छिंदवाड़ा में लगे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, नकुलनाथ के लापता होने वाले पोस्टर, 21 हजार का इनाम!

विकास सिंह

मंगलवार, 19 मई 2020 (13:55 IST)
भोपाल। कोरोना संकट काल में मध्यप्रदेश में सियासी पोस्टर वार शुरु हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गृह जिले छिंदवाड़ा में लगे एक पोस्टर ने सियासी पारा चढ़ा दिया है। पोस्टर में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुलनाथ को लापता बताया गया है।

गुमशुदा की तलाश टाइटल से लगाए गए पोस्टर में कमलनाथ और नकुलनाथ को लापता बताते हुए लिखा है कि छिंदवाड़ा के लापता विधायक एवं सांसद को इस संकट काल में छिंदवाड़ा की जनता ढूंढ रही है। जो इन्हें छिंदवाड़ा लेकर आएगा उसके 21 हजार का नगद ईनाम दिया जाएगा। इसके साथ पोस्टर नीचे चिट्ठी न कोई संदेश जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए। 
 
पोस्टर किसने और किसकी ओर से लगाया गया है यह साफ नहीं है लेकिन पोस्टर में  समस्त मतदाता छिंदवाड़ा विधानसभा लिखा है। इस पोस्टर को लेकर अब प्रदेश की राजनीति भी गर्मा गई है। भाजपा नेता पंकज चतुर्वेदी ने पूरे मामले को लेकर तंज कसते हुए  कहा कि कमलनाथ जी और नकुलनाथ लोगों को कोरोना में ज्ञान तो बहुत दे रहे हैं,पर धरातल पर खुद कितना का कर रहे हैं इसका उतर दें।

समस्या यह हैं कि कमलनाथ जी कांग्रेस में मची अंदरूनी लड़ाई लड़ने में व्यस्त हैं, इसलिए छिंदवाड़ा की चिंता नहीं है, वैसे भी अभी चुनाव होने में बहुत समय है जब चुनाव आएगा तो छिंदवाड़ा पहुंच जाएंगे। 
 
वहीं इस पूरे मामले पर कांग्रेस छिंदवाड़ा से लेकर भोपाल तक बिफर गई है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांसद नकुलनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्टर लगाए जाने को लेकर छिंदवाड़ा के कांग्रेस नेताओं ने कोतवाली पहुंच कर शिकायत दर्ज करवाई है।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने इस पूरे मामले को भाजपा से जोड़ते हुए कहा कि जो भाजपाई कमलनाथ जी और नकुलनाथ जी को छिंदवाड़ा में लापता बता रहे है वो यह बता दें कि इस महामारी में शिवराज जी बुधनी कितनी बार गए। कितने भाजपा के केंद्रीय मंत्री अपने इलाकों में गए। अभी लॉकडाउन चल रहा है सभी नियमों का पालन कर रहे है अफने क्षेत्रों की जनता से संपर्क में है।    
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख केंद्र ने राज्यों से प्रवासी मजदूरों को लाने-ले जाने के लिए और विशेष ट्रेनें चलाने को कहा