मध्यप्रदेश 1397 गुना बढ़ गई विधायक की संपत्ति, जानिए 10 करोड़पति विधायकों का बारे में

विशेष प्रतिनिधि

सोमवार, 26 नवंबर 2018 (13:00 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में पांच साल में विधायकों की संपत्ति में बेहतहाशा बढ़ोतरी हुई। वोटिंग से पहले एडीआर की रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। सूबे में सबसे अधिक संपत्ति बीजेपी विधायकों की बढ़ी है। सिरमौर से बीजेपी विधायक दिव्यराज की संपत्ति में चौंकाने वाली बढ़ोतरी होते हुए पिछले पांच सालों में 1397 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। वहीं कई विधायकों की संपत्ति में 100 से 600 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। 
 
संजय पाठक : शिवराज सरकार में मंत्री संजय पाठक कटनी के विजयराघवगढ़ से फिर चुनावी मैदान में हैं। 2013 में कांग्रेस के टिकट जब संजय पाठक चुनाव लड़े थे तब इनकी संपति 121 करोड़ रुपए थी। पिछले पांच सालों में संजय पाठक की संपति में 86 फीसदी की बढ़ोतरी हुई जो अब 226 करोड़ रुपए हो गई है यानी पांच सालों में 105 करोड़ का इजाफा।
 
संजय शर्मा : चुनाव से ठीक पहले भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए तेंदूखेड़ा से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी संजय शर्मा की संपत्ति पिछले पांच सालों में दोगुनी हो गई। पांच साल पहले 65 करोड़ संपत्ति के मालिक संजय शर्मा अब 130 करोड़ संपत्ति के मलिक हैं।
 
दिव्यराजसिंह : सिरमौर से भाजपा विधायक दिव्यराज सिंह की संपत्ति में विधायक बनते ही आश्चर्यजनक रूप से इजाफा हुआ। 2013 के चुनाव में मात्र 4 करोड़ संपत्ति के मालिक दिव्यराज की संपत्ति पांच सालों में करीब 1397 गुना बढ़कर अब 62 करोड़ हो गई है। यानी पांच सालों में उनकी संपत्ति में 58 करोड़ का इजाफा हुआ है।
 
सुदेश राय : 2013 में निर्दलीय विधायक चुने गए सुदेश राय इस बार फिर सीहोर से भाजपा के टिकट पर चुनावी मैदान में है। पांच साल भले ही सुदेश राय निर्दलीय विधायक रहे हो, लेकिन इनकी संपत्ति में साढ़े पांच सौ गुना से अधिक की बढ़ोतरी हुई। 3013 में 10 करोड़ की संपत्ति के मालिक सुदेश राय अब 67 करोड़ संपत्ति के मालिक हैं यानी पांच सालों में विधायक जी की संपत्ति 564 गुना बढ़ी है।
 
बलवीरसिंह दंडोतिया : दिमनी से बसपा विधायक बलवीरसिंह दंडोतिया की संपत्ति जो पिछले चुनाव में 11 करोड़ थी अब 28 करोड़ हो गई है। यानी पांच साल में विधायक की संपत्ति में 141 फीसदी की बढ़ोतरी हुई हुई है।
 
जयंत मलैया : शिवराज सरकार में वित्तमंत्री जयंत मलैया भले ही प्रदेश की आर्थिक हालत न सुधार पाए हों लेकिन मंत्रीजी की संपत्ति पिछले पांच सालों में दोगुनी से भी अधिक हो गई है। 2013 के विधानसभा चुनाव के समय 13 करोड़ संपत्ति के मालिक जयंत मलैया अब 29 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। पांच साल में उनकी संपत्ति 118 फीसदी बढ़ी है।
 
मोहन यादव : उज्जैन उत्तर से बीजेपी विधायक मोहन यादव जो 2013 में सोलह करोड़ की संपत्ति के मालिक थे, अब 31 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं।
 
केपी सिंह : पिछौर से कांग्रेस विधायक केपी सिंह की संपत्ति में भी बढ़ोतरी हुई है। वर्तमान में वे 73 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं।
 
अजय सिंह : नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह की संपत्ति में भी खूब इजाफा हुआ। चुरहट से चुनाव लड़ रहे अजयसिंह की संपत्ति अब 37 करोड़ हो गई है।
 
रामलाल रौतेल : अनूपपुर से भाजपा विधायक रामलाल रौतेल की संपत्ति में भी खूब इजाफा अब 14 करोड़ हो गई है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख फिर घटे पेट्रोल-डीजल के दाम, नवंबर में 5 रुपए हुआ सस्ता