मध्यप्रदेश में मालवा की सीटों के नतीजों ने वेबदुनिया की खबर पर लगाई मोहर

विशेष प्रतिनिधि

गुरुवार, 13 दिसंबर 2018 (14:34 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में इस बार कांग्रेस की सरकार बनाने में मालवा ने फिर बड़ी भूमिका निभाई है। कहा भी जाता है कि जिस पार्टी ने मालवा की 66 सीटों पर अच्छा प्रदर्शन किया, सूबे में उसी पार्टी की सरकार बनती है। 
 
वेबदुनिया ने वोटिंग के बाद इन सीटों पर एक विश्लेषण रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिसमें 66 सीटों में से कई सीटों पर कांग्रेस का पलड़ा भारी बताया था।
 
इस संदर्भ में वेबदुनिया द्वारा मालवा-निमाड़ के विधानसभा क्षेत्र में किए गए सर्वे के द्वारा निकले अनुमान लगभग सही साबित हुए।
 
यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं पूरा विश्लेषण
 
इस बार चुनाव में कांग्रेस ने मालवा की कुल 66 सीटों में से आधे से एक अधिक यानी 34 सीटों पर अकेले जीत दर्ज की, वहीं 3 सीटों पर उसके बागी नेताओं ने परचम लहराया, जो चुनाव नतीजों के बाद अब कांग्रेस के साथ हैं यानी कांग्रेस को अपना समर्थन दे दिया है।
 
वेबदुनिया ने भी वोटिंग के बाद अपने चुनावी विश्लेषण में मालवा में कांग्रेस के अच्छा प्रदर्शन करने का अनुमान जताया था। मालवा की सीटों का जिलेवार जो विश्लेषण वेबदुनिया ने किया था, उस पर चुनावी नतीजों ने मोहर लगा दी।
 
हमने अपने पाठकों को सबसे पहले मालवा के प्रत्येक जिले की हर विधानसभा सीट का विश्लेषण कर संभावित विजयी उम्मीदवार का नाम बताया था, जो कि नतीजे आने के बाद सटीक बैठा। 
 
इंदौर जिले में इस बार कांग्रेस की सीट बढ़ने और पांच नतीजे बीजेपी के पक्ष में आने और चार नतीजे कांग्रेस के साथ होने का जो अनुमान जताया था, वह एकदम सटीक बैठा। उज्जैन जिले की 7 विधानसभा सीटों में से 5  सीटों पर चुनाव नतीजे वेबदुनिया की खबर पर मोहर लगाते हैं।
 
ठीक इसी तरह रतलाम की 5 में से 4, शाजापुर, शुजालपुर, कालापीपल, आगर, सुसनेर, खंडवा, हरसूद, मांधाता, जावद, पेटलावद, बदनावर, धरमपुरी, गंधवानी, सरदारपुर सहित अधिकांश सीटों पर वेबदुनिया के अनुमान पर चुनावी नतीजों ने मोहर लगाई है। मालवा की कई सीटों पर भाजपा का प्रदर्शन गिरा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख नवजोत सिंह सिद्धू ने तीन राज्यों में कांग्रेस को मिली जीत का श्रेय राहुल गांधी को दिया