Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

कोरोना के साथ डिप्रेशन बना चैलेंज: पापा ने लूडो में सात बार हराया तो बेटी को हो गई नफरत,अब चल रही काउंसलिंग

कोरोनाकाल मेंं टाइम पास के लिए घर में पापा के साथ खेलती थी लूडो

हमें फॉलो करें कोरोना के साथ डिप्रेशन बना चैलेंज: पापा ने लूडो में सात बार हराया तो बेटी को हो गई नफरत,अब चल रही काउंसलिंग
webdunia

विकास सिंह

, रविवार, 27 सितम्बर 2020 (11:55 IST)
भोपाल। देश में एक और कोरोना महामारी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है तो दूसरी ओर कोरोनाकाल में हमारा समाज किस कदर डिप्रेशन में पहुंच गया है इसकी बानगी राजधानी भोपाल के फैमिली कोर्ट में पहुंचे एक मामले की तह तक जाने पर पता चलती है।
 
भोपाल के फैमिली कोर्ट में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने कोरोनाकाल में लोगों को बिगड़ती मनोस्थिति की लेकर सोचने पर मजबूर कर दिया है। फैमिली कोर्ट में आए इस मामले को सुनकर खुद काउंसलर भी हैरान हैं।

भोपाल की रहने वाली 24 वर्षीय युवती जो कॉलेज में पढ़ाई कर रही है उसे लगता था कि उसके पिता उससे बहुत प्यार करते हैं, लेकिन जब पिता ने लूडो में गोटी मारी तो बेटी को पिता से ही नफरत हो गई। अब बेटी खुद अपनी काउंसलिंग कराने काउंसलर के पास पहुंची है। 
 
फैमिली कोर्ट की काउंसलर सरिता राजानी बताती है कि लॉकडाउन में बच्चे मोबाइल फोन के साथ ही क्रिकेट, फुटबॉल, या कैरम, चेस और लूडो जैसे गेम खेलकर समय व्यतीत कर रहे हैं, जिससे कहीं रिश्ते मजबूत हो रहे हैं तो कहीं इसका उल्टा असर भी देखने को मिल रहा है। ये भी ऐसा ही मामला है, उन्होंने बताया कि युवती की काउंसलिंग चल रही है. उन्होंने इसे गंभीरता से ले लिया है।
 
काउंसलिंग कराने पहुंची युवती का कहना है कि उसके पिता उससे बहुत प्यार करते हैं, लेकिन अगर वो प्यार करते हैं तो उन्होंने मेरी गोटी क्यों मारी। युवती का कहना है कि पापा मेरे लिए गेम हार भी सकते थे, लेकिन उन्होंने मुझे हराया। पापा ने एक बार नही सात बार मेरी गोटी मारी और जब-जब उन्होंने गोटी मारी तब तब मेरी नफरत बढ़ती गई।
 
अब बेटी इस बात से भी परेशान है कि उसको अपने पापा से नफरत क्यों हुई और इसी बात की कॉउंसलिंग के लिए वो काउंसलर के पास आई. मामले की कॉउंसलिंग जारी है।
 
युवती की मां नही है वो अपने पिता और दो  भाई बहन के साथ रहती है। लॉकडाउन में जब स्कूल कॉलेज बंद हुए तो लड़की के पिता भी वर्क फ्रॉम होम कर रहे थे और पिता के साथ लॉकडाउन में युवती अपने परिवार के साथ समय व्यतीत कर रही थी। लॉकडाउन में टाइम पास करने के लिए जब युवती ने पिता को लूडो गेम खेलने के लिए कहा तो पिता ने अपने बच्चों के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिए लूडो गेम खेलना शुरू कर दिया. लेकिन क्या पता था कि एक गेम पिता ओर बेटी के रिश्ते में दरार पैदा कर देगा।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मन की बात में पीएम मोदी बोले, किसान आत्मनिर्भर भारत का आधार