कठिन हालातों से गुजर रही है, सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कौन से बड़े कदम उठाएगी? इसका जिक्र भी पीएम अपने भाषण में कर सकते हैं। इसके लिए युवाओं और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम किसी बड़ी योजना का भी ऐलान कर सकते हैं।
 
न्यू कश्मीर प्लान का भी जिक्र संभव- प्रधानमंत्री के भाषण में आने वाले समय में जम्मू-कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार का विजन और उसको देश के अन्य राज्यों के बराबर लाने के लिए विशेष पैकेज का ऐलान भी शामिल हो सकता है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री अपने भाषण में आतंकवाद के खिलाफ सख्त संदेश भी दे सकते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अनुच्छेद 370 के खात्मे ने खोले विकास के द्वार, जम्मू-कश्मीर में अक्टूबर में होगा इन्वेस्टर समिट