Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Surgical Strike 2 : भारतीय वायुसेना के हमले से खुदा भी खुश हुआ...

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
मंगलवार, 26 फ़रवरी 2019 (23:48 IST)
इस्लामाबाद। भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 के जांबाज़ पायलटों ने मंगलवार तड़के साढ़े तीन बजे उड़ान भरकर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बालाकोट, चकोटी और मुजफ्फराबाद के आतंकी ठिकानों को जमींदोज करके 350 आतंकियों को नींद में ही मौत की नींद सुलाने का जो कारनामा किया, उससे खुदा भी खुश हो गया। खुदा ने खुश होकर पूरे इलाके में ऐसी जमकर बारिश की कि वह रात तक थमी नहीं...
 
खूंखार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का मु्ख्य ट्रेनिंग कैंप बालाकोट में स्थित है, जो इस्लामाबाद से 160 किलोमीटर दूर है। इस्लामाबाद में ही पाकिस्तान एयरफोर्स का मुख्यालय है लेकिन उसे जरा भी भनक नहीं लगी कि भारत से आए 12 मिराज-2000 जैश के मुख्यालय में तबाही मचाकर सुरक्षित लौट जाएंगे। 
 
भारतीय वायुसेना ने तड़के साढ़े तीन बजे Surgical Strike 2 के अभियान को अंजाम दिया। पाकिस्तान की वायुसेना को भटकाने के लिए भारत के अलग अलग बेस से 10 से 14 टोही विमान पाकिस्तान की सीमा के आसपास मंडराते रहे। जब आगे का रास्ता क्लीयर मिला, तब ग्वालियर एयर बेस से इस मिशन को पूरा करने के लिए 6-6 के दो हिस्सों 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने उड़ान भरी और 21 मिनट तक पाकिस्तान में रहकर बालाकोट में जैश के मुख्यालय में नींद में सोए 25 टॉप कमांडर समेत 350 आतंकियों मौत के घाट उतार दिया। भारतीय लड़ाकू विमानों ने आसमान से जो कहर बरपाया, उससे पूरा पाकिस्तान थर्रा उठा।
 
भारतीय वायुसेना के इस शौर्य पर खुदा भी खुश हो गया और उसने अपनी खुशी का इजहार बारिश की झड़ी लगाकर किया। 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमान अपना मकसद पूरा करके जा चुके थे और पौ भी नहीं फटी थी। जैसे ही पौ फटी वैसे ही आसमान में काले बादल छा गए और तेज बरसात शुरू हो गई। बारिश की ऐसी झड़ी लगी कि मंगलवार रात 10 बजे बाद तक जारी रही।
 
खराब मौसम के कारण पाकिस्तान की वायुसेना को यह मोहलत भी नहीं मिली कि वह जैश-ए-मोहम्मद का मु्ख्य ट्रेनिंग कैंप बालाकोट के अलावा चकोटी और मुजफ्फराबाद में हुई तबाही के मंजर को अपनी आंखों से जाकर देख सके। हालांकि यहां तक पहुंचने का सड़क मार्ग भी है, लेकिन किसी ने भी वहां तक जाकर बरबादी के आलम को देखने का साहस नहीं किया।
 
पाकिस्तानी सेना और वायुसेना समझ ही नहीं पा रही है कि कैसे भारत की सीमा लांघकर 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमान 80 किलोमीटर तक आ गए और अपने ही घर में घुसकर हमला करके लौट गए। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री परवेज का यह बयान भी चौंकाने वाला है कि हम अंधेरा होने के कारण कुछ देख नहीं सके... इस एयर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान को भी यह समझ में आ गया हो गया कि भारत को छेड़ा तो वह छोड़ेगा नहीं...
(वेबदुनिया न्यूज)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
मिशन मोदी अगेन के लिए बीजेपी का कमल ज्योति संकल्प अभियान शुरू