Man vs Wild : मोदी ने बियर ग्रिल्स से कही 10 खास बातें, जीत लिया सबका दिल

मंगलवार, 13 अगस्त 2019 (09:13 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ में बियर ग्रिल्स के साथ मिलकर नदी के ठंडे पानी में जुगाड़ से बनी नाव पर सवारी की और इस एडवेंचर के माध्यम से प्रकृति संरक्षण जैसे मुद्दों को आगे बढ़ाया। इस बातचीत में मोदी ने अपने अंदाज से एक बार फिर सबका दिल जीत लिया। मोदी ने डिस्कवरी चैनल के ‘मैन वर्सेस वाइल्ड विद बियर ग्रिल्स एंड प्राइम मिनिस्टर मोदी’ में बियर ग्रिल्स से कहीं 10 खास बातें...
 
- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोगों के सपने पूरे करने से उन्हें खुशी मिलती है और उनका पूरा ध्यान विकास पर है।
- मोदी ने एक सवाल के जवाब में कहा, 'मेरी दिक्कत यह है कि मैंने कभी ऐसा कोई डर महसूस ही नहीं किया है। मैं लोगों को यह समझाने में असमर्थ हूं कि नर्वस होना क्या है और इससे कैसे निपटें क्योंकि मेरी मूल प्रकृति बेहद सकारात्मक है। मुझे सभी चीजों में सकारात्मकता नजर आती है। और इसी वजह से मुझे कभी निराशा नहीं होती है।'
- मोदी ने ग्रिल्स से कहा, 'अगर मुझे आज की युवा पीढ़ी से कुछ कहना होगा तो मैं कहूंगा कि हमें अपने जीवन को टुकड़ों-टुकड़ों में बांट कर नहीं दखना चाहिए। जब हम अपने जीवन में समग्र में देखते हैं जो उसमें उतार चढ़ाव दोनों होता है। अगर आप उतार पर हैं तो उसके बारे में ज्यादा मत सोचिए, क्योंकि ऊपर चढ़ने का रास्ता वहीं से शुरू होता है। 
- मोदी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैं पहले एक राज्य का मुख्यमंत्री था। मैंने 13 साल बतौर मुख्यमंत्री काम किया है, जो मेरे लिए बिल्कुल नया रास्ता था। फिलहाल मेरे देश ने तय किया है कि मुझे यह काम करना है। इसलिए मैं इसे पिछले पांच साल से कर रहा हूं।
- मोदी ने कहा, ' मेरा ध्यान हमेशा एक ही चीज पर रहा है, वह है विकास। और मैं उस काम से संतुष्ट हूं। आज, अगर मैं इसे छुट्टी मान लूं, तो मुझे यह कहना पड़ेगा कि मैं 18 साल में पहली बार छुट्टी ले रहा हूं।'
- उन्होंने कहा कि मुझे यह कभी नहीं लगा कि मैं कौन हूं। मैं इससे ऊपर उठ चुका हूं और जब मैं मुख्यमंत्री था और अब जब मैं प्रधानमंत्री हूं, मैं सिर्फ अपने काम के बारे में और अपनी जिम्मेदारियों के बारे में सोचता हूं। मेरा पद कभी मेरे सिर पर चढ़कर नहीं बोलता है।
- बचपन को याद करते हुए मोदी ने कहा कि गरीबी के बावजूद उनका परिवार हमेशा प्रकृति से जुड़ा रहा। यह जुड़ाव ऐसा था कि पैसा नहीं होने के बावजूद उनके पिताजी 20-30 पोस्टकार्ड खरीदते और अपने गांव में होने वाली पहली बारिश की खबर सभी रिश्तेदारों को देते।
- इस साक्षात्कार के दौरान ग्रिल्स ने प्रधानमंत्री को जंगल में रहने वाले बाघों के बारे में चेताया तो मोदी ने कहा, 'ईश्वर सबका ख्याल रखते हैं।' 
- बेयर ग्रिल्स ने मोदी से प्रकृति को लेकर काफी बातें की। मोदी ने कहा कि आपको कभी भी प्रकृति से नहीं डरना चाहिए क्योंकि जब हमें लगता है कि प्रकृति के साथ हमारा सामंजस्य बिगड़ रहा है, समस्या वहीं से शुरू होती है।
- इस दौरान बेयर ग्रिल्स ने नीम का जिक्र किया और इसे पेट के लिए काफी लाभदायक बताया। इस पर मोदी ने कहा कि हमारे देश में हर पौधे को भगवान माना जाता है। हमारे यहां तुलसी विवाह की परंपरा है। तुलसी विवाह में भगवान के साथ तुलसी की शादी करते हैं।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मुस्लिमों ने हिंदू लड़की के शव को दिया कंधा, 'राम नाम सत्य है' भी बोला