राहुल की कमलनाथ कैबिनेट को मंजूरी, इन नामों को मिली मंजूरी...

विशेष प्रतिनिधि

रविवार, 23 दिसंबर 2018 (10:20 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के कैबिनेट के मंत्रियों को नाम फाइनल हो गए हैं। दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कैबिनेट के लिए नामों पर अंतिम मुहर लगा दी है। इसके साथ ही राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को कैबिनेट के बारे में अंतिम फैसला लेने का अधिकार दे दिया है।
 
नामों पर अंतिम मुहर लगने के बाद कमलनाथ के कैबिनेट के मंत्री 25 दिसंबर को दोपहर 3 बजे राजभवन में शपथ लेंगे। राजभवन में होने वाले शपथ ग्रहण की तैयारियां पूरी कर ली गई है। संभावना है कि 20 से 22 विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे।
 
इससे पहले दिल्ली में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मंत्रियों के नामों को लेकर मुलाकात की। राहुल ने मंत्रियों के नामों पर अंतिम मुहर लगाते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार के कामकाज को लेकर बात की।
 
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राहुल गांधी से मुलाकात से पहले कांग्रेस महासिचव दिग्विजय सिंह और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी मुलाकात कर कैबिनेट में शामिल होने वाले मंत्रियों के नाम फाइनल किए। कमलनाथ अपने कैबिनेट गठन में क्षेत्रीय संतुलन और जातीय सुंतलन को देखते हुए मंत्रियों के नाम शामिल कर रहे हैं। वहीं कैबिनेट में शामिल होने वाले मंत्रियों में कांग्रेस के अंदर के विभिन्न गुटों के विधायकों के नाम शामिल है।
 
राहुल ने इन नामों पर लगाई मुहर - दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जिन नामों पर अंतिम मुहर लगाई है। उनमें मालवा से निमाड़ से छह, मध्य से चार, महाकौशल से पांच, बुंदेलखंड से दो, ग्वालियर चंबल से तीन, विंध्य से दो विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है। राहुल गांधी ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर इन विधायकों के नाम पर मुहर लगाई है....                                           
 
मालवा निमाड़ - बाला बच्चन, सज्जन सिंह वर्मा, तुलसी सिलावट, जीतू पटवारी, हुकुम सिंह कराड़ा, सचिन यादव
महाकौशल - लखन घनघोरिया, तरूण भनोट, दीपक सक्सेना, ओमकार सिंह मरकाम, एनपी प्रजापति
विंध्य - कमलेश्वर पटेल,  बिसाहूलाल सिंह
ग्वालियर- चंबल - केपी सिंह, इमरती देवी, डॉक्टर गोविंद सिंह
मध्य - पीसी शर्मा, आरिफ अकील, प्रभुराम चौधरी, जयवर्धन सिंह
बुदेंलखंड - बृजेंद सिंह राठौर,गोविंद सिंह राजपूत

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख कैसे आती है सुनामी, क्यों माना जाता है इसे सबसे खतरनाक आपदा...